सदस्य वार्ता:Anoop Vincent/1

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

लुसिआ कथरीन शोर[संपादित करें]

चित्र:Market square of potton bedfordshire.png
पोटन, बेडफोर्डशायर

लुसिया का जन्म फरवरी १८२४ में पोटन, बेडफोर्डशायरपर,इंगलैंड हुआ था और २४ मई १८९५ को उनकी म्र्त्यु हो गई थी। लुसिआ एक प्रसिद्ध अंग्रेजी कवयित्री थी। अरबेलिया सुज़ाना शोर उनकी बहन थी और वह भी लिखती थी। अरबेलिया और लुसिआ एक साथ अक्सर लिखते थे। वो दोनों अपनी बदी बहन से पधाय जात था, जो युवा की म्र्त्यु हो गई थी।

इंगलैंड[संपादित करें]

इंगलैंड चार गृह राष्ट्रों में से सबसे बडा है जो यूनाइटेड किगडम बना रहा है। यह लगभग ५२ मिलियन निवासियों(यूके की कुल आबादी का लगभग ८४%) के साथ चार मेंसबसे अधिक आबादी वाला है। स्कॉटलैंड इगलैंड के उतर में बैटता है।[1]

जीवन परिचय[संपादित करें]

लुसिआ कैथरीन शोर, सबसे छोटा था उसके दो भाई और दो बहनें थीं उसके माता-पिता थोमस शोर और मार्गरेट ऐनी टॉपीनी थे। लुसिआ शोर और उसकी दो बहनों, मार्जर एमिली शोर और अरबला सुजाना शोर, बुद्धिमान थे। उन्हें सीखने के लिए जुनून था और साहित्य में रुचि थी एमिली जो युवा की मृत्यु हो गई एमिली ने अपनी दो छोटी बहनों को सिखाया लुसिआ शोर अक्सर उसकी बहन अरबरा शोर के साथ एक लेखक के रूप में काम करते थे पहली रचना लुसिआ शोर ने लिखा था युद्ध संगीत जो क्रीमियन युद्ध पर एक कविता थी अरबेलला ने इस कविता को अपने ज्ञान के बिना प्रक्षक को भेजा और फिर दो बहनों एक समझौते पर आईं और रचना गीत के रूप में दोबारा प्रकाशित हुई। क्रीमियन युध्द के दोरान लाडा गया था, (अक्टूबर १८५३-फरवरी १८५६)[2]

थोमस शोर[संपादित करें]

थोमस शोर तीन उल्लेखनीय लेखकों के पिता थे। सबसे बड़े (मार्गरेट) एमिली शोर की मृत्यु हो गई और उसकी डायरी के लिए जाना जाता है। एमिली ने अपनी दो छोटी बहनों लुइसा कैथरीन शोर और अरबेल शोर को सिखाया और थोमस शोर के दो पुत्र थे।

साहित्यिक इतिहास[संपादित करें]

दो बहनों ने कई अन्य साहित्यिक प्रस्तुतियों को एक साथ ईकट्टा किया, जैसे कि द्विपसमूह का जिप्सम,१८५९ में एक गीतात्मक कविता,फ्राँ डोल्सीनो,और १८७१ में अन्य कविताएं और १८९० में ईलीगेस और स्मारक। एक साथ अपने आखिरी उत्पादन में,लुसिआ शोर ने दो अभिभावकों को प्रकाशित किया, एक उनकी सबसे पुरानी बहन मार्गरेट एमिली शोर के नुकसान के लिए थी, जो तपेदिक से पीडित थे और दूसरे उनके भाई मैकवर्थ चाल्र्स शोर के लिए थे जो १८६० में समुद्र में खो गया था। दोनों बहनों ने मर्गरेट एमिली शोर के जर्नल से एक चयन प्रकाशित किया और यह साबित करता है कि कैसे प्रतिभाशाली वह एक लेखक था लुसिआ और अरबेलला महिलाअओं के कारणों के समर्थक थे, लुसिआ भी एक उदारवादी और एक मताधिकारदाता थीं।

अप्रैल १८७४ में,लुसिआ शोर ने वेस्टमिंस्टर रिव्यू के लिए एक लेख प्रस्तुत किया,जिसमें महिला आंदोलन[3] पर चर्चा हुई और ईसे कई बार पुन: मुद्रित किया गया। ईस पत्रिका में,वह चर्चा करती है। शोर की साहित्यिक कृतियों नारीवादी कला आंदोलन को प्रतिबिंबित करती हैं क्योंकि उनकी कविताओं अक्सर महिलाओं के अनुभवों को प्रतिबिंबोत करती है। अपने छोटे दिनों में, लुसिआ शोर ने फुलहम में समय बिताया जहं वह अभिनेत्री फनी कैम्बल और लेखक सारा कोलेरिज से मिले।वह फ्रांस के चारों ओर चले गए और पेरिस में तीन साल तक रहे।१८६१ में, शोर ने हैनीबल को प्रकाशित किया,जो कि दो भाग के कविता में पांच कृत्यों के साथ एक दो-भाग का नाटक है।ईस नाटक को एथेनीम और द्शनिवार की समीक्षा से उत्कृश्ट समीक्षा मीली बाद के जीवन में, वह अपनी बहन अबरबेला के साथ आँर्करर्ड पाईल,पाँयले में रहते थे। २४ मई १८९५ को,कैथरीन लुसिआ शोर विंबलडन में १६ पहाडी की सवारी में सतर के दशक की उम्र में निधन हो गया। विम्बलडन में वोकिग क्रिमेटोरियम में उसका अंतिम संस्कार किया गया था। उसकी अरबेलाने,उसके और उसके कार्यों के एक स्ंस्मरण प्रकाशित किया।

संदर्भ/references[संपादित करें]

  1. http://wikitravel.org/en/England
  2. https://www.britannica.com/event/Crimean-War
  3. http://www.cddc.vt.edu/feminism/bri.html