सदस्य वार्ता:Karsan Chanda

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
स्वागत! Crystal Clear app ksmiletris.png नमस्कार Karsan Chanda जी! आपका हिन्दी विकिपीडिया में स्वागत है।

-- नया सदस्य सन्देश (वार्ता) 13:28, 12 दिसम्बर 2020 (UTC)[उत्तर दें]

मीणा समाज पार्टी पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ मीणा समाज पार्टी को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड व1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

व1 • अर्थहीन नाम अथवा सम्पूर्णतया अर्थहीन सामग्री वाले पृष्ठ

इसमें वे पृष्ठ आते हैं जिनका नाम अर्थहीन है, उदाहरण:"स्द्ग्फ्द्ग"; अथवा जिनमें सामग्री अर्थहीन है, चाहे उसका नाम अर्थहीन न हो, उदाहरण:लेख जिसमें सामग्री है:"ध्ब्द्फ्ह्फ़"

यदि आपने यह पृष्ठ परीक्षण के लिये बनाया था तो उसके लिये प्रयोगस्थल का उपयोग करें। यदि आप विकिपीडिया पर हिन्दी टाइप करना सीखना चाहते हैं तो देवनागरी में कैसे टाइप करें पृष्ठ देखें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

यदि यह पृष्ठ हटा दिया गया है, तो आप चौपाल पर इस पृष्ठ को अपने सदस्य उप-पृष्ठ में डलवाने, अथवा इसकी सामग्री ई-मेल द्वारा प्राप्त करने हेतु अनुरोध कर सकते हैं। सादर, जॉनी (वार्ता) 09:08, 17 अगस्त 2021 (UTC)[उत्तर दें]

मीणा जनजाति के लोग बड़े मेहनती, निष्ठावान् व दबंग व्यक्तित्व के धनी रहे हैं। इन्होंने राज्य के भागों पर शासन किया है। लेकिन कालांतर में मीणों का शासन समाप्त हो जाने के कारण ये अपनी आजीविका कमाने के लिए चोरी और लूटपाट करने लगे। सन् १९२४ के क्रिमिनल ट्राइब्स एक्ट तथा राज्य के जरायम पेशा कानून, १९३० के तहत इन्हें जरायम पेशा मानकर सभी स्त्री-पुरुषों को रोजाना थाने पर उपस्थिति देने के लिए पाबंद किया। मीणा समाज ने इसका तीव्र विरोध किया तथा अपने मानवोचित अस्तित्व के लिए मीणा जनजाति सुधार कमेटी एवं १९३३ में मीणा क्षत्रिय महासभा का गठन किया। जयपुर क्षेत्र के जैन संत मगनसागर की अध्यक्षता में अप्रैल १९४४ में मीणों का एक वृहद् अधिवेशन नीम का थाना में हुआ, जहाँ पंडित् बंशीधर शर्मा की अध्यक्षता में राज्य मीणा सुधार समिति का गठन किया गया। इस समिति ने १९४५ में जरायम पेशा व अन्य कानून वापस लेने की माँग करते हुए समिति के संयुक्त मंत्री श्री लक्ष्मीनारायण झरवाल के नेतृत्व में आंदोलन चलाया। जुलाई, १९४६ में सरकार ने स्त्रियों व बच्चों को पुलिस थाने में उपस्थिति देने से मुक्त कर दिया। बाद में कभी भी अपराध नहीं करने वाले मीणों को जरायम पेशा कानून के तहत रजिस्टर में नाम दर्ज करवाने में सरकार ने छूट दी। २८ अक्टूबर, १९४६ को एक विशाल सम्मेलन बागावास में आयोजित कर चौकीदार मीणों ने स्वेच्छा से चौकीदारी के काम से इस्तीफा दिया तथा इस दिन को मुक्ति दिवस के रूप में मनाया। मीणों द्वारा लगातार प्रयास करने पर सन् १९५२ में कहीं जाकर यह जरायम पेशा संबंधी काला कानून रद्द हुआ। Karsan Chanda (वार्ता) 10:44, 17 अगस्त 2021 (UTC)[उत्तर दें]

मीणा आन्दोलन पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ मीणा आन्दोलन को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड व1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

व1 • अर्थहीन नाम अथवा सम्पूर्णतया अर्थहीन सामग्री वाले पृष्ठ

इसमें वे पृष्ठ आते हैं जिनका नाम अर्थहीन है, उदाहरण:"स्द्ग्फ्द्ग"; अथवा जिनमें सामग्री अर्थहीन है, चाहे उसका नाम अर्थहीन न हो, उदाहरण:लेख जिसमें सामग्री है:"ध्ब्द्फ्ह्फ़"

यदि आपने यह पृष्ठ परीक्षण के लिये बनाया था तो उसके लिये प्रयोगस्थल का उपयोग करें। यदि आप विकिपीडिया पर हिन्दी टाइप करना सीखना चाहते हैं तो देवनागरी में कैसे टाइप करें पृष्ठ देखें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

यदि यह पृष्ठ हटा दिया गया है, तो आप चौपाल पर इस पृष्ठ को अपने सदस्य उप-पृष्ठ में डलवाने, अथवा इसकी सामग्री ई-मेल द्वारा प्राप्त करने हेतु अनुरोध कर सकते हैं। सादर, जॉनी (वार्ता) 09:19, 17 अगस्त 2021 (UTC)[उत्तर दें]

मीणा जनजाति के लोग बड़े मेहनती, निष्ठावान् व दबंग व्यक्तित्व के धनी रहे हैं। इन्होंने राज्य के भागों पर शासन किया है। लेकिन कालांतर में मीणों का शासन समाप्त हो जाने के कारण ये अपनी आजीविका कमाने के लिए चोरी और लूटपाट करने लगे। सन् १९२४ के क्रिमिनल ट्राइब्स एक्ट तथा राज्य के जरायम पेशा कानून, १९३० के तहत इन्हें जरायम पेशा मानकर सभी स्त्री-पुरुषों को रोजाना थाने पर उपस्थिति देने के लिए पाबंद किया। मीणा समाज ने इसका तीव्र विरोध किया तथा अपने मानवोचित अस्तित्व के लिए मीणा जनजाति सुधार कमेटी एवं १९३३ में मीणा क्षत्रिय महासभा का गठन किया। जयपुर क्षेत्र के जैन संत मगनसागर की अध्यक्षता में अप्रैल १९४४ में मीणों का एक वृहद् अधिवेशन नीम का थाना में हुआ, जहाँ पंडित् बंशीधर शर्मा की अध्यक्षता में राज्य मीणा सुधार समिति का गठन किया गया। इस समिति ने १९४५ में जरायम पेशा व अन्य कानून वापस लेने की माँग करते हुए समिति के संयुक्त मंत्री श्री लक्ष्मीनारायण झरवाल के नेतृत्व में आंदोलन चलाया। जुलाई, १९४६ में सरकार ने स्त्रियों व बच्चों को पुलिस थाने में उपस्थिति देने से मुक्त कर दिया। बाद में कभी भी अपराध नहीं करने वाले मीणों को जरायम पेशा कानून के तहत रजिस्टर में नाम दर्ज करवाने में सरकार ने छूट दी। २८ अक्टूबर, १९४६ को एक विशाल सम्मेलन बागावास में आयोजित कर चौकीदार मीणों ने स्वेच्छा से चौकीदारी के काम से इस्तीफा दिया तथा इस दिन को मुक्ति दिवस के रूप में मनाया। मीणों द्वारा लगातार प्रयास करने पर सन् १९५२ में कहीं जाकर यह जरायम पेशा संबंधी काला कानून रद्द हुआ। Karsan Chanda (वार्ता) 10:43, 17 अगस्त 2021 (UTC)[उत्तर दें]

मीणा आन्दोलन पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ मीणा आन्दोलन को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड व2 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

व2 • परीक्षण पृष्ठ

इसमें वे पृष्ठ आते हैं जिन्हें परीक्षण के लिये बनाया गया है। यदि आपने यह पृष्ठ परीक्षण के लिये बनाया था तो उसके लिये प्रयोगस्थल का उपयोग करें। यदि आप विकिपीडिया पर हिन्दी टाइप करना सीखना चाहते हैं तो देवनागरी में कैसे टाइप करें पृष्ठ देखें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

--माला चौबेवार्ता 10:21, 17 अगस्त 2021 (UTC)[उत्तर दें]

मीणा जनजाति के लोग बड़े मेहनती, निष्ठावान् व दबंग व्यक्तित्व के धनी रहे हैं। इन्होंने राज्य के भागों पर शासन किया है। लेकिन कालांतर में मीणों का शासन समाप्त हो जाने के कारण ये अपनी आजीविका कमाने के लिए चोरी और लूटपाट करने लगे। सन् १९२४ के क्रिमिनल ट्राइब्स एक्ट तथा राज्य के जरायम पेशा कानून, १९३० के तहत इन्हें जरायम पेशा मानकर सभी स्त्री-पुरुषों को रोजाना थाने पर उपस्थिति देने के लिए पाबंद किया। मीणा समाज ने इसका तीव्र विरोध किया तथा अपने मानवोचित अस्तित्व के लिए मीणा जनजाति सुधार कमेटी एवं १९३३ में मीणा क्षत्रिय महासभा का गठन किया। जयपुर क्षेत्र के जैन संत मगनसागर की अध्यक्षता में अप्रैल १९४४ में मीणों का एक वृहद् अधिवेशन नीम का थाना में हुआ, जहाँ पंडित् बंशीधर शर्मा की अध्यक्षता में राज्य मीणा सुधार समिति का गठन किया गया। इस समिति ने १९४५ में जरायम पेशा व अन्य कानून वापस लेने की माँग करते हुए समिति के संयुक्त मंत्री श्री लक्ष्मीनारायण झरवाल के नेतृत्व में आंदोलन चलाया। जुलाई, १९४६ में सरकार ने स्त्रियों व बच्चों को पुलिस थाने में उपस्थिति देने से मुक्त कर दिया। बाद में कभी भी अपराध नहीं करने वाले मीणों को जरायम पेशा कानून के तहत रजिस्टर में नाम दर्ज करवाने में सरकार ने छूट दी। २८ अक्टूबर, १९४६ को एक विशाल सम्मेलन बागावास में आयोजित कर चौकीदार मीणों ने स्वेच्छा से चौकीदारी के काम से इस्तीफा दिया तथा इस दिन को मुक्ति दिवस के रूप में मनाया। मीणों द्वारा लगातार प्रयास करने पर सन् १९५२ में कहीं जाकर यह जरायम पेशा संबंधी काला कानून रद्द हुआ। Karsan Chanda (वार्ता) 10:45, 17 अगस्त 2021 (UTC)[उत्तर दें]

जरायम पेशा पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ जरायम पेशा को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड व2 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

व2 • परीक्षण पृष्ठ

इसमें वे पृष्ठ आते हैं जिन्हें परीक्षण के लिये बनाया गया है। यदि आपने यह पृष्ठ परीक्षण के लिये बनाया था तो उसके लिये प्रयोगस्थल का उपयोग करें। यदि आप विकिपीडिया पर हिन्दी टाइप करना सीखना चाहते हैं तो देवनागरी में कैसे टाइप करें पृष्ठ देखें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

☆★संजीव कुमार (✉✉) 19:56, 17 अगस्त 2021 (UTC)[उत्तर दें]

खोहगंग पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, खोहगंग को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/खोहगंग पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

किरोड़ी लाल मीणा के ध्वजारोहण के अतिरिक्त और कोई साक्ष्य अथवा जानकारी उपलब्ध नहीं है। अतः स्थान को उल्लेखनीय नहीं माना जा सकता।

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।☆★संजीव कुमार (✉✉) 04:52, 19 अगस्त 2021 (UTC)[उत्तर दें]

मैं, चाँदा राजवंश से ही हूँ। दूसरों के कहने पर यह सब साक्ष्य उपलब्ध नहीं कर रहा हूँ। हमारी लड़ाई सिर्फ और सिर्फ ठाकुरों से रहीं हैं। खोहगंग में हमारे पूर्वजों ने राज किया है। इसे कोई ठुकरा नहीं सकता है, या झुठला नहीं सकता है। इसमें कोई शक की गुंजाइश नहीं हैं। रही बात प्रमाण की तो हमारे जागा द्वारा जानकारी ले सकते हो। Karsan Chanda (वार्ता) 05:39, 19 अगस्त 2021 (UTC)[उत्तर दें]

आलन सिंह पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ आलन सिंह को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड व2 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

व2 • परीक्षण पृष्ठ

इसमें वे पृष्ठ आते हैं जिन्हें परीक्षण के लिये बनाया गया है। यदि आपने यह पृष्ठ परीक्षण के लिये बनाया था तो उसके लिये प्रयोगस्थल का उपयोग करें। यदि आप विकिपीडिया पर हिन्दी टाइप करना सीखना चाहते हैं तो देवनागरी में कैसे टाइप करें पृष्ठ देखें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

☆★संजीव कुमार (✉✉) 12:35, 29 अगस्त 2021 (UTC)[उत्तर दें]

कर्नल जेम्स टॉड ने अपनी किताब ऐनल्स अॉफ ऐम्बर में लिखा है।

ANNALS OF AMBER. 587 he said her necessities would be relieved. Taking up the basket, she reached the town, which is encircled by hills, and accosting a female, who happened to be a slave of the Meena chieftain, beRged any menial employ- ment for food. By direction of the Meena Rani, she was entertained with the slaves. One day she was ordered to prepare dinner, of which Ralunsi, the Meena Raja, partook, and found it so superior to his usual fare, that he sent for the cook, who related her story. Meena chief discovered the rank of the illustrious fugitive, he adopted her as bis sister, ani Dhola Rae as his nephew. When the boy had attained the age of Rajpoot manhood (fourteen), he was sent to Delhi,* with the tribute of Khogong, to attend instead of the Meena. young Cuchwaha remained there five years, when he conceived the idea of usurping his benefactor's authority. Having consulted the Meena dhadi,f or bard, as to the best means of executing his plan, he recom- mended him to take advantage of the festival of the Dewali, when it is customary to perfor m the ablutions en masse, in a tank . Having brought a few of his Rajpoot brethren from Delhi, he accomplished his object, filling the reservoirs in which the Meenas bathed with their dead bodies. The treacherous bard did not escape; Dhola Rae put him to death with his own hand, observing, "he who had proved unfait hful to one master, could not be trusted by another." Khogong. Soon after, he repaired to Deosah,t a castle and district ruled by an independent chief of the Birgoojur tribe of Rajpoots, whose daughter he demanded in marriage. "How can this be," said the Birgoojur, "when we are both Suryavansi, and one hundred generations have not yet separated us ?'" But being convinced that the necessary number of des- cents lhad intervened, the nuptials took place, and as the Birgoojur had no male issue, he resigned his power to his son-in-law. With the additional means thus at his disposal, IDhola determined to subjugate the Seroh tribe of Meenas, whose chief, Rao Natto, dwelt at Mauch. Again he was vic. torious, and deeming his new conquest better adapted for a residence than Khogong, he transferred his infant government thither, changing the same of Mauch, in honour of his great ancestor to Ramgurh. Dhola subsequently married the daughter of the prince of Ajmer, whose name was Maroni. Returning on one occasion with her from visiting the shrine of Jumwahi Mata, the whole force of the Meenas of that region assembled, to the number of eleven thousand, to oppose his passage through their country. Dhola gave them battle: but after slays ing vast nunmbers of his foes, he was himself killed, and bis followers fled- Maroni escaped, and bore a posthumous child, who was named Kankul. As soon as the The He then took possession of • The Tuar tribe were then supreme lords of India. † Dhadi, dholi, dhom, Faega, are all terms for the bards or minis trels of the Meena, tribes. I Deosah (wrlten Dewnsah), on the Bangunga river about thirty miles cast of Jeypur. $ The Birgoojur tribe claims descent from Lava or Lao, the, elder son of Rama. As they trace fifty-six descents from Rama to Vicrama, and thirty-three from Raja Nala to Dnola Rae, we have only to calculate the number of generations between Vicrama and Nal, to ascertain whether Dhola's genealogist went on good grounds. t was in S. 351 that Raja Nal erected Nurwar, which, at twenty-two years to a reign, gives.sixteen to be added to fifty-six, and this added to' thirty-tHtee, is equal to one hundred and five generations from Rama to Dhola Rae. Karsan Chanda (वार्ता) 04:13, 2 सितंबर 2021 (UTC)[उत्तर दें]

फिर भी आपने इसे प्रचारित या भ्रामक पाया है। शायद आपको समझने में भूल हुई है। आलन सिंह को मीणा ही नहीं बल्कि राजपूत भी अच्छी तरह जानते हैं। मेरे द्वारा नहीं बल्कि आप खुद इसकी खोज करें। तो आपको मालुम चल जायेगा। Karsan Chanda (वार्ता) 04:17, 2 सितंबर 2021 (UTC)[उत्तर दें]

जागा पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ जागा को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड व2 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

व2 • परीक्षण पृष्ठ

इसमें वे पृष्ठ आते हैं जिन्हें परीक्षण के लिये बनाया गया है। यदि आपने यह पृष्ठ परीक्षण के लिये बनाया था तो उसके लिये प्रयोगस्थल का उपयोग करें। यदि आप विकिपीडिया पर हिन्दी टाइप करना सीखना चाहते हैं तो देवनागरी में कैसे टाइप करें पृष्ठ देखें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

☆★संजीव कुमार (✉✉) 19:03, 3 सितंबर 2021 (UTC)[उत्तर दें]

मुक्ति दिवस पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ मुक्ति दिवस को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड ल1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

ल1 • पूर्णतया अन्य भाषा में लिखे लेख

इसमें वे लेख आते हैं जो पूर्णतया हिन्दी के अलावा किसी और भाषा में लिखे हुए हैं, चाहे उनका नाम हिन्दी में हो या किसी और भाषा में।

हिन्दी विकिपीडिया पर हिन्दी के अतिरिक्त किसी अन्य भाषा में लेख बनाना मना है। यदि आप किसी अन्य भाषा में लेख बनाना चाहते हैं तो कृपया विकिपीडियाओं की पूर्ण सूची देखें और उपयुक्त भाषा वाले विकिपीडिया में यह लेख बनाएँ। यदि आपने यह लेख किसी अन्य भाषा के विकिपीडिया से कॉपी कर के यहाँ डाला है और आप इसका हिन्दी अनुवाद करना चाहते हैं तो कृपया पहले विकिपीडिया:अन्य विकिमीडिया परियोजनाओं से सामग्री लेना को एक बार पढ़ लें। इसके अतिरिक्त, अनुवाद सम्पूर्ण होने से पहले लेख को मुख्य नामस्थान में ना डालें, बलकी अपने सदस्य उप-पृष्ठ की तरह उसका अनुवाद करें। अनुवाद सम्पूर्ण होने पर आप उसे मुख्य नामस्थान में स्थानांतरित कर सकते हैं।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

यदि यह पृष्ठ हटा दिया गया है, तो आप चौपाल पर इस पृष्ठ को अपने सदस्य उप-पृष्ठ में डलवाने, अथवा इसकी सामग्री ई-मेल द्वारा प्राप्त करने हेतु अनुरोध कर सकते हैं।☆★संजीव कुमार (✉✉) 19:05, 3 सितंबर 2021 (UTC)[उत्तर दें]

आखिर हर लेख को हटाने का लॉगो क्यों दें रहे हो। Karsan Chanda (वार्ता) 05:18, 7 सितंबर 2021 (UTC)[उत्तर दें]

चाँदा वंश पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, चाँदा वंश को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/चाँदा वंश पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

मूल शोध प्रतीत हो रहा है। गूगल पर भी कुछ विशेष जानकारी नहीं मिली।

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।रोहितबातचीत 14:08, 3 अक्टूबर 2021 (UTC)[उत्तर दें]

https://en.wikipedia.org/wiki/Chanda_dynasty?wprov=sfla1 Karsan Chanda (वार्ता) 14:12, 3 अक्टूबर 2021 (UTC)[उत्तर दें]

आलन सिंह पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ आलन सिंह को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

लेख को साफ़ प्रचार मानकर हटाया जा सकता है, लेख में कुछ ऐसी पुस्तकों की कड़ियाँ दी गयी हैं जिनका एकमात्र उद्देश्य प्रचार है।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

यदि यह पृष्ठ हटा दिया गया है, तो आप चौपाल पर इस पृष्ठ को अपने सदस्य उप-पृष्ठ में डलवाने, अथवा इसकी सामग्री ई-मेल द्वारा प्राप्त करने हेतु अनुरोध कर सकते हैं। ☆★संजीव कुमार (✉✉) 12:08, 2 नवम्बर 2021 (UTC)[उत्तर दें]

श्रेणी:चाँदा पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ श्रेणी:चाँदा को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड व5 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

व5 • ख़ाली पृष्ठ

इसमें वे सभी पृष्ठ आते हैं जिनमें कोई सामग्री नहीं है, और न ही किसी पुराने अवतरण में थी।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

☆★संजीव कुमार (✉✉) 12:13, 2 नवम्बर 2021 (UTC)[उत्तर दें]

लक्ष्मीनारायण झरवाल पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ लक्ष्मीनारायण झरवाल को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड व2 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

व2 • परीक्षण पृष्ठ

इसमें वे पृष्ठ आते हैं जिन्हें परीक्षण के लिये बनाया गया है। यदि आपने यह पृष्ठ परीक्षण के लिये बनाया था तो उसके लिये प्रयोगस्थल का उपयोग करें। यदि आप विकिपीडिया पर हिन्दी टाइप करना सीखना चाहते हैं तो देवनागरी में कैसे टाइप करें पृष्ठ देखें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

☆★संजीव कुमार (✉✉) 12:20, 2 नवम्बर 2021 (UTC)[उत्तर दें]

जातीय धर्म[संपादित करें]

एक विशेष समुदाय के लिए अपना अलग धर्म होता है। इसलिए इसे हिन्दी विकिपीडिया पर एक नया पृष्ठ बनाया जाए। यह विशेषकर जनजातियों में पाया जाता है। Karsan Chanda (वार्ता) 03:17, 12 नवम्बर 2021 (UTC)[उत्तर दें]

How should communication work in the Wikipedia Android app?[संपादित करें]