सदस्य वार्ता:Hunnjazal/व्यक्तिगत१

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

पुनर्निर्देश ऐसा पृष्ठ होता है जिसमें स्वयं सामग्री होने की बजाय पाठक को किसी अन्य लेख या लेख के विभाग में तुरंत ले जाने का निर्देश होता है। उदाहरण के लिये यदि आप खोज बक्से में "द्रमुक" लिखे या द्रमुक विकिजोड़ पर जाएँ तो आप द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम के लेख पर ले जाए जाएँगे और पृष्ठ के ऊपर एक छोटे अक्षरों में "(द्रमुक से अनुप्रेषित)" की टिप्पणी होगी। यह इसलिये होता है क्योंकि द्रमुक वाले पृष्ठ पर #पुनर्प्रेषित [[द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम]] का विकिपाठ बना हुआ है, जो इसे एक पुनर्निर्देश पृष्ठ होने की परिभाषा देता है और वांछित लेख की ओर संकेत करता है। पुनर्प्रेषण के प्रयोग से किसी लेख के मनचाहे अनुभाग ले लिये भी #पुनर्प्रेषित [[लेख नाम#अनुभाग नाम]] विन्यास द्वारा सीधा पुनर्निर्देश बनाया जा सकता है।

इस पृष्ठ में विकिपीडिया पर पुनर्निर्देशन के उचित प्रयोग के लिये कुछ मार्गदर्शक नियम हैं। पुनर्निर्देशों पर तकनीकि सहायता के लिये सहायता:पुनर्निर्देशन देखें। विकिपीडिया:दोहरे पुनर्निर्देशन भी पुनर्निर्देशन के एक अन्य पहलू पर दृष्टि डालता है। ☞ (यहाँ पर अंग्रेज़ी विकी में कुछ अन्य लेखों के जोड़ थे जो हिन्दी विकी में बनाने में कुछ समय लग सकता है)

पुनर्निर्देशन प्रयोग के उचित लक्ष्य[संपादित करें]

लघु पथ:
वि:पुनप्रयोग
वि:पुनलक्ष्य
वि:पर्यायवाची

पुनर्निर्देश बनाने और सुधारने के कुछ कारण इस प्रकार हैं:

  • वैकल्पिक नाम (उदाहरणतः बम्बई का पुनर्प्रेषण मुम्बई को है), सबसे उचित लेख नाम को पुनर्प्रेषित
  • बहुवचन (उदाहरणतः मछलियाँ का पुनर्प्रेषण मछली को है)
  • समीपी सम्बन्ध रखने वाले शब्द व नाम (उदाहरणतः राजनीतिज्ञ का पुनर्प्रेषण राजनीति को है)
  • विशेषण और क्रिया-विशेषण जो उन शब्दों के संज्ञा रूप को अनुप्रेषित हैं (उदाहरणतः ऐतिहासिक का पुनर्प्रेषण इतिहास को है)
  • कम उल्लेखनीय नाम-रूप जिनके लिये लेख ही प्रमुख विषय है (उदाहरणतः आइंस्टीन का पुनर्प्रेषण अल्बर्ट आइंस्टीन के लेख को है, जबकि गौतम पुनर्निर्देश की बजाय एक बहुविकल्पी पृष्ठ है क्योंकि गौतम का कोई एक मुख्य विषय नहीं है)
  • नामों के अधिक विशिष्ट लेकिन कम उल्लेखनीय नाम (उदाहरणतः मोहनदास करमचन्द गांधी का पुनर्प्रेषण महात्मा गांधी को है)
  • सूचकाक्षर और परिवर्णी शब्द (उदाहरणतः डी एन ए का पुनर्प्रेषण डीऑक्सीराइबोन्यूक्लिक अम्ल को है) - लेकिन कभी-कभी सूचकाक्षर के एक से अधिक अर्थ निकलते हैं जिनमें से कोई भी प्रमुख विषय नहीं होता, और इन स्थितियों में पुनर्प्रेषण के स्थान पर बहुविकल्पी पृष्ठ बनाना चाहिये
  • वैकल्पिक वर्तनी या विराम-चिन्ह (उदाहरणतः हिंदी का पुनर्प्रेषण हिन्दी को और भाषा परिवार का पुनर्प्रेषण भाषा-परिवार को है)
  • विराम-चिन्हों में गलतियाँ (उदाहरणतः जिन लेखों के नामों में लघु - का चिन्ह है उनके नाम दीर्घ — चिन्ह के साथ भी पुनर्प्रेषित करे जाने चाहिये)
  • लिखने में कठिन नामों के सरल रूप (उदाहरणतः औस्ट्रेलिया का पुनर्प्रेषण ऑस्ट्रेलिया को है)
  • सम्भावित गलत वर्तनी (उदाहरणतः लखनउ का पुनर्प्रेषण लखनऊ को है)
  • सम्पादन इतिहास को सुरक्षित रखने के लिये (उदाहरणतः विकिपीडिया:विलय की स्थिति में), जो कि कानूनी रूप से अनिवार्य भी हो सकता है
  • लेखों के उपभाग जो कि स्वयं उल्लेखनीय विषय हो सकते हैं
  • ऐसे बहुविकल्पी पृष्ठों के लिये जिनके नाम में "(बहुविकल्पी)" नहीं है (उदाहरणतः चीनी (बहुविकल्पी) का पुनर्प्रेषण चीनी को है) - यह पुनर्निर्देश जानबूझ कर प्रयोग किये गये बहुविकल्पी जोड़ों को ऐसे जोड़ों से भिन्न करते हैं जिनमें बहुविकल्पी लेख नामों में कई सम्भावनाओं में से एक चुननें की आवश्यकता होती है
  • लघु पथ (उदाहरणतः वि:मूल शोध का पुनर्प्रेषण विकिपीडिया:मूल शोध नहीं को है - ऐसे लघु पथों का प्रयोग विकिपीडिया परियोजना पृष्ठों में आम है लेकिन साधारण लेखों में नहीं)
  • एक्सिफ़ (Exchangeable image file format) छवि फ़ाईलों के स्व-उत्पन्न जोड़
  • ☞ (यहाँ पर Finding what links to a section, when links are made to the redirect rather than the section रखा जाये?)

पुनर्प्रेषण के विशिष्ट ध्येय वाले प्रयोगों के लिये कुछ साँचे भी उपलब्ध हैं जो अनुर्प्रेषण का कारण स्पष्ट करते हैं। ध्यान दें कि अन्य विकिमीडिया परियोजनाओं, अन्य वेबसाईटों और स्वयं उत्पन्न होने वाले विशेष पृष्ठों के लिये पुनर्प्रेषण काम नहीं करते। इनके लिये या तो पुनर्प्रेषण बनाये ही न या फिर {{soft redirect}} साँचे का प्रयोग करें। यही {{श्रेणी अनुप्रेषित}} साँचे के रूप में श्रेणियों में भी प्रयोग होता है।

पुनर्निर्देश कैसे बनाये[संपादित करें]

सरल पुनर्निर्देश बनाने ले लिये, पूरे पृष्ठ में केवल #अनुप्रेषण [[ध्येय पृष्ठ का नाम यहाँ]] सामग्री के रूप में डालें। मसलन अगर आप "बांग्ला देश" को "बांग्लादेश" की ओर पुनर्प्रेषित करना चाहते हैं, तो निम्नलिखित "बांग्ला देश" पृष्ठ का पूरा पाठ होगा: #अनुप्रेषित [[बांग्लादेश]]

जब किसी लेख या श्रेणी का स्थानांतरण किया जाता है, तो साधारणतः पुराने लेख या श्रेणी से नये लेख या श्रेणी के लिये अनुप्रेषण स्वयं ही बन जाता है।

पुनर्निर्देश का सम्पादन अथवा लेख में परिवर्तन कैसे करें[संपादित करें]

लघु पथ:
वि:पुनसम्पादन
वि:पुनसेलेख

कभी-कभी किसी मौजूदा पुनर्निर्देश के स्थान पर वास्तव में एक पूरा लेख होना चाहिये। मसलन, सम्भव है कि किसी जाने-माने राजनीतिज्ञ पर लेख न हो और उसका नाम ऐसे राजनैतिक दल पर पुनर्निर्देशित हो जिसका वह सदस्य है। ऐसी स्थिति में आप उस पुनर्निर्देश को सम्पादित कर के उसके स्थान पर उस उल्लेखनीय व्यक्ति पर लेख बना सकते हैं। और यदि वह पुनर्निर्देश किसी ग़लत राजनैतिक दल के लेख की ओर पुनर्प्रेषित है तो उसे सम्पादित कर के सही पृष्ठ की ओर पुनर्प्रेषित करने को भी स्वतंत्र हैं।

अगर आप किसी पुनर्निर्देश पृष्ठ को सम्पादित करना चाहते हैं तो उस तक पहुँचने के लिये आपको एक विशेष विधि का प्रयोग करना होगा। यह इसलिये क्योंकि जब आप सीधा पुनर्निर्देश पृष्ठ तक जाने की कोशिश करेंगे तो वह तुरंत आपको अपने-आप से हटाकर अपने ध्येय लेख पर ले जायेगा, क्योंकि यही पुनर्निर्देश का लक्ष्य होता है। अब किसी पुनर्निर्देश तक पहुँचने और उसमें छोटा सुधार करने का एक उदाहरण देखिये।

उदाहरण के लिये यह समझिये कि ट्रीगवी हल्व्दन ली का अपना लेख नहीं है और यह संयुक्त राष्ट्र के महासचिव वाले लेख के लिये एक अनुप्रेषण है, क्योंकि वह किसी काल में इस पद पर रहे थे। आगे चलकर कोई सम्पादक ट्रीगवी ली पर एक पूरा लेख बनाता है। अब लेख नामकरण की नीति के तहत अनुप्रेषित ट्रीगवी हल्व्दन ली पृष्ठ का ध्येय पृष्ठ बदलकर इस नये लेख पर करा जाना चाहिये। यह करने के लिये ध्येय पृष्ठ पर जो पुनर्निर्देश टिप्पणी है, जो "(ट्रीगवी हल्व्दन ली से अनुप्रेषित)" कह रही होगी, उसपर क्लिक कर के पुनर्निर्देश पृष्ठ पर जाईये। वहाँ जाकर, "सम्पादन" टैब पर क्लिक करें और पाठ को:

#अनुप्रेषित [[संयुक्त राष्ट्र के महासचिव]]

से बदलकर यह कर दीजिये:

#अनुप्रेषित [[ट्रीगवी ली]]

निदेशित और अनिदेशित पुनर्निर्देश[संपादित करें]

लघु पथ:
वि:निदेशित
वि:अनिदेशित

अधिकतर पुनर्निर्देश अनिदेशित होते है, यानि वे सीधा अपने ध्येय पृष्ठ की ओर जाते हैं और उसके किसी विशिष्ट अनुभाग की ओर नहीं। यह आमतौर पर तब किया जाता है जब किसी लेख को एक से अधिक नामों से खोजा या जोड़ा जा सकता है (मसलन सेलफ़ोन का प्रयोग मोबाइल फ़ोन के लेख के लिये भी किया जा सकता है)। लेख का वास्तविक नाम क्या हो, यह निर्णय विकिपीडिया:लेख का नाम कैसे रखें वाली नीति में निर्धारित है।

लेख के किसी विशेष अनुभाग के लिये भी एक "निदेशित पुनर्निर्देश" भी बनाया जा सकता है — चाहे वह किसी अनुभाग के नाम से बनाया जाये या लेख के किसी भी बिन्दु में "लघु पथ" (शॉर्टकट) के प्रयोग से डाला जाये। उदाहरण के लिये एलिज़ाबेथ द्वितीय का शासनकाल का अनुप्रेषण एलिज़ाबेथ द्वितीय#शासनकाल को है। इसलिये यदि खोजने वाला "एलिज़ाबेथ द्वितीय का शासनकाल'' लिखता है तो वह सीधा एलिज़ाबेथ द्वितीय लेख के "शासनकाल" नामक अनुभाग पर ले जाया जयेगा। यह याद रखें कि जब ध्येय पृष्ठ दिखाया जायेगा तो सम्भव है कि पृष्ठ का ऊपरी हिस्सा छुपा हो, जिस कारणवश पाठक को ("... से अनुप्रेषित") तब तक नहीं दिखेगा, जब तक वे पृष्ठ के ऊपरी भाग तक न जायें। इस से पाठकों में उलझन हो सकती है इसलिये पुनर्निर्देश का नाम अनुभाग के नाम जैसा ही बनाने का प्रयास करें, ताकि पाठकों को यह समझ आ सके कि वे खोज या क्लिक करने पर अचानक एक नये पृष्ठ के बीच में क्यों लाये गये हैं।

ध्यान दें कि जो नाम निदेशित पुनर्निर्देश के जोड़ में डाला गया है यह अक्षर-से-अक्षर पूरी तरह अनुभाग के नाम या लघु पथ के नाम से मेल खाना चाहिये - इसमें हल्का-सा विन्यास का अंतर भी जोड़ को तोड़ देता है। (विकिपीडिया के वर्तमान रूप में रिक्त स्थान और अंडरस्कोर चिन्ह "_" को एक जैसा ही माना जाता है जिस से तमिल नाडु और तमिल_नाडु के साथ एक जैसा व्यवहार होता है, लेकिन इसपर निर्भर न रहें और पूरी तरह से लेख या अनुभाग नाम और जोड़ के नाम को सामान-रूप रखें।) अगर किसी कारण से च् के ध्येय लेख में कोई हूबहू मिलता अनुभाग का नाम न हो तो पाठक को ध्येय पृष्ठ के सर्वोपरी भाग में ले जाया जाता है। अगर आप एक निदेशित पुनर्निर्देश बना रहे हैं तो ध्येय लेख के उस अनुभाग के ठीक नीचे एक छुपी टिप्पणी आने वाले सम्पादकों के लिये सहायक साबित हो सकती है ताकि वे सचेत जो जायें कि अनुभाग-नाम पर निर्भर एक पुनर्निर्देश अस्तित्व में है और अगर वे अनुभाग-नाम को बदलें तो उस निदेशित पुनर्निर्देश को भी ठीक कर दें। उदाहरण के लिये:

 ==शासनकाल==
 <!-- [[एलिज़ाबेथ द्वितीय का शासनकाल]] के अनुप्रेषण से जुड़ा हुआ -->

अगर यह चाहें कि अनुभाग के नाम बदलने से अनुप्रेषण नहीं टूटेगा तो लघुपथ भी बनाया जा सकता है जो पृष्ठ की सामग्री के भीतर ही परिभाषित किया जाता है। इसमें {{anchor}} प्रयोग होत है। यह सीधा अनुभाग की सामग्री से बिलकुल पहले या ठीक बाद में डाला जा सकता है (इस रूप में: =={{Anchor|लघुपथ नाम}}अनुभाग नाम==। साधारण पाठकों के लिये लघुपथ का नाम अदृश्य रहेगा (हालांकि {{Visible anchor}} के प्रयोग से उसे प्रत्याक्ष भी किया जा सकता है) लेकिन पृष्ठ पर उस स्थान का एक स्थाई अंकन बन जायेगा। किसी लघुपथ के अन्य लेखों और पुनर्निर्देशों में हुये प्रयोग पर दृष्टि डाले बिना सम्पादकों को उसे नहीं हटाने चाहिये, वरना अन्य लेखों में टूटे जोड़ों की सम्भावना बन जाती है। अगर किसी लेख के अनुभाग में कई स्वतंत्र और भिन्न पहलुओं पर सामग्री सम्मिलित है, लेकिन यह अनुभाग आगे अनुभागों में बांटे जाने के योग्य नहीं है, तो कभी-कभी उस अनुभाग के लिये एक से अधिक लघुपथ भी बनाये जा सकते हैं। इस से उस पृष्ठ पर सामग्री व्यवस्थित करने में भी आसानी रहती है क्योंकि जब भी भविष्य के सम्पादनों में सामग्री हिलाई जाये तो, बिना लेख से बाहर के जोड़ों की चिंता करे बिना, इन लघुपथों को भी सामग्री के साथ हिलाया जा सकता है।

मसलन गूगल खोज के लेख में {{Anchor|कैलकुलेटर}} वहाँ डाला गया है जहाँ "गूगल कैलकुलेटर" का वर्णन है। अब गूगल कैलकुलेटर वाला नाम गूगल खोज#कैलकुलेटर को अनुप्रेषित किया जा सकता है।

चेतावनी[संपादित करें]

  1. लघुपथ (ऐन्कर) को कभी भी बिलकुल वही नाम न दें जो अनुभाग का है। यह करने से ग़लत कोड उत्पन्न होता है क्योंकि लघुपथों (ऐन्करों) का नाम विशिष्ट होना अनिवार्य है
  2. लघुपथों में वर्तनी को लेकर सावधान रहें क्योंकि, लेख व अनुभाग नामों की तरह, लघुपथ प्रयोग में पूरी तरह मेल खाने वाला जोड़ ही चल सकता है।

दोहरे पुनर्निर्देश[संपादित करें]

यदि एक पुनर्निर्देश का ध्यय पृष्ठ एक अन्य पुनर्निर्देश हो (जो फिर आगे किसी लेख या अनुभाग को पुनर्प्रेषित हो) तो इस स्थिति को "दोहरा पुनर्निर्देश" (डबल रिडायरेक्ट) कहा जाता है। विकिपीडिया सॉफ़्टवेयर दोहरे पुनर्निर्देश नहीं चलाता और धर पुनर्निर्देश की दशा में केवल पहले पुनर्निर्देश का पालन करते हुए पाठक को दूसरा पुनर्निर्देश दिखा देता है, लेकिन उस से आगे नहीं ले जाता। इसलिये जानबूझ कर दूहरे पुनर्निर्देश कभी न बनाये।

अक्सर दोहरे पुनर्निर्देश लेख स्थानांतरण करने पर उत्पन्न हो जाते हैं। हमेशा किसी पृष्ठ को स्थानांतरित करने के पश्चात पुराने लेख नाम पर पुनर्निर्देशित अनुप्रेषणों पर दृष्टि डाल लें। इसमें या तो विशेष:कड़ियाँ में पुराना नाम डालकर उसके लिये बने हुए अनुप्रेषणों को देखा जा सकता है या फिर स्थानांतरण परिणाम पृष्ठ पर भी उपस्थित जोड़ द्वारा यह देखा जा सकता है। कृप्या इन पुराने अनुप्रेषणों को बदलकर नये नाम पर अनुप्रेषित कर दें अन्यथा वे दोहरे पुनर्निर्देश बन जाते हैं। आमतौर पर विकिपीडिया पर कुछ बॉट भी चलते हैं जो इन दोहरे पुनर्प्रेषणों को ठीक कर देते हैं।

पुनर्निर्देश के लिये जोड़ कैसे बनाये[संपादित करें]

पुनर्निर्देश पृष्ठ के लिये जोड़ ठीक वैसे ही बनाये जैसे किसी भी लेख पृष्ठ के लिये दोहरे ब्रैकिट के प्रयोग से बनाते हैं, यानि:

[[पुनर्निर्देश पृष्ठ नाम]]

, जिसमें "पुनर्निर्देश पृष्ठ नाम" के स्थान पर अपने बनाये पुनर्निर्देश का नाम डाल दें। अगर किसी कारणवश आप चाहते हैं कि पुनर्निर्देश पृष्ठ के लिये ऐसा जोड़ बने जो क्लिक करने पर पुनर्निर्देश पृष्ठ तो जाये लेकिन आगे स्वयं ही पुनर्निर्देश के ध्येय पृष्ठ पर न जाये तो:

{{No redirect|पुनर्निर्देश पृष्ठ नाम}}

को "पुनर्निर्देश पृष्ठ नाम" के स्थान पर अपने बनाये पुनर्निर्देश के नाम के साथ लिखें। ऐसे जोड़ पर क्लिक करने से पाठक को पुनर्निर्देश दिखाया जायेगा, न कि वह पृष्ठ जो पुनर्निर्देश का ध्येय है।

पुनर्निर्देशों का श्रेणिकरण[संपादित करें]

अधिकतर पुनर्निर्देश पृष्ठ श्रेणियों में नहीं डाले जाते, लेकिन तीन प्रकार की पुनर्निर्देश श्रेणीकरण हैं जो सहायक और उपयोगी हैं:

  • संचालन श्रेणियाँ, जो अलग-अलग प्रकार के पुनर्निर्देशों को इसलिये वर्गित करती हैं ताकि विकिपीडिया के प्रबंधन में आसानी हो। मसलन श्रेणी:ऐतिहासिक नामों से अनुप्रेषण ऐतिहासिक नामों के लिये बने पुनर्निर्देशों (जैसे कि अपर वोल्टा) के लिये स्थापित है। किसी भी पुनर्निर्देश में {{R from historic name}} नामक साँचे के प्रयोग से उसे इस श्रेणी में डाला जा सकता है। ऐसे कई साँचे है, लेकिन उनमें से अधिकतर का अभी हिन्दी में अनुवाद पूरा नहीं किया गया है।
  • कभी-कभी किसी पुनर्निर्देश पृष्ठ को किसी श्रेणी में डालना उचित होता है जबकि उसके ध्येय लेख को उस श्रेणी में डालना अनुचित होता है।
  • वार्ता पृष्ठ। कभी-कभी पुनर्निर्देश पृष्ठ के लिये भी वार्ता हो सकती है, जिस स्थिति में उसके सम्बन्धित वार्ता पृष्ठ में सबसे ऊपर {{Talk page of redirect}} का साँचा डालना न भूलिये और उसके विकिपरियोजना बैनरों में "class=Redirect" सम्मिलित अवश्य करें। अधिकतर पुनर्निर्देशों के वार्ता पृष्ठ ख़ाली होते हैं, और उनमें यह अवाश्यकता उत्पन्न ही नहीं होती।

स्थानांतरण से उत्पन्न पुनर्निर्देश[संपादित करें]

जब भी किसी पृष्ठ का स्थानांतरण किया जाता है तो पुराना पृष्ठ स्वयं ही बदलकर पुनर्निर्देश पृष्ठ बन जाता है और उसमें {{R from move}} का साँचा लग जाता है। यह विकिपीडिया सॉफ़्टवेयर स्वयं करता है और इसमें हस्तक्षेप न करें। इस से यह पुनर्निर्देश स्वयं ही Category:Redirects from moves नामक श्रेणी में चला जाता है। ☞ (क्या हिन्दी विकि में यह वास्तव में हो रहा है? शायद नहीं।) कुछ बॉट इसका प्रयोग करते हैं और इस स्वचालित प्रक्रिया में भी हस्तक्षेप न करें।

पुनर्निर्देश कब हटाएँ[संपादित करें]

लघु पथ:
वि:पुन#हटाना

पुनर्निर्देश अगर ग़लत पृष्ठ पर अनुप्रेषण प्रस्तुत कर रहा है तो उसे ठीक करें। यदि किसी पुनर्निर्देश पृष्ठ को हटाना हो तो उसे, किसी भी अन्य पृष्ठ की तरह विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा के अनुसार चलें।

अगर आप किसी पुनर्निर्देश पृष्ठ को बदलकर एक लेख में विस्तार करना चाह रहें हैं या किसी अधिक-उचित लेख की ओर पुनर्प्रेषित करना चाह रहे हैं तो उसके लिये चर्चा आवश्यक नहीं है। अगर आप किसी लेख और उसके लिये बने किसी पुनर्निर्देश की आपसी अदला-बदली चाह रहें हैं लेकिन विकिपीडिया आपको यह करने नहीं दे रहा तो स्थानांतरण का कारण बतलाते हुए कृप्या किसी प्रबन्धक से विकिपीडिया:प्रबन्धक सूचनापट पर सहायता के लिये सम्पर्क करें।

☞ (यहाँ नीचे "विकिपीडिया:पुनर्निर्देश/हटाने के कारण" लिखे हुए हैं, जो चर्चा-प्रक्रिया के बाद अपने स्वयं के इस नाम के पृष्ठ में डाले जायेंगे)

लघु पथ:
वि:पुन#हनिकारक

पुनर्निर्देश हटाने से हानि होने के मुख्य कारण हैं:

  • पुनर्निर्देश में महत्वपूर्ण सम्पादन इतिहास हो सकता है।
  • अगर पुनर्निर्देश को बनाये हुए कुछ समय बीत चुका है तो पुनर्निर्देश हटाने से अन्य लेखों में कई जोड़ टूट सकते हैं। ध्यान दें कि अगर वर्तमान स्थिति की विकि में यह पुनर्निर्देश प्रयोग न भी हो रहे हों तो भी अक्सर लेखों के पुराने अवतरणों में भी सम्पादक और पाठक पुरानी सामग्री परखते हैं और कभी-कभी पुनर्स्थापित करते हैं। पुनर्निर्देश हटाने से इस प्रक्रिया में भी जोड़ टूटते हैं।

यह भी सम्भव है कि उस पुनर्निर्देश के प्रयोग से बने जोड़ इण्टरनेट पर कहीं भी हो सकते हैं जो आपको विशेष:कड़ियाँ औज़ार के प्रयोग करने के बाद भी नज़र नहीं आयेंगे।

इन कारणों से केवल वास्तव में हानिकारक या बहुत ही नये पुनर्निर्देशों को ही हटाने पर विचार प्रस्तुत करें।

हटाने के कारण[संपादित करें]

लघु पथ:
वि:पुनहटाओ

निम्नलिखित एक या अधिक शर्तों के पूरा होने पर आप सम्भवतः किसी पुनर्निर्देश को हटाना चाह सकते हैं (लेकिन इस से नीचे लिखे न हटाने के कारणों को भी अवश्य देखें):

  1. पुनर्निर्देश पृष्ठ पाठकों को उससे मिलते-जुलते नाम के लेखों को खोज बक्से में ढूंढने में स्पष्ट व अत्यंत कठिनाई दे रहा है।
  2. पुनर्निर्देश से उलझन उत्पन्न हो रही है। मसलन यदि किसी उल्लेखनीय व्यक्ति का नाम "रमेश लाल मोहन" है लेकिन किसी स्रोत में उनका नाम "राकेश लाल मोहन" कहा गया है, जबकि राकेश मोहन एक अन्य उल्लेखनीय लेखक का नाम है, तो "राकेश लाल मोहन" का अनुप्रेषण हटा देना चाहिये, क्योंकि उसपर क्लिक करने वाला पाठक राकेश मोहन के लेख पर जाने की बजाय "रमेश लाल मोहन" के ग़लत लेख पर जा सकता है।
  3. अपमानजनक या अपवाद शब्दों से बने पुनर्निर्देश। उदाहरणतः "राकेश लाल मोहन नीच और दुष्ट" के रूप वाल पुनर्निर्देश हटाया जा सकता है (विकिपीडिया:शीघ्र देखें), जब तक कि यह वास्तव में लेख सामग्री से सम्बन्धित न हो या लेख में इस से मिलते शब्दों का उचित रूप से उपयोग न हो रहा हो।
  4. पुनर्निर्देश में प्रचार या स्पैम हो (विकिपीडिया:शीघ्र लागू हो सकता है, और वि:नहीं देखें)।
  5. पुनर्निर्देश निरर्थक या बेतुका हो, मसलन सेब को आम पर पुनर्निर्देशित कर देना (विकिपीडिया:शीघ्र लागू हो सकता है)।
  6. लेखों से बाहर किसी अन्य विकिपीडिया विभाग में पुनर्निर्देश हो, जैसे कि किसी सदस्य पृष्ठ के लिये। लेकिन "शैली:" पुनर्निर्देश इस हटाने की नीति से मुक्त हैं।
  7. अगर पुनर्निर्देश टूटा हुआ है या अपने ही ऊपर अनुप्रेषित है तो उसे विकिपीडिया:शीघ्र के अंतर्गत तुरंत हटाया जा सकता है, परंतु हटाने से यह देख लें कि उसका अनुप्रेषण बदलकर किसी सही जगह करना सम्भव न हो।
  8. अगर पुनर्निर्देश किसी लेख के लिये कोई नया और विचित्र पर्यायवाची हो तो सम्भव है कि वह उपयोगी न हो। किसी विदेशी भाषा से ऐसा पुनर्निर्देश न बनाये जो ध्येय पृष्ठ के विषय के सन्दर्भ से बाहर हो या उस विषय से सम्बन्धित किसी संस्कृति से सम्बन्धित न हो, मसलन चीनी भाषा के नाम के साथ कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य के लिये पुनर्निर्देश न बनाए। अगर ऐसे पुनर्निर्देश नये-नये बने हैं जिन्हें खोजकर्ता या लेखों के सम्पादकों के स्पष्ट ग़लती से भी लिखने की सम्भावना बहुत कम है तो उन्हें हटाने के लिये विकिपीडिया:शीघ्र नीति लागू हो सकती है।
  9. अगर कोई लेख किसी पुनर्निर्देश के शीर्षक के साथ स्थानांतरित किया जाना है लेकिन उस पुनर्निर्देश पृष्ठ का स्वयं का अवतरण इतिहास है तो स्थानांतरण के लिये उस पुनर्निर्देश पृष्ठ को हटाना आवश्यक हो जाता है। अगर इसपर विवाद की कोई सम्भावना नहीं है तो इसे विकिपीडिया:शीघ्र के तहत हटवाने के लिये प्रबंधक सूचनापट पर प्रस्तुत करें। अगर विवाद की सम्भावना है तो इसके वार्ता पृष्ठ पर संदेश छोड़कर फिर प्रबंधक सूचनापट पर प्रस्तुत करें।
  10. अगर पुनर्निर्देश को बढ़ाकर पूरा लेख बनाया जा सकता है और ध्येय लेख में पुनर्निर्देश के से सम्बन्धित नाम मात्र की भी जानकारी नहीं है।

न हटाने के कारण[संपादित करें]

लघु पथ:
वि:पुनरखो

ऊपरलिखित हटाने के कारणों के बावजूद ऐसे पुनर्निर्देशों को न हटाएँ अगर:

  1. उनमें सम्भावित उपयोग वाला इतिहास है, या ऐसा सम्पादन इतिहास है जो विलय के लिये मुद्राधिकार या अन्य क़ानूनी दृष्टि से आवश्यक जानकारी है। दूसरे हाथ पर, अगर पुनर्निर्देश किसी पृष्ठ के स्थानांतरण से बना था और उसके अवतरण इतिहास में केवल इस स्थानांतरण का ही इतिहास है और ऊपरलिखित किसी कारण से आप इस पुनर्निर्देश पृष्ठ को हटाना चाहते हैं, तो पुनर्निर्देश पृष्ठ इसिहास की नकल कर के उसे ध्येय पृष्ठ के वार्ता पृष्ठ में डाल दें। स्थानांतरण का इतिहास बचाकर रखना महत्वपूर्ण है और यह तब और भी महत्वपूर्ण है जब पृष्ठ ने नाम पर वार्ता हुई हो।
  2. अगर पुनर्निर्देश अन्य स्थानों पर ग़लत बनाये गये जोड़ों को भी जीवित बनाने में उपयोगी हो। इसमें ग़लत शब्दों, नामों या शीर्षकों के प्रयोग से बने जोड़, एकवचन-बहुवचन या अन्य व्याकरणीय भूलों से बने जोड़, वर्तनी में खराबी से बने जोड़, सामानार्थक शब्दों से बने जोड़ इत्यादी शामिल हैं। इसका यह अर्थ भी है कि अगर किसी इस प्रकार के पुनर्निर्देश का वर्तमान में कहीं भी उपयोग नहीं हो रहा हो तो भी उन्हें नहीं हटाया जाना चाहिये। सम्पादकों को सतर्क रहना चाहिये कि वे इस सुरक्षा के बावजूद भी लेखों में अपनी वर्तनी जितनी ठीक हो सकती है, रखें।
  3. वे कुछ खोजों में सहायक सिद्ध होते हैं। मसलन अगर कोई "चढ़ते सूरज का देश" कहीं पर पढ़े लेकिन वह यह नहीं जानता कि यह किस देश के बारे में कहा जा रहा है जो पुनर्निर्देश उसे जापान के ध्येय पृष्ठ पर ले जाकर दिखा देगा।
  4. उन्हें हटाने से जोड़ों के टूट जाने का खतरा है। उदाहरण के लिये, स्थानांतरण से बने पुनर्निर्देशों को बिना किसी ठोस कारण के साधारणतः नहीं हटाना चाहिये। ऐसे पुनर्निर्देश जिन्हें अस्तित्व में रहे हुए समय बीत चुका है या जिनके लिए विकिपीडिया के भीतर या उस से बाहर जोड़ होने की कोई भी सम्भावना है, उन्हें न छेड़ें।
  5. अगर वह किसी के लिये उपयोगी हैं। संकेत: अगर कोई कह रहा है कि उसके लिये कोई पुनर्निर्देश उपयोगी है, तो उसे सच मानकर चलें। समभव है कि यह पुनर्निर्देश आपके लिये उपयोगी न हो — इस से यह न समझे की किसी और के लिये यह उपयोगी नहीं है — अलग-अलग लोग विकिपीडिया पर भिन्न प्रकार से सामग्री खोजते-देखते हैं। stats.grok.se से बाहरी उपयोग के कुछ तथ्य देखे जा सकते हैं।
  6. वे बहुवचन या किसी भी अन्य व्याकरणीय रूप के लिये बने हुआ पुनर्निर्देशन हैं।
  7. पुनर्निर्देशन के स्थान पर एक पूरा लेख बनाया जा सकता है और पुनर्निर्देशन हटाने से अपंजीकृत सम्पादकों को यह नया लेख बनाने में कठिनाई होने की सम्भावना है। ध्यान रहे कि अपंजीकृत सम्पाद नया लेख नहीं बना सकते। वे केवल अस्तित्वमान पृष्ठों में सुधार ही कर सकते हैं। उनके मार्ग में कठिनाई लाने से विकिसम्पादन अधिक कठिन होता है और भावी सम्पदकों की संख्या कम होती है। यह बात स्थाई-रूप से सुरक्षित या अर्ध-सुरक्षित पुनर्निर्देशनों पर लागू नहीं होती।

पुनर्निर्देशों की निष्पक्षता[संपादित करें]

लघु पथ:
वि:पुननिष्पेक्ष

जिस तरह लेखों के शीर्षकों में कभी-कभी सामन्य प्रयोग में आने वाले लेकिन कुछ हद तक ग़ैर-निष्पक्ष शीर्षकों की अनुमति मिल सकती है, यही बात पुनर्निर्देशों पर भी लागू है। पुनर्निर्देश पाठकों को लेखों से कम दृष्टिगोचर होते हैं इसलिये उनमें निष्पक्षता की दृष्टि से अधिक छूट है। इसलिये पुनर्निर्देशों में पक्षपाती भाषा उनके हटाये जाने के लिये पर्याप्त कारण नहीं है। अधिकतर स्थितियों में, पक्षपाती लेकिन सत्यापनीय पुनर्निर्देशों को निष्पक्ष शीर्षकों वाले लेखों की ओर पुनर्प्रेषित होना चाहिये जो उनसे सम्बन्धित विषयों के बारे में हैं। पक्षपाती पुनर्निर्देशों पर {{R from non-neutral name}} का टैग लगाया जा सकता है।

पक्षपाती पुनर्निर्देश आमतौर पर तीन कारणों से बनाये जाते हैं:

  1. कुछ लेख सम्पादकों द्वारा पक्षपाती नामों के साथ बना दिये जाते हैं जो कि बाद में निष्पक्ष नाम पर स्थानांतरित हो जाते हैं लेकिन पुराना पक्षपाती शीर्षक एक पुनर्निर्देश के रूप में छोड़ जाते हैं।
  2. कुछ लेख पूर्ण रूप से पक्ष लेते हैं और उन्हें हटा दिया जाता है लेकिन उनके शीर्षक को निष्पक्ष लेख पर अनुप्रेषित कर दिया जाता है।
  3. कुछ लेखों के विषय विकिपीडिया के बाहर कई स्रोतों में पक्ष-वाली भाषा में लिखे जाते हैं। ऐसे पक्षाधारित शीर्षक विकिपीडिया पर आमतौर पर निष्पक्ष नीति के अंतर्गत वर्जित हैं। ऐसी स्थितियों में पक्षपाती पुनर्निर्देश इसलिये बनाये जाते हैं ताकि उन स्रोतों के पाठक आसानी से विकिपीडिया पर सम्बन्धित लेख ढूंढ सकें।

यह नियम वहाँ लागू नहीं हैं जहाँ कोई ऐसा पक्षपाती नाम प्रयोग किया जाये जो कहीं भी देखा नहीं गया। ऐसे पुनर्निर्देश - जिनमें स्पष्ट पक्ष है, जो कहीं प्रयोग में नहीं हैं, नये हैं और जिनके नाम किसी भी स्रोत में प्रयोग में नहीं दिखते, वे हटाये जाने योग्य हो सकते हैं और उनपर चर्चा करें। लेकिन अगर यह स्रोतों में उपस्थित है, तो पक्ष लेने के बावजूद भी उसे रखा जाना चाहिये क्योंकि वह खोज में सहायक हो सकता है। कृप्या ध्यान रखे की सम्पादकीय विवादों में अकारण पुनर्निर्देशों को न ले आये।

पुनर्निर्देशों के ध्येय पृष्ठों में क्या करना आवश्यक है?[संपादित करें]

लघु पथ:
वि:पुन#न्यूनविस्मय

हम "न्यूनतम विस्मय सिद्धांत" क आधार पर काम करते हैं — किसी अनुप्रेषण के ध्येय पर पहुँचने पर पाठक के मन में सर्वप्रथम प्रशन होगा कि "यह क्या है ... मैं तो "अमुक" के बारे में पढ़ना चाहता था। यह जोड़ मुझे इस अन्य "अमुक जगह" पर क्यों ले आया है?" पाठक को यह स्पष्ट कर दीजीये कि वह वास्तव में सही जगह आ गया है।

वर्तनी और भिन्न शब्द रूप की स्थिति में विस्मय नहीं होता लेकिन अगर लेख का नाम बहुत अलग है तो उसके लिये लेख या लेख-अनुभाग के पहले एक या दो अनुच्छेदों में अनुप्रेषण से मिलता-जुलता नाम डाल दें ताकि पाठक को सन्दर्भ समझ आ सके। अगर यह उस लेख के लिये वैकल्पिक नाम हो सकता है तो उसे ठोस में लिखना उचित होगा। उदाहरण के लिये, यह काल्पनिक मिसाल देखिये:

  • रजत प्रशांत (अगस्त २४, १९१५ - मई १९, १९८७) भारतीय जासूसी उपन्यास लेखक सुभद्रा सिन्हा का लेखन-उपनाम था ...
    • "रजत प्रशांत", "सुभद्रा सिन्हा" से अनुप्रेषित

परन्तु नगण्य या समीपी पुनर्निर्देश में यह आवश्यक नहीं है:

  • "जल का घनत्व" यदि "जल के भौतिक गुण" के लिये अनुप्रेषण हो तो ध्येय लेख में जल का घनत्व शब्द ठोस अक्षरों में डालना अनावश्यक है क्योंकि यह लेख का एक साधारण उप-विषय है।

अगर पुनर्निर्देशित नाम के अन्य अर्थ भी हो सकते हैं तो ध्येय लेख या अनुभाग के ऊपर उन अन्य अर्थों के सम्बन्धित लेखों या बहुविकल्पी पृष्ठ के लिये जोड़-समेत टिप्पणी डालना न भूलें। बहुविकल्पी प्रयोगों ले लिये {{अन्य प्रयोग}} का प्रयोग किया जा सकता है, जिसमें "इस लेख का विषय" के स्थान पर चंद शब्दों में वह लिखें जो ध्येय लेख का विषय हो। अगर अन्य अर्थों के बारे में लेख ढूंढने के लिये कोई श्रेणी लाभकारी होगी तो टिप्पणी में "[[:श्रेणी:श्रेणी_का_नाम]]" के रूप में श्रेणी के लिये जोड़ भी डाला जा सकता है जो सम्बन्धित पृष्ठों को ढूंढने में सहायक हो सकता है।

पुराने लेखों के स्थान पर बनने वाले पुनर्निर्देश[संपादित करें]

लघु पथ:
वि:रिक्तपुन

कभी-कभी किसी अनुचित या अर्थहीन लेख को पूरा ख़ाली कर के उसे किसी अन्य लेख को अनुप्रेषित कर दिया जाता है। यह प्रक्रिया "रिक्तिकरण-और-पुनर्निर्देशन" (ब्लैन्क-ऐण्ड-रिडायरेक्ट) कहलाती है। अगर अन्य सम्पादक इस रिक्तिकरण से असहमत हैं तो लेख के अवतरण इतिहास से उसकी पुरानी सामग्री पुनःस्थापित​ की जा सकती है, क्योंकि वह लेख औपचारिक रूप से हटाया नहीं गया है। अगर सम्पादकों का आपसी मतभेद सुलझ नहीं रहा तो लेख को विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा के अनुसार निर्णय के लिये प्रस्तुत करें।

रिक्त किये गये लेख का इतिहास अन्य सम्पादकों को उपलब्ध रखने के लिये ध्येय लेख के ऊपर एक टिप्पणी छोड़ दें (चाहे कोई भी सामग्री विलय न की गई हो)। यह विशेषकर तब उपयोगी होता है जब रिक्त करे गये लेख को कम देखा गया हो और उसमें सम्पादन संख्या कम रही हो। अगर पुनर्निर्देश ऐसे किसी लेख का स्थान ले रहा है जिसे किसी प्रबन्धक ने हटाया है तो यह टिप्पणी ही सम्पादकों को एकमात्र संकेत है कि वह पूर्व लेख कभी अस्तित्व में भी था।

प्रतिस्थापित लेख की सामग्री[संपादित करें]

अगर लेख का विषय उल्लेखनीय समझा जा सकता है तो उसे पुनर्निर्देश द्वारा प्रतिस्थापित करते हुए {{Redirect with possibilities}} का साँचा लगा दें ताकि सम्पादकों को उसके भविष्य में एक लेख द्वारा स्वयं प्रतिस्थापित होने की सम्भावना का संकेत मिले। अगर यह सम्भावना बड़ी है तो लेख को पूरा रिक्त करने की बजाय स्रोतहीन सामग्री हटाएँ और सभी उचित सन्दर्भ बचाते हुए आधार का संकेत लगा दें।

ध्यान दें के कुछ प्रकार के रिक्तिकरण वर्जित हैं। उचित सामग्री का अकारण हटा देना बर्बरता की श्रेणी में आता है जो वर्जित है। कुछ अन्य प्रकार के रिक्तिकरण भी, जो बर्बरता तो नहीं माने जाते, फिर भी अवांछनीय हैं। अगर आप किसी लेख से काटकर सामग्री किसी अन्य लेख में चिपकाना चाह रहे हैं तो उस स्थिति में रिक्तिकरण नहीं बल्कि पृष्ठ में ऊपर की ओर "अधिक" के नीचे जाकर स्थानांतरण करें। अगर आप किसी लेख की सामग्री लेकर उसे किसी अन्य लेख की सामग्री में सम्मिलित करना चाह रहे हैं तो विकिपीडिया:विलय से मार्गदर्शन लें। स्थानांतरण और विलय की यह दोनों प्रक्रियाएँ अवतरण इतिहास के लिये सही जोड़ बना देती हैं, जो सम्पादकों के लिये लाभदायक तो है ही लेकिन क़ानूनी रूप से भी पुराने सम्पादकों को श्रेय देने के लिये अनिवार्य है।

जो टूटे न हों, वह पुनर्निर्देश प्रयोग करने वाले जोड़ "ठीक" न करें[संपादित करें]

लघु पथ:
वि:टूटानहीं
वि:पुन#टूटानहीं
वि:नहींटूटा

साधारण रूप से लेखों में पुनर्निर्देशन जोड़ों के प्रयोग से किसी अन्य लेख के लिये जोड़ डालने में कोई भी हानि नहीं है। कुछ सम्पादकों के मन में लेखों में पुनर्निर्देशन जोड़ मिलने पर उसे हटाकर सीधा ध्येय पृष्ठ का जोड़ डालने का लालच होता है। कुछ सीमित उदाहरणों में यह लाभकारी हो सकता है, लेकिन अकारण ही पुनर्निर्देशन न प्रयोग करने के लालच में कोई बदलाव न करें। ऐसा करना साधारणतः अनुपयोगी और समय व्यर्थ करने वाला काम होता है, जो हानिकारक भी हो सकता है। [[पुनर्निर्देश]] को [[ध्येयपृष्ठ|पुनर्निर्देश]] से प्रतिस्थापित करना लगभग हमेशा ही ग़लत कार्य है।

उदाहरण के लिये सम्पादकों को [[मोहनदास करमचंद गांधी]] को पुनर्निर्देश प्रयोग हटाने के लिये [[महात्मा गांधी]] या [[महात्मा गांधी|मोहनदास करमचंद गांधी]] द्वारा प्रतिस्थापित नहीं करना चाहिये। हाँ, यदि लेख के पाठन में [[महात्मा गांधी]] अधिक प्राकृतिक और उचित लगे तो उसे उस कारणवश अवश्य बदला जा सकता है।

पुनर्निर्देश प्रयोग से बचने का प्रयास करने के कारणों में यह सम्मिलित हैं:

  • पुनर्निर्देशों में भविष्य में विस्तार द्वारा बन सकने वाले लेखों की सम्भावनाएँ होती हैं ({{R with possibilities}} देखें)।
  • अकारण ही पुनर्निर्देश प्रयोग से बचने के लिये अधिक अदृश्य सामग्री डाल देने से सम्पादन के दौरान पठन अधिक अप्राकृतिक और कठिन हो जाता है।
  • जिन जोड़ों में पाइप ("|") का प्रयोग न हो, वे विशेष:कड़ियाँ औज़ार का बेहतर प्रयोग करते हैं, जो यह दर्शाने में आसानी देता है कि लेखों के लिये जोड़ कैसे बने हुए हैं और जोड़ों में बहुमात्रा बदलावों में भी सहायक होता है।
  • विकिपीडिया के नीति व मार्गदर्शी लेखों या अनुभागों के लिये बने लघुपथों व पुनर्निर्देशनों को न प्रयोग करने का प्रयास कभी भी न करें क्योंकि अनुभागों के नाम समय के साथ बदल सकते हैं और उनके लिये सीधा जोड़ बनाना हानिकारक हो सकता है। एक पुनर्निर्देश को सही करना कई जगहों पर धंसे हुए पाइप जोड़ों को ठीक करने से कहीं अधिक आसान है। (Rdcheck औज़ार किसी लेख में बदलाव के बाद यह बताने में बहुत सहायक है कि कौन से पुनर्निर्देशों को ठीक करने की आवश्यकता है।)
  • बहुविकल्पी पृष्ठों के लिये बने अनुप्रेषण हमेशा "(बहुविकल्पी)" शब्द के साथ ही शीर्षक बनाते हैं।
  • अगर सम्पादक बार-बार लेख शीर्षक के स्थान पर किसी पुनर्निर्देश का प्रयोग कर रहें हैं तो यह एक संकेत हो सकता है कि लेख का स्थानांतरण होना चाहिये। अगर जगह-जगह से अनुप्रेषण हटा दिये जाये तो यह "सही शीर्षक क्या हो" की यह उपयोगी जानकारी हमेशा के लिये खोई जा सकती है।

कुछ सीमित स्थितियों में पुनर्निर्देश प्रयोग से बचने का प्रयास करा जा सकता है:

लघु पथ:
वि:पुनटाल
  • सार साँचों में पुनर्निर्देश प्रयोग न करने का प्रयास करें। मसलन "भारत के राज्य" साँचे में यदि आप पुनर्निर्देशों के स्थान पर सीधे राज्यों के लेख के औपचारिक नाम प्रयोग करेंगे तो जब यह साँचा किसी राज्य के लेख के चरण भाग में होगा तो उस राज्य का नाम ठोस अक्षरों में दर्शाया जायेगा। यह बात उस साँचे के प्रयोग से राज्य-से-राज्य के कई लेखों में जाने में सहायक हो सकती है। परन्तु ध्यान दें: यदि पुनर्निर्देश किसी लेख का वैकल्पिक नाम होने के स्थान पर उसके किसी अनुभाग के लिये अनुप्रेषण हो तो साँचे में भी पुनर्निर्देश का ही प्रयोग करें।
  • अगर पाठक के जोड़ के ऊपर बिना क्लिक करे माउस लाने पर (यानि हवर करने पर) ग़लत तथ्य उभरकर प्रस्तुत होता है, तो उस स्थिति में पुनर्निर्देश प्रयोग से हटा जा सकता है।
  • अगर वर्तनी या शब्द-प्रयोग में ही ग़लती है तो लेख में उसे ठीक करें, लेकिन इस का यह बिलकुल अर्थ नहीं है कि उस ग़लत वर्तनी के लिये बना पुनर्निर्देश हटाया जाये ({{R from misspelling}} देखें)।
  • बहुविकल्पी पृष्ठों पर जोड़। यहाँ लेख का औपचारिक नाम प्रस्तुत करना सही हो सकता है।
  • "इन्हें भी देखें" अनुभाग में लेखों के लिये जोड़। यहाँ भी लेखों के औपचारिक नाम प्रस्तुत करना सही हो सकता है ताकि पाठक जल्दी से आंकन कर सकें कि वे किसी लेख को पहले ही पढ़ चुके हैं या नहीं।

स्व-पुनर्निर्देशन[संपादित करें]

लघु पथ:
वि:पुनस्वयं

किसी लेख में ऐसे पुनर्निर्देश जोड़ का प्रयोग करने से बचे जो सीधा ही उसी लेख पर वापस अनुप्रेषित हैं। ऐसा तब हो सकता है जब पुनर्निर्देश का शीर्षक कभी अलग लेख था जो अब इस लेख में विलय हो चुका है।

लेकिन ऐसे पुनर्निर्देश शीर्षक का जोड़ डालना स्वीकार्य है जो लेख के भीतर के किसी अनुभाग को अनुप्रेषित हो ({{R to section}} या {{R to anchor}} देखें), विशेषकर ऐसे लम्बे लेखों के लिये जिन्हें साधारण कम्प्यूटर की स्क्रीन पर पूरा एक-साथ नहीं देखा जा सकता। यहाँ पुनर्निर्देश डालने से पाठन में आसानी तो होती ही है, साथ ही ऐसे पुनर्निर्देशों को {{R with possibilities}} द्वारा बनाने से इनके भविष्य में अलग लेखों के रूप में विस्तृत होने की सम्भावना भी बढ़ जाती है। ध्यान रखें कि अनुभागों के लिये पुनर्निर्देश के अलावा अनुभाग-जोड़ का भी प्रयोग हो सकता है।

साँचों के लिये पुनर्निर्देश[संपादित करें]

साँचों के लिये भी पुनर्निर्देश बनाएँ जा सकते हैं, मसलन किसी "सा२" नामक साँचे के पाठ में यह डाला जाये:

#अनुप्रेषित [[साँचा:सा१]]

यह "सा१" के नाम वाले साँचे का प्रयोग "सा२" नाम के साथ करने का विकल्प दे देता है। सा१ के जितने भी पैरामीटर हैं वे सा२ में वही अर्थ रखेंगे जो सा१ में है।

सा२ में एक पुनर्निर्देशन श्रेणी डाली जा सकती है, जैसे कि {{R from move}}। यह सा२ के पृष्ठ में इस प्रकार दिखेगी:

#अनुप्रेषित [[साँचा:सा१]]

{{यह एक पुनर्निर्देशन है|from move}}

हालांकि साँचों में लघुपथ अक्सर प्रयोग होते है, कभी-कभी उनसे उलझन भी पैदा हो सकती है, जो साँचों के प्रयोग में पेचीदगी उत्पन्न कर सकता है। उदाहरण के लिये, यदि सा१ के प्रयोग के स्थान पर किसी नसा१ नामक नये साँचे का प्रयोग करना है, तो लेखों में पहले {{सा१}} खोजना होगा और फिर अलग से उसके लिये प्रयोगित सा२ जैसे हर लघुपथ के प्रयोग को भी खोजना होगा। अगर सा१ साँचें में कोई बदलाव करना हो तो भी सा२ के भिन्न लेखों में हुये प्रयोग पर दृष्टि रखनी होगी कि वह खराब न हो जाएँ।

पुनर्निर्देशन सुरक्षा[संपादित करें]

कभी-कभी किसी लेख के लिये बने पुनर्निर्देश को स्थाई रूप से सुरक्षित या अर्ध-सुरक्षित कर दिया जाता है। यह तब किया जाता है जब:

  1. उसे सम्पादित करने का कोई कारण नहीं
  2. उसे अक्सर विस्तृत लेखों में बदलने के अनुचित प्रयास होते रहते हैं
  3. उसका शीर्षक उसे अक्सर बर्बरता का शिकार बनाता रहता है
  4. वह किसी अति-विवादित विषय से सम्बन्धित है
  5. ऊपरलिखित में एक से अधिक कारण

श्रेणियों के लिये पुनर्निर्देशन[संपादित करें]

लघु पथ:
वि:पुन#श्रेणी

श्रेणियों के लिये #अनुप्रेषित [[:श्रेणी:ध्येय श्रेणी]] के प्रयोग से पुनर्निर्देश न बनाये, क्योंकि पुनर्निर्देशित श्रेणी में डाले गये लेख ध्येय श्रेणी में नहीं सम्मिलित किये जाते, जिसे से ठीक श्रेणीकरण में बाधा होती है। इस की एक और भी हानि है - क्योंकि अनुप्रेषित श्रेणी के जोड़ का रंग लाल नहीं होता इसलिये सम्पादक को यह भी संकेत नहीं मिलता की उसने लेख के साथ एक ग़लत श्रेणी लगा दी है। मीडियाविकि में इस समस्या को सुलझाने के प्रयास के बारे में T5311 पर पढ़ें।

इसके स्थान पर {{Category redirect|ध्येय श्रेणी}} का प्रयोग करें।

पुनर्निर्देशन उत्पत्ति का अवरोधन[संपादित करें]

लघु पथ:
वि:पुन#अवरोध

जब कोई पृष्ठ स्थानांतरित होता है तो उसके स्थान पर एक पुनर्निर्देशन स्वयं ही बनाया जाता है। कुछ सम्पादक (जिनके पास suppressredirect अधिकार है) स्थानांतरण में बने इस पुनर्निर्देशन को उत्पन्न होने से रोक सकते हैं। यह स्थानांतरण पृष्ठ पर उपस्थित "एक पुनर्निर्देशन पीछे छोड़ते जाएँ" नामक बक्से से चिन्ह हटाकर करा जाता है। वर्तमान में यह अधिकार प्रबन्धकों, बॉटों और कुश अन्य सम्पादकों के पास है। कुछ परिस्थितियाँ ऐसी होती हैं जिनमें वर्तमान नाम से पुनर्निर्देशन अनुचित होता है, जैसे कि बर्बरतापूर्ण-स्थानांतरण में, जहाँ यदि एक पुनर्निर्देश बने तो उसे हटाना होगा। इन स्थितियों में पुनर्निर्देशन उत्पत्ति के अवरोधन से समय बच सकता है।

लेकिन यह ध्यान रहे कि, साधारण स्थितियों में, स्थानांतरण का इतिहास बचाये रखना महत्वपूर्ण होता है और अगर बर्बरता या तुरंत ही उस नाम पर एक विस्तृत नया लेख बनाने जैसा कोई ठोस कारण न हो तो पुनर्निर्देशन उत्पत्ति को मत रोकें। पुनर्निर्देशन पाठकों के लिये पुराने लेख खोजने के लिये इतिहास छोड़ जाते है। इसलिये आमतौर पर न तो हम पुनर्निर्देशन उत्पत्ति को रोकते हैं और न ही पुनर्निर्देश हटाते हैं। जैसा कि ब्रायन विबर ने कहा] है, "जोड़ न तोड़ने से सब की भलाई होती है, सबसे पहले हमारी अपनी।" साथ ही विबर ने यह भी कहा कि "पुनर्निर्देशन हटाना विकिपाठकों के विरुद्ध अत्यंत शत्रुता दिखाने वाली क्रिया है और यह परियोजना को कम उपयोगी बनाता है।"

तकनीकी टिप्पणी[संपादित करें]

विकिपीडिया पुनर्निर्देशन HTTP पुनर्निर्देशन से भिन्न होता है, और विकिपीडिया पुनर्निर्देशन HTTP 302 का उत्तर उत्पन्न नहीं करता। विकिपीडिया पुनर्निर्देशन में मीडियाविकी सॉफ़्टवेयर ध्येय पृष्ठ की सामग्री शीर्षक के नीचे छोटे टाइप में अनुप्रेषण की जानकारी वाली टिप्पणी के साथ प्रस्तुत करता है, अर्थात इस परिस्थिति में जो HTML उत्पन्न होता है वह ध्येय पृष्ठ के HTML से ज़रा भिन्न होता है। जब पाठक डीएनए जैसे पुनर्निर्देशन पर क्लिक करता है तो पहले पृष्ठ URL का रूप https://hi.wikipedia.org/wiki/डीएनए होता है, लेकिन पृष्ठ उत्पन्न होने की प्रक्रिया में यह बदलकर https://hi.wikipedia.org/wiki/डीऑक्सीराइबोन्यूक्लिक_अम्ल बन जाता है। यह मीडियाविकी पुनर्निर्देशन प्रक्रिया HTTP पुनर्निर्देशन नहीं है। ☞ (यहाँ पर कुछ और पंक्तियों की सामग्री भी थी, लेकिन तकनीकी है - वार्ता में इसे डालने पर और सही अनुवाद पर विचार कर सकते हैं)

इन्हें भी देखें[संपादित करें]