सदस्य वार्ता:अनुनाद सिंह/पुरालेख14

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अनुक्रम

परमार भोज[संपादित करें]

महाराजा भोज पंवार वंश के परमार कुल में हो चुके एक महान राजा है ! उनकी वंशावली का जिक्र पाठको के लिए उपयोगी होगा ! कृपया देखे -https://books.google.co.in/books?id=0mygAAAAMAAJ&q=%E0%A4%AA%E0%A4%82%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%B0+%E0%A4%AD%E0%A5%8B%E0%A4%9C&dq=%E0%A4%AA%E0%A4%82%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%B0+%E0%A4%AD%E0%A5%8B%E0%A4%9C&hl=en&sa=X&ved=0ahUKEwiN_szfuaXaAhVK6Y8KHUFeAUYQ6AEIUTAG , https://books.google.co.in/books?id=DuAtAAAAMAAJ&dq=searchwithinvolume&q=bhoj, https://books.google.co.in/books?id=CHbiAAAAMAAJ&dq=bhoj+pawar&focus=searchwithinvolume&q=bhoj .

नागरीप्रचारिणी सभा[संपादित करें]

नमस्कार, क्या उपरोक्त लेख में नागरी प्रचारिणी सभा बेहतर वर्तनी नहीं होगी? नागरी प्रचारिणी पत्रिका में भी यही वर्तनी है। यदि हाँ, तो कृपया कर दीजिये। धन्यवाद।--आशीष भटनागरवार्ता 23:26, 24 अप्रैल 2018 (UTC)

@आशीष भटनागर: जी, नागरीप्रचारिणी सभा ने अपना नाम 'नागरीप्रचारिणी सभा' ही रखा था। उदाहरण के लिए, 'नागरीप्रचारिणी पत्रिका' के पुराने अंकों के कुछ स्कैन किए गये पृष्ट देखे जा सकते हैं। उनमें 'नागरीप्रचारिणी' ही लिखा गया है, 'नागरी प्रचारिणी' नहीं। अतः नागरीप्रचारिणी सभा और नागरीप्रचारिणी पत्रिका ही लिखना सही होगा।--अनुनाद सिंह (वार्ता) 03:29, 25 अप्रैल 2018 (UTC)
तब ठीक है। वैसे मेरा आशय केवल नागरी और प्रचारिणी के बीच रिक्त स्थान से ही था। यदि ये जुडा हुआ है तो ठीक है, ऐसे ही रहने दें। त्वरित उत्तर हेतु धन्यवाद (यहां भी और वहां भी)।--आशीष भटनागरवार्ता 05:33, 25 अप्रैल 2018 (UTC)

अजरबैजान का वास्तुशिल्प पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ अजरबैजान का वास्तुशिल्प को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड व1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

व1 • अर्थहीन नाम अथवा सम्पूर्णतया अर्थहीन सामग्री वाले पृष्ठ

इसमें वे पृष्ठ आते हैं जिनका नाम अर्थहीन है, उदाहरण:"स्द्ग्फ्द्ग"; अथवा जिनमें सामग्री अर्थहीन है, चाहे उसका नाम अर्थहीन न हो, उदाहरण:लेख जिसमें सामग्री है:"ध्ब्द्फ्ह्फ़"

यदि आपने यह पृष्ठ परीक्षण के लिये बनाया था तो उसके लिये प्रयोगस्थल का उपयोग करें। यदि आप विकिपीडिया पर हिन्दी टाइप करना सीखना चाहते हैं तो देवनागरी में कैसे टाइप करें पृष्ठ देखें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

यदि यह पृष्ठ हटा दिया गया है, तो आप चौपाल पर इस पृष्ठ को अपने सदस्य उप-पृष्ठ में डलवाने, अथवा इसकी सामग्री ई-मेल द्वारा प्राप्त करने हेतु अनुरोध कर सकते हैं।अह्मद निसार (वार्ता) 16:05, 29 अप्रैल 2018 (UTC)

चित्र:Baba-balbir-singh200 07102008.jpg पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ चित्र:Baba-balbir-singh200 07102008.jpg को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड फ़1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

फ़1 • 14 दिन(2 सप्ताह) से अधिक समय तक कोई लाइसेंस न होना

इसमें वे सभी फाइलें आती हैं जिनमें अपलोड होने से दो सप्ताह के बाद तक भी कोई लाइसेंस नहीं दिया गया है। ऐसा होने पर यदि फ़ाइल पुरानी होने के कारण सार्वजनिक क्षेत्र(पब्लिक डोमेन) में नहीं होगी, तो उसे शीघ्र हटा दिया जाएगा।

ध्यान रखें कि विकिपीडिया पर केवल मुक्त फ़ाइलें ही रखी जा सकती हैं। यह फ़ाइल तभी रखी जा सकती है यदि इसका कॉपीराइट धारक इसे किसी मुक्त लाइसेंस के अंतर्गत विमोचित करे। यदि ऐसा न हो तो इसे विकिपीडिया पर नहीं रखा जा सकता। यदि इस फ़ाइल के कॉपीराइट की जानकारी आपको नहीं है तो आप चौपाल पर सहायता माँग सकते हैं। सहायता माँगते समय कृपया इसका स्रोत (जहाँ से आपको यह फ़ाइल मिली) अवश्य बताएँ। यदि आपको इसके कॉपीराइट की जानकारी है तो कृपया श्रेणी:कॉपीराइट साँचे में से कोई उपयुक्त साँचा फ़ाइल पर लगा दें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

सिद्धार्थ घई (वार्ता) 16:31, 20 जुलाई 2018 (UTC)

कट-पेस्ट स्थानांतरण[संपादित करें]

अनुनाद जी आपके द्वारा समन्वित सार्वत्रिक समय लेख से सारी सामग्री ले जाकर सार्व निर्देशांकित काल नामक शीर्षक पर डाल दी गयी है। इससे पिछले लेख के संपादनों का इतिहास वहीं छूट गया है। विकिपरंपरा में इस तरह कट-पेस्ट द्वारा शीर्षक बदलाव उचित नहीं माना जाता। इसकी जगह समुचित विधि से स्थानांतरण किया जाता है जिससे पृष्ठ का इतिहास वहीं सुरक्षित रहे जहाँ (जिस शीर्षक पर) लेख है। यदि नया शीर्षक पहले से मौजूद है तो आप {{नाम बदलें}} के द्वारा (विधि साँचे के जानकरी पन्ने पर लिखी है) प्रबंधकों से यह अनुरोध कर सकते हैं। कुछ दिनों पूर्व आपने यही कार्य ब्लैक होल (काला छिद्र) की सामग्री को कृष्ण विवर शीर्षक पर ले जाने के लिए किया था जिसे सकारण पूर्ववत करने के बावज़ूद आपने फिर से इस तरह के कट-पेस्ट द्वारा स्थानांतरित कर दिया।

यदि आप इस तरह से स्थानांतरण अज्ञानवश कर रहे हैं तो कृपया प्रबंधकों से यथोचित जानकारी हासिल करें; यदि ऐसा जान बूझकर कर रहे हैं तो इसे प्रथम चेतावनी समझें, इस तरह का स्थानांतरण अराजक कार्य है और आपके खिलाफ़ कारवाई की जा सकती है। सादर धन्यवाद।--SM7--बातचीत-- 09:53, 11 अगस्त 2018 (UTC)

मिय़ा एस एम जी, लगता है आप क़ाफ़ी ग़ु़स़्स़े में हैं। शायद आपने {{नाम बदलें}} को बिना पढ़े और बिना समझ़े मुझ पर कार्वाई का फ़त़व़ा ज़ारी कर दिया। इसके अलावा हिन्दी विकी के लेखों के कितने लेखों में कुछ काम की वार्ता है? यह तो वैसे ही हो गया कि इस बात पर विवाद हो कि ह़ल़ाल़ किया हुआ अथवा झ़ट़के वाला खाना चाहिये, इस पर नहीं कि मांस खाना ठीक है या नहीं। क्या हिन्दी और हिन्दी विकी का हित बाद में आता है और प्रक्रिया का क़ठ़मुल्लाप़न पहले? क्या वार्ता पृष्ट का स्थानान्तरण बाद में स्वचालित ढंग से या प्रबन्धकों द्वारा सम्भव नहीं है? अनुनाद सिंह (वार्ता) 11:22, 11 अगस्त 2018 (UTC)
इसीलिए सुझाव दिया है कि प्रबंधकों से पूछ लें। हो सके तो किसी प्रबंधक से हामी भी भरवा लें कि वह आपके द्वारा इस तरह छोड़ी गयी अराजकता को सुधारने की पूरी जिम्मेदारी ले और एक उपयुक्त समयावधि के भीतर यह कार्य संपन्न करे। --SM7--बातचीत-- 13:27, 11 अगस्त 2018 (UTC)
नहीं ज़नाब, आपने यह सुझाव नहीं दिया है। एक बार अपना 'सुझाव' फ़िर से पढ़ लीजिए। कोई प्रबन्धकों से एक बार निवेदन करे कि अमुक का नाम बदलें, फिर प्रबन्धक उसे बदलें-- इसमें क्या प्रबन्धक को काम नहीं करना पड़ेगा? इसमें 'पूरी जिम्मेदारी' नहीं है? इसमें 'उपयुक्त समयावधि' का झमेला नहीं है? --अनुनाद सिंह (वार्ता) 15:37, 11 अगस्त 2018 (UTC)
महोदय, प्रबंधकों को काम करना पड़ेगा क्योंकि यह प्रबंधकों का ही काम है। और समयावधि जो आपको "झमेला" प्रतीत हो रही वह इसलिए क्योंकि यदि आप {{नाम बदलें}} के प्रयोग से अनुरोध करेंगे तो प्रबंधकों के कार्य के तौर पर यह श्रेणीबद्ध होगा, इसके बाद उनकी मर्जी कि चाहें जब करें। अभी आप जिस तरह चुपचाप कट-पेस्ट करके निकल ले रहे, शायद प्रबंधकों को कभी पता भी न चले कि आपने ऐसा कुछ किया और उन्हें उचित तरीके से स्थानांतरण करना है, क्योंकि आप स्वतः परीक्षित सदस्य हैं और आपके संपादनों की कोई जाँच नहीं होती और तीस दिन में आपका इस तरह का कार्य "हाल के बदलावों" की सूची से हट जाएगा। इसलिए थोड़ा ध्यान से देखिये, मैंने दो सुझाव दिए हैं, पहला स्थानांतरण अनुरोध करने का, दूसरा आप जो चाहते हैं कि प्रबंधक खुद आपके इस तरह के कार्य को देखकर उचित कार्रवाई करें और सही तरीके से स्थानांतरण करें, जिसमें किसी प्रबंधक को इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप के किये को ध्यान देकर महीने भर के अंदर सुधार सके। --SM7--बातचीत-- 16:26, 11 अगस्त 2018 (UTC)
मैं प्रबंधकों को पिंग कर देता हूँ। @संजीव जी, अनिरुद्ध जी, माला जी, सिद्धार्थ जी, हिंदुस्तानवासी जी, अजीत जी, और प्रॉन्स जी: अगर आप में से कोई स्वयं तैयार हो इनके इस तरह के कार्य को जाँचने और सही तरीके से इतिहास विलय करने के लिए। अन्यथा इन्हें समझायें कि यह क्यों उचित नहीं जो अभी ये कर रहे। मेरे समझाने से इन्हें समझ में नहीं आ सकता क्योंकि ये मेरा लिखा मानकर पढ़ते हैं कि मैं "मियाँ" हूँ। --SM7--बातचीत-- 16:31, 11 अगस्त 2018 (UTC)

┌────────────────┘
मिया एसएम७ जी, क्या सही है क्या नहीं, ये बाद में बताइयेगा, पहले ये बताइये कि मेरे प्रश्नों के उत्तर कहाँ है? मेरे समझाने से आपको समझ में क्यों नहीं आता??? क्या आप हिन्दी विकि को उस स्थिति में ले जाना चाहते हैं कि आधे लोग परमिशन मांगते रहें और आधे लोग परमिशन देते रहें, और कोई काम न हो? क्या प्रबन्धकों से यह भी अपेक्षा है कि वे निश्चित कर सकें कि निवेदित स्थानान्तरण का 'नाम' सही है या नहीं? इसके लिए उनको कम समय लगाना पड़ेगा? क्या एक माह तक हिन्दी विकि पर कोई प्रबन्धक होगा ही नहीं? क्या खाली वार्ता पृष्ट स्थानान्तरित करना अधिक आवश्यक है और लेख बनाना कम?

क्या आपने {{नाम बदलें}} को पढ़ने की त़क़ल्ल़ुफ़ की???? वहाँ जिन तीन स्थितियों में इस तरह का अनुरोध करने को कहा गया है, उनमें से कौन इस मामले में लाग़ू होत़ा है? --अनुनाद सिंह (वार्ता) 17:38, 11 अगस्त 2018 (UTC)

@संजीव जी, अनिरुद्ध जी, माला जी, सिद्धार्थ जी, हिंदुस्तानवासी जी, अजीत जी, और प्रॉन्स जी: कोई इनके प्रश्नों का उत्तर दें।--SM7--बातचीत-- 18:06, 11 अगस्त 2018 (UTC)

@संजीव जी, अनिरुद्ध जी, माला जी, सिद्धार्थ जी, हिंदुस्तानवासी जी, अजीत जी, और प्रॉन्स जी: कोई इन्हें समझाइये कि प्रबन्धकों को जबरन इसमें न घसीटें। यदि निरुत्तर हो गये हों तो अपना चेतावनी का फ़त़व़ा व़ाप़स़ लीजिए। --अनुनाद सिंह (वार्ता) 18:18, 11 अगस्त 2018 (UTC)

दोनों महानुभावों से अनुरोध है कि कृपया शांति का दान दें और केवल मुद्दे पर चर्चा करें। व्यक्तिगत आरोप अथवा क्रोध का प्रदर्शन करने से बचें। जहाँ तक पृष्ठ विलय (पाठ विलय और इतिहास विलय) की बात है ये एक आदर्श विलीनीकरण प्रक्रिया हैं और इसका पालन किया जाए तो सदैव स्वीकार्य है, परंतु पाठ विलय कोई भी कर सकता है और इतिहास के एकत्रीकरण का अधिकार केवल प्रबंधकों के पास ही है। सदस्य पाठ विलय कर सकते हैं और ऐसा करना कोई गुनाह नहीं, न तो सजा के पात्र प्रक्रिया है। सदस्यों के पास इतिहास विलय का अधिकार ही नहीं है। वर्तमान में विलय के अनेक अनुरोध पड़े हैं ये बात भी सही है और इससे कार्य में बाधा उत्पन्न होती है ये भी सही है। विकिपीडिया:विलय पर पृष्ठ विलय की नीति है। इस नीति के अनुसार स्पष्ट रूप से ऐसा कुछ भी नहीं लिखा है कि किसी भी स्थिति में सदस्यों को विलय का अनुरोध करना बाध्य रहेगा या ऐसे ही पाठ का विलय कर देने पर सजा का अधिकारी हो जाएगा। सदस्य पाठ का विलय नहीं कर सकते ऐसा भी नहीं लिखा है अतः ये सदस्य के विवेक के ऊपर निर्भर है। विकि के पंचशील का एक सिद्धांत है कि कोई नियम नहीं नहीं है। यहाँ सदस्य से कहाँ गया है कि कोई प्रबंधक विलय का दायित्व लें परंतु वर्तमान में जिस प्रकार विलय के अनेक अनुरोध ऐसे ही पड़े हैं उसे ध्यान में रखते हुए कोई ये नहीं कह सकता कि विलय अनुरोध पर समयावधि में कार्यवाही हो जाएगी। फिर भी इतिहास समेत विलय एक आदर्श प्रक्रिया है और यथासंभव उसका उपयोग करने की अनुसंशा की जाती है।

सदस्य एसएम७ जी से एक और अनुरोध करना चाहूंगा कि आपको सदस्य के किसी भी कार्य से आपत्ति है तो आप उनसे उनके वार्तापृष्ठ पर वार्ता अवश्य कर सकते हैं परंतु ये एक अनुरोध के रूप में होना चाहिए। बात न सुलझे तो आप प्रबंधक सूचनापट्ट पे अथवा चौपाल पर भी लिख सकते हैं। यहाँ भी प्रबंधकों को टैग कर सकते हैं। सीधे ही सदस्य के कार्य को गुनाह बताकर प्रतिबंधित करने का डर नहीं दिखाना चाहिए। सभी सदस्य एक दूसरें को इस तरह से चेतावनी देने लगे तो विकि में अराजकता फैल जाएगी अतः ये कार्य पुनरीक्षक अथवा प्रबंधक करें तभी विकि में शांति का माहौल बना रहेगा। आप दोनों सदस्य भूतकाल में प्रबंधक रह चुके हैं। अनुनाद जी प्रबंधक पद छोड़ने के बाद मुख्यतः केवल अपने कार्य में ही ध्यान केंद्रित करते हैं।--आर्यावर्त (वार्ता) 03:31, 12 अगस्त 2018 (UTC)

अनुनाद जी, यहाँ अन्य विकि-प्रकल्प से आयात पर श्रेय देने तथा स्थानान्तरण कब करें जैसे पृष्ठ लिखे हुये हैं। अर्थात् हमें लेखों का स्थानान्तरण करने की कुछ विशिष्ट परिस्थितियों में अनुमति है। अब आपके द्वारा सुझाव दिये हुये तीनों नियमों को उल्लेख करूँगा: (सबसे पहले, यह नियमावली नहीं बल्कि साँचा है अतः इसमें इस साँचे के उपयोग के नियम हैं न कि सामान्य नियम):
  1. पहले बिन्दु में पहले से ही लिखा हुआ है कि यदि पहले से उचित शीर्षक पर लेख बना हुआ हो तो उसके लिये यह साँचा लगाया जायेगा। चूँकि SM7 जी द्वारा उपर दिये गये सुझाव में दोनों ही स्थितियों में लक्ष्य लेख का शीर्षक पहले से बना हुआ नहीं था। अतः इसकी आवश्यकता शायद नहीं थी।
  2. नये नाम को कोई चुनौति दे, ऐसा भी शायद नहीं था। (वैसे कृष्ण विवर नाम का सुझाव कहाँ से आया?)
  3. आप शायद अन्य लोगों से राय नहीं लेना चाहते अतः यह तो शायद ही लागू हो। (शायद आप एक से अधिक लोगों के समय की बर्बादी न होने के कारण ऐसा नहीं करेंगे।)
लेकिन इसमें कहीं भी इसके लिए मना नहीं किया गया कि आप लेख का स्थानान्तरण करने के स्थान पर उसकी सामग्री कॉपी-पेस्ट करें। SM7 जी ने आपको इसके लिए मना किया है। आप सम्बंधित लेखों को स्थानान्तरित कर सकते थे। क्या आपको स्थानान्तरण करने में कोई समस्या आ रही है? यदि आप स्थानान्तरण करने में असमर्थ हैं तो {{नाम बदलें}} साँचे के नियम#1 के अनुरूप स्थानान्तरण अनुरोध कर सकते हैं।☆★संजीव कुमार (✉✉) 03:54, 12 अगस्त 2018 (UTC)
@आर्यावर्त: उकसावे की चर्चा किसी भी सदस्य को शोभा नहीं देती। किसी को पुकारते समय मिया शब्द (सदस्य की पूर्व अनुमति के) काम में लेना भी विकि-परम्परा नहीं है। इसके अतिरिक्त आपको यहाँ सदस्य की चेतावनी पर टिप्पणी के लिए नहीं बुलाया गया। वैसे भी यह प्रबन्धकों के अधिकार क्षेत्र में होता है कि वो चेतावनी को सकारात्मक रूप से लें। चेतावनी में कहीं भी प्रबन्धित करने के बारे में नहीं कहा गया। बल्कि ये चेतावनी एक बड़ी चर्चा से बचने का आग्रह करती है, अर्थात् हम अपना मामला यहाँ ही सुलझाना चाहते हैं अन्यथा प्रबन्धक सूचनापट अथवा चौपाल पर जाकर लम्बी चर्चा करनी पड़ेगी। कृपया मुद्दे को भटकाने के स्थान पर सही बिन्दू पर चर्चा करने का प्रयास करें।☆★संजीव कुमार (✉✉) 04:00, 12 अगस्त 2018 (UTC)
@आर्यावर्त: क्या आप स्थानान्तरण की आवश्यकता ही नहीं समझ पा रहे हो? फिर इतिहास विलय जैसी आवश्यकता क्यों हुई?☆★संजीव कुमार (✉✉) 04:06, 12 अगस्त 2018 (UTC)
@संजीव कुमार: जी, कृपया इसे थोड़ा और स्पष्ट करें कि किसी को पुकारते समय मिया शब्द (सदस्य की पूर्व अनुमति के) काम में लेना भी विकि-परम्परा नहीं है। --> 'मिया' शब्द को आप क्या मानते हैं, अपमानजनक? यह भी विचित्र है कि आप 'चेतावनी' को सकारात्मक लेने और 'मिया' को नकारात्मक लेने का संकेत दे रहे हैं!!! बाकी, आपने माना कि कट-पेस्ट करने की मनाही नहीं है। व्याख्या के लिए धन्यवाद।--अनुनाद सिंह (वार्ता) 04:49, 12 अगस्त 2018 (UTC)
@आर्यावर्त: जी, आपके सन्देश ने मेरे विश्वास को पक्का किया है कि हिन्दी विकी पर ऐसे प्रबन्धक हैं जो चीजों को सही परिपेक्ष्य में देख पाते हैं, विकी पर लाइसेन्स राज को बुरा मानते हैं, प्रबन्धकों के कार्य को वहीं तक सीमित करना चाहते हैं जहाँ तक हिन्दी विकी का कार्य बाधित न हो। --अनुनाद सिंह (वार्ता) 05:05, 12 अगस्त 2018 (UTC)
@संजीव कुमार: जी, चर्चा में दो उदाहरण दिए गए हैं। मेरी इतिहास विलय की टिप्पणी कृष्ण विवर वाले संपादन को लेकर थी। जहां से इस प्रकरण का आरम्भ हुआ था। बाद में दोनों पृष्ठों का इतिहास विलय साथी प्रबंधक महोदय के द्वारा कर दिया गया था। एसएम७ जी की निम्नलिखित टिप्पणी में भी प्रबंधक को इतिहास विलय के लिए पूछा गया है।
मैं प्रबंधकों को पिंग कर देता हूँ। {{सुनो-प्रबंधक}} अगर आप में से कोई स्वयं तैयार हो इनके इस तरह के कार्य को जाँचने और सही तरीके से इतिहास विलय करने के लिए। अन्यथा इन्हें समझायें कि यह क्यों उचित नहीं जो अभी ये कर रहे। मेरे समझाने से इन्हें समझ में नहीं आ सकता क्योंकि ये मेरा लिखा मानकर पढ़ते हैं कि मैं "मियाँ" हूँ।

दूसरी चर्चा स्थानांतरण को लेकर है। इसमें इतिहास में मुझे कुछ समझ नहीं आया। पृष्ठ समन्वित सार्वत्रिक समय के इतिहास में केवल एक ही अवतरण है जिसमें हिन्दुस्थानवासी जी ने पृष्ठ का नाम बदला है। सार्व निर्देशांकित काल के इतिहास में अनुनाद जी ने पाठ को हटाकर पृष्ठ को निर्देशित कर दिया था ये अवतरण मुझे मिला और हिन्दुस्थानवासी जी ने पाठ को पुनर्स्थापित भी कर दिया था और स्थानांतरण अथवा पाठ पुनर्स्थापित करते समय अथवा यू कहों कि एक वरिष्ठ सदस्य के बदलाव को पूर्ववत करते समय संपादन सारांश में कोई भी कारण नहीं दिया था अतः प्रारंभिक रूप से ये तय कर पाना मुश्किल था कि वास्तव में हुआ क्या है। अतः इस विषय में मेरी उपरोक्त टिप्पणी में कोई उल्लेख नहीं था। मैं जाँच कर रहा था कि हुआ क्या है। इस प्रकार के संपादन पूर्ववत कर देने से पूर्व चर्चा करनी हो तो थोड़ा धैर्य रखना चाहिए और संपादन को उसी स्थिति में रखना चाहिए जिससे निर्णय ले सकें। इन दोनों पृष्ठों में मुझे एसएम७ जी का कोई संपादन नहीं दिखा था जब कि चर्चा सम७ जी कर रहे हैं और कार्यवाही हिन्दुस्थानवासी जी ने की थी। ये भी सम्भव है कि एसएम७ जी कार्यवाही करने से पूर्व सदस्य से चर्चा कर रहे हैं और हिन्दुस्थानवासी जी ने चर्चा पूरी होने से पूर्व ही सम्पादनों को उल्टाकर कार्यवाही कर दी। कुछ भी निश्वित रूप से तय नहीं कर पाया अतः मेरी टिप्पणी इसे छोड़कर इसी चर्चा से जुड़े दूसरे विषय पर केंद्रित थी। स्थानांतर वाला मामला स्पष्ट हो जाएं तो टिप्पणी देना ठीक रहेगा।--आर्यावर्त (वार्ता) 06:02, 12 अगस्त 2018 (UTC)

@आर्यावर्त और संजीव कुमार: ऊपर दिए उदाहरणों में आप लोगों को मूल समस्या इसलिए नहीं समझ में आ रही क्योंकि हिंदुस्थान वासी जी ने मेरे आपत्ति करने के बाद दोनों दशाओं में उचित तरीके से इतिहास विलय कर दिया है। (हिंदुस्थान वासी जी से आग्रह करूँगा कि अगले उदाहरण में ऐसा न करें, जब तक चर्चा चल रही है।)
अब आप दूसरा उदाहरण देख सकते हैं: वसीय अम्ल और वसा अम्ल दो लेख मौजूद थे; दोनों का इतिहास देखें। वसीय अम्ल लेख से सदस्य ने सारी सामग्री कट की है और सारांश दिया है (वसा अम्ल को अनुप्रेषित) और सारी कट की सामग्री वसा अम्ल लेख में पेस्ट किया है (बिना किसी संपादन सारांश के)। यह उदाहरण उस दशा का है जब इन्होने दो लेखों का अपने हिसाब से विलय किया है। हाल के ऐसे कुछ अन्य उदाहरण युग्म हैं - मिथेन और मेथेन, पाइथन प्रोग्रामिंग और पाइथन इत्यादि।
अब तीसरा उदाहरण स्थानांतरण अनुरोध (होना चाहिए था) का देखें: एक लेख शरीरविज्ञान पहले से मौजूद था जिसे सदस्य शरीरक्रिया विज्ञान शीर्षक पर ले जाना चाहते थे, लेकिन चूँकि ये शीर्षक पहले से शरीरविज्ञान पर अनुप्रेषित था और इसके इतिहास में एक से अधिक अवतरण थे, इन्होने अनुप्रेषण को हटा कर उसकी जगह शरीरविज्ञान लेख की सारी सामग्री डाल दी; शरीरविज्ञान का सारा इतिहास अभी वहीं पड़ा हुआ है जबकि प्रबंधक द्वारा यह स्थानांतरण किया जाता तो ऐसा नहीं होता। ऐसे कुछ अन्य उदाहरण नईहाटी और नैहाटि (यह वाला मजेदार है क्योंकि दोनों में मुख्य योगदान इन्ही का है, लेकिन आप यह नहीं कर सकते कि ये खुद का श्रेय इतिहास में रखें या न रखें ये इनकी मर्ज़ी है)
चौथा उदाहरण देखें, यहाँ न तो विलय किया गया है और न ही किसी स्थानांतरण अनुरोध की आवाश्यकता थी। दूसरा शीर्षक मौजूद ही नहीं था और बड़ी आसानी से ये स्वतः परीक्षित होने के नाते स्थानांतरण कर सकते थे और इसके बाद उसे बहुविकल्पी पृष्ठ बना सकते थे। लेकिन इन्होने नहीं किया, पंचतत्व लेख की सारी सामग्री हटा कर उसे पञ्चतत्त्व पर अनुप्रेषित किया और पञ्चतत्त्व नाम से शुरू से नया बहुविकल्पी पन्ना शुरू किया।
क्या यह मनमानी और अराजकता नहीं है? --SM7--बातचीत-- 09:27, 12 अगस्त 2018 (UTC)
@SM7: जी, विस्तृत जानकारी प्रदान करने हेतु धन्यवाद। मैं इस मुद्दे को जहाँ तक समझा था मैंने टिप्पणी भी लिखी है। आपकी बात उचित है कि इतिहास वहीं पड़ा है और कोई अनुप्रेषण में पड़े इतिहास को देखेगा नहीं। पाठ का विलय करने के बाद इतिहास का विलय करना चाहिए परंतु अनुनाद जी के पास इतिहास विलय करने का अधिकार नहीं है। ये भी सही है कि विलय के अनेकों अनुरोध सालों से पड़े हैं। इतिहास विलय की प्रक्रिया पूर्णतः उचित होते हुए भी सदस्य के पास अधिकार ही नहीं है तो आग्रह नहीं कर सकते। आग्रह के बाद सदस्य पाठ का विलय नहीं करेंगे और विलय का अनुरोध करेंगे तब विलय कब होगा ये कोई भी नहीं कह सकता क्योंकि वर्तमान में अनेक अनुरोध अनिर्णीत हैं। वि:विलय के अनुसार हमारे पास ऐसी कोई नीति भी नहीं है कि सदस्य पाठ का विलय नहीं कर सकते या इतिहास विलय हेतु सदस्य को अनुरोध करना पड़ेगा अन्यथा ये नीतिगत नहीं होगा। फिर भी ये निर्विवादित है कि इतिहास का भी विलय किया जाए ये स्वीकार योग्य हैं परंतु कार्य भी बाधित न हो और समस्या भी उत्पन्न न हो ऐसा कोई हल ढूंढना चाहिए।

मैं आप दोनों को अनुरोध करना चाहूंगा कि केवल मुद्दे पर ही चर्चा करें और व्यक्तिगत आरोप लगाने से बचें। दोनों एक दूसरे को समझने का प्रयत्न करें और समाधान ढूंढे।--आर्यावर्त (वार्ता) 10:49, 12 अगस्त 2018 (UTC)

पृष्ठ आनंद कुमार में एक साथी प्रबंधक ने स्वयं के पास इतिहास विलय का अधिकार होते हुए भी पाठ को हटाकर पृष्ठ को स्थानांतरित कर दिया है और [इतिहास अनुप्रेषित पृष्ठ में पड़ा है।--आर्यावर्त (वार्ता) 11:10, 12 अगस्त 2018 (UTC)
आदरणीय, पहली बात तो यह कि हाशिये का उचित उपयोग करें।
विलय प्रस्ताव लंबित पड़ें हैं या स्थानांतरण अनुरोध लंबित पड़ें हैं अथवा हहेच चर्चाएँ लंबित पड़ी हैं, यह कारण नहीं हो सकता कि अब ऐसे प्रस्ताव करना छोड़ा जा सकता है और इनके बिना कार्य करने आ अधिकार मिल गया है क्योंकि ये लंबित पड़े हैं। दूसरी बात, ऐसे अनुरोध लंबित पड़े हैं यह बात आपको (हमें भी और सभी को) इसीलिए पता है क्योंकि ये अनुरोध यथोचित साँचों (टैग, अनुरोध इत्यादि) के माध्यम से किये गए हैं। ऊपर जो उदाहरण मैंने अनुनाद जी के संपादनों के दिए हैं उनमें, महीना बीत जाने के बाद किसी को पता भी नहीं चलेगा कि ऐसा कुछ करना लंबित भी पड़ा है।
जिस नीति की अनुपलब्धता की ओट ले रहें हैं, वो हो या न हो इतना तो शायद सदस्य समझते ही होंगे कि मीडियाविकि द्वारा स्थानांतरण और इतिहास विलय का विकल्प क्यों उपलब्ध कराया गया है? इस तरह कट-पेस्ट से विलय अथवा स्थानांतरण करना और चुपचाप आगे बढ़ जाना, बिना इसे किसी को सूचित किये अथवा बिना इसे किसी टैग द्वारा सूचीबद्ध किये, अराजक और समस्याजनक है या नहीं? और ऐसे संपादनों को खोज कर कौन सुधारेगा ? कैसे खोजेगा ही अगर किसी तरीके से निर्दिष्ट न किया गया हो??
सामग्री विलय आम सदस्य कर सकता है और इतिहास विलय प्रबंधक कर सकता है, आप स्वयं प्रबंधक हैं, क्या आप खोजते फिरते हैं क्या कि किस आम सदस्य ने सामग्री विलय कर दिया और अब उसका इतिहास विलय कर दिया जाय?
लिखित नीति आप भी बड़े मन से खोजते हैं और यह सदस्य भी बड़ा गहन विवेचन करते हैं नीतियों का, ताकि साबित कर सकें कि इनका कार्य अनैतिक नहीं है। लेकिन जो बातें आम सदस्य सहज रूप से विकि परंपरा में सीख समझ लेते उनका यह बहाना मार के उल्लंघन करना कि इसके बारे में नीति नहीं है कितना उचित है जबकि साफ़ हो कि आपका कार्य अनुचित, समस्याजनक और अराजक है?--SM7--बातचीत-- 11:22, 12 अगस्त 2018 (UTC)
साथी प्रबंधक का उपरोक्त कार्य आपको इस चर्चा के पहले से पता है अथवा बाद में पता चला और पता चलने पर आपने क्या किया इसके लिये ?--SM7--बातचीत-- 11:25, 12 अगस्त 2018 (UTC)
@SM7: जी, शांत महोदय शांत। साथी प्रबंधक का ये कार्य आज का ही है और इस चर्चा में रखने से कुछ समय पूर्व ही किया गया था। ये चर्चा का भाग होने के कारण उसे वर्तमान स्थिति में रखा गया है। अब मुख्य मुद्दे की बात मैंने ये नहीं कहाँ की आपकी बात अनुचित हैं। ये भी सही है कि वर्तमान में इस विषय में कोई भी स्पष्ट नीति नहीं है। इस प्रकार का कार्य न केवल अनुनाद जी, दूसरे प्रबंधक अधिकार रखने वालें सदस्य भी करते हैं। इस विषय में चर्चा करके नीति बनाई जा सकती है। इससे आगे से इस प्रकार की व्यक्तिगत चर्चाओं से बचा जाएगा क्योंकि नीति की चर्चा एवं नीति से बहुत से सदस्य को जानकारी मिलेगी। इसका प्रस्ताव भी कुछ समय के बाद रखा जाए ऐसा अनुरोध करूँगा, जिससे ऐसा न लगे कि आप ये अनुनाद जी के लिए कर रहे हैं। उम्मीद करता हूँ कि मेरा अनुरोध आपको स्वीकार्य होगा।
रही बात मिया जैसे शब्दों के प्रयोग की तो इसप्रकार से किसी भी सदस्य के साथ चर्चा नहीं करनी चाहिए। भले कितने ही व्यक्तिगत मतभेद क्यों न हो।--आर्यावर्त (वार्ता) 13:15, 12 अगस्त 2018 (UTC)
महोदय, नीति की आवश्यकता तब होती है जब ऐसे मुद्दे हों जिनपर किसी प्रकार के विवाद की स्थिति उत्पन्न होने की संभावना हो, उन चीजों में नहीं जो सहज बुद्धि से समझ में आ जाती हों। कृपया यह साबित करने का प्रयास न करें कि नीति नहीं है इसलिए यह सदस्य (या कोई और) इस तरह के संपादन कर रहे हैं और तभी रुकेंगें जब नीति बनाई जायेगी। ऊपर आप ही गिना चुके हैं कि सदस्य पूर्व प्रबंधक हैं, आप इनके संपादनों में देख भी सकते हैं कि इन्होने स्थानांतरण भी किया है; ऐसे में यह मानना थोड़ा कठिन है कि सदस्य को स्थानांतरण के बारे में ज्ञान ज्ञान नहीं है अथवा इतिहास पृष्ठ के इतिहास के बारे में इन्हें कोई जानकारी नहीं है और विलय तथा इतिहास विलय का इन्होने कभी नाम नहीं सुना। रही बात भोले बनकर यह कहने की कि "कहाँ लिखा हुआ है दिखाइये" सदस्य का पुराना व्यवहार है। फिर भी मैंने अपने पहले सन्देश में स्पष्ट रूप से लिखा है कि यदि ऐसा संपादन इनके द्वारा अज्ञानतावश किया जा रहा तो प्रबंधकों से उचित सलाह लें। चेतावनी दूसरी दशा में है - उस दशा के लिए जब सबकुछ जानते बूझते केवल सरलता, जल्दीबाजी या कहीं नीति में नहीं लिखा है इसलिए ऐसा भी किया जा सकता है टाइप के कारण से ऐसे संपादन किये जा रहे हैं।
रही बात प्रबंधकों को घसीटने की, तो यह आप लोगों की जिम्मेदारी है कि ऐसे संपादन रोकें - 1. सदस्य को सहज भाव से समझा कर ऐसा किया जा सकता है और विलय अथवा स्थानांतरण हेतु कैसे टैग अथवा अनुरोध किया जाए बताया जा सकता है, 2. नीति का प्रस्ताव कर सकते हैं और उसके बाद नीति पढ़ने की गुज़ारिश कर सकते हैं, या 3. वह विकल्प भी है जिसकी कामना सदस्य कर रहे हैं, कोई प्रबंधक (वा प्रबंधकगण) इनके संपादनों की जाँच करने का जिम्मा लें और इनके इस तरह के संपादनों को स्वतः संज्ञान में लेते हुए विलय की प्रक्रिया पूरी करें। उक्त में से आप प्रबंधकों को जो पसंद हो आप लोग कर सकते हैं यह आप लोगों पर निर्भर करता है।
अंतिम बात चेतावनी की, आपने ऊपर लिखा है कि यह कार्य मैं न करूँ बल्कि प्रबंधकों और पुनरीक्षकों को करने दूँ। पहले तो यही जान लें कि चेतावनी उस दशा के लिए दिया हूँ अगर ये जानबूझकर ऐसा कर रहे हैं, नहीं कर रहे तो न सुनें। दूसरे, चेतावनी मैं मैनुअली लिखे सन्देश द्वारा भी दे सकता हूँ, अथवा ट्विंकल के प्रयोग द्वारा भी, जिसमें किसी भी सदस्य को स्तर चार तक की चेतावनी देने का विकल्प उपस्थित है। उक्त चेतावनियों की अवहेलना करने पर प्रबंधकों से कार्रवाई का अनुरोध भी कर सकता हूँ अथवा किन्हीं ख़ास किस्म के संपादनों को करने पर प्रतिबन्ध लगाने हेतु सभी की राय लेने हेतु सामान्य चर्चा भी आरंभ कर सकता हूँ।
हालाँकि, बेहतर यही मानता हूँ कि सदस्य और आप प्रबंधकगण आपस में संवाद द्वारा उक्त तीन उपायों में से कोई चुन लें अथवा कोई अन्य उपाय खोज सकें तो वह करें। --SM7--बातचीत-- 14:17, 12 अगस्त 2018 (UTC)
मिया ये बताइए कि ऐसे फतवे दिए जा सकते हैं जो कुरान में न उल्लिखित हों? जब आप मानते हैं तो नीति नहीं है, तो ये फतवा कैसे दे दिया। जब आप मानते हैं कि प्रबन्धकों के लिए निर्धारित कार्य ही भारी संख्या में अटके पड़े हैं तो उनके ऊपर और बोझ क्यों लादने की कोशिश कर रहे हैं? इसलिए कि फतवे की येन-केन-प्रकारेण सही ठहराया जा सके? एक बात और बता दूँ कि मैने जो स्थानान्तरण मैने किए हैं वे किसी जूनियर हाई स्कूल के भूगोल के मास्टर के मस्तिष्क के बाहर की चीज हैं। मुझे पता है कि आप जैसे लोग वैसे काम चाह कर भी इस जन्म में नहीं कर पाएँगे। शायद इसलिए ईर्ष्या हो रही है क्या? तभी तो खाली वार्ता पृष्टों के स्थानान्तरण को लेकर कृत्रिम तूफान खड़ा करने की कोशिश कर रहे हैं।
मैं प्रबन्धकगण से निवेदन करता हूँ वे ध्यान से देखें कि एसएम७ किस तरह अपनी ही बातों को स्वयं काट रहे हैं। किसी भी प्रश्न का ठीक से तर्कपूर्ण उत्तर नहीं दे पा रहे हैं। वे फिर से कुतर्क के अपने पुराने ढर्रे पर लौट आये हैं ('मैने यह थोड़े कहा था', आदि आदि)। कृपया इन्हें कान पकड़कर उठक-बैठक करवाइये कि ये ऐसे फतवे फिर देने का दुस्साहस न कर सकें। --अनुनाद सिंह (वार्ता) 15:36, 12 अगस्त 2018 (UTC)
क्या बात है, अतिरिक्त नुक्ते लगाने वाला व्यंग्य बंद कर दिया आपने! थक गए ? प्रबंधकगण @संजीव जी, अनिरुद्ध जी, माला जी, सिद्धार्थ जी, हिंदुस्तानवासी जी, अजीत जी, और प्रॉन्स जी: इनके यूनिवर्सिटी लेवल के कृत्य समझ रहे हों तो थोड़ा सा प्रकाश डालें। कम से कम यही बता दें कि यह कट-पेस्ट बंद होगा या नहीं ? --SM7--बातचीत-- 16:50, 12 अगस्त 2018 (UTC)
कुछ-कुछ सही पकड़ा है आपने। मैं तो 'अतिरिक्त नुक्ते' उनको समझता हूँ जिनका प्रदर्शन आप उस स्थिति में करते हैं जब अनावश्यक नुक्तों को हटाने की बात चलती है और जिनकी संख्या जानबूझकर तीन गुनी कर दी जाती है। ऐसे लगता है कि सहसा गला खराब हो गया। --अनुनाद सिंह (वार्ता) 17:35, 12 अगस्त 2018 (UTC)

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, विजयी विश्व तिरंगा प्यारा को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/विजयी विश्व तिरंगा प्यारा पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

केवल कविता। उल्लेखनीयता का कोई प्रमाण नहीं।

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।हिंदुस्थान वासी वार्ता 15:33, 16 अगस्त 2018 (UTC)

हिन्दी संरक्षण संघ पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, हिन्दी संरक्षण संघ को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/हिन्दी संरक्षण संघ पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

उल्लेखनीय प्रतीत नहीं होता। कोई स्रोत नहीं और नम्बर तक दे रखा है। अभी तो सिर्फ प्रचार प्रतीत होता है।

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।हिंदुस्थान वासी वार्ता 12:18, 6 सितंबर 2018 (UTC)

अर्थक्रांति पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, अर्थक्रांति को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/अर्थक्रांति पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

लेख के विषय की उल्लेखनीयता अस्पष्ट है, तथा लेख में कोई विश्वसनीय स्रोत नहीं हैं

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।सिद्धार्थ घई (वार्ता) 12:17, 8 सितंबर 2018 (UTC)

निवेदन[संपादित करें]

अनुनाद जी,

नमस्ते!

आपने एस पी एस एस लेख में कुछ सुधार का प्रयास किया है जिसके लिए आपका धन्यवाद। वर्तमान में ज्ञानसन्दूक कुछ विचित्र प्रकार से लग रहा है। यदि आप सुधार दें तो मैं आपका आभारी रहूँगा। --मुज़म्मिल (वार्ता) 07:47, 2 अक्टूबर 2018 (UTC)

आपका धन्यवाद! --मुज़म्मिल (वार्ता) 08:51, 2 अक्टूबर 2018 (UTC)

अक्टूबर 2018[संपादित करें]

विकिपीडिया पर आपका स्वागत है। सभी का इस विश्वकोश पर सकारात्मक योगदान देने हेतु स्वागत है, परन्तु ध्यान रखें कि किसी भी सदस्य पर कोई निजी टिप्पणी अथवा आक्षेप ना करें, जैसा कि आपने विकिपीडिया:चौपाल पर किया। कृपया सदस्यों के सम्पादानों पर टिप्पणी करें, सदस्यों पर नहीं। इस विश्वकोश में सहयोग देने के सम्बन्ध में अधिक जानकारी हेतु स्वागत पृष्ठ देखें। आपका अपनी लेख पर सभ्य रूप से टिप्पणी करने के लिए स्वागत है। धन्यवाद। गॉड्रिक की कोठरीमुझसे बातचीत करें 15:33, 11 अक्टूबर 2018 (UTC)

@Godric ki Kothri:, 'सदस्य पर टिप्पणी' किसे कहते हैं? किसी को मूर्ख कहना सदस्य पर टिप्पणी है या नहीं। किसी को पाखण्डी, हिन्दुत्ववादी कहना सदस्य पर टिप्पणी है या नहीं?--अनुनाद सिंह (वार्ता) 15:59, 11 अक्टूबर 2018 (UTC)
@अनुनाद सिंह: अगर मैं सही हूँ तो आप नेहल जी के पुनरीक्षण अधिकार वापस लेने वाले नामांकन की बात कर रहे है। वहाँ भी मैंने आप तीनों को शिष्टाचार नीति के साथ टिप्पणी करने को कहा था। शेष निश्चिन्त रहें आगे अगर वे सदस्य इस प्रकार टिप्पणी करते हैं तो मैं उनके वार्तापृष्ठ पर भी यही सन्देश भेजूंगा। धन्यवाद!-- गॉड्रिक की कोठरीमुझसे बातचीत करें 16:08, 11 अक्टूबर 2018 (UTC)
@Godric ki Kothri:, आपकी निष्पक्षता पर मेरा विश्वास और दृढ हो जाता यदि आप एस एम ७ के वार्ता पृष्ट पर जाकर यही बात लिख दिए होते। --अनुनाद सिंह (वार्ता) 17:15, 11 अक्टूबर 2018 (UTC)
@Godric ki Kothri:, आपके उत्तर की प्रतीक्षा कर रहा हूँ। मेरे पहले पूछे प्रश्नों क भले ही उत्तर न दीजिए, इसका उत्तर तो दे दीजिए।--अनुनाद सिंह (वार्ता) 04:37, 12 अक्टूबर 2018 (UTC)
क्षमा करें कल मैं आपके प्रश्न पर ध्यान नहीं दे पाया। दोबारा ध्यानाकर्षित करने के लिये धन्यवाद। जहाँ तक इस सन्देश की बात है यह मात्र एक सामान्य नोट है। यह केवल वाङ्मय शब्द पर हुई चर्चा के लिये लिखा गया है। उसमे मुझे SM7 जी की कोई निजी आक्षेप वाली टिप्पणी नहीं लगी। अगर आगे SM7 जी आप पर कोई निजी टिप्पणी करते हैं तो मुझे निःसंकोच पिंग करें मैं उनके वार्तापृष्ठ पर भी यही सन्देश लिखूंगा। आपका योगदान हिन्दी विकि को अमूल्य है कृपया उसे जारी रखें।-- गॉड्रिक की कोठरीमुझसे बातचीत करें 05:05, 12 अक्टूबर 2018 (UTC)

श्याम रुद्र पाठक पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, श्याम रुद्र पाठक को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/श्याम रुद्र पाठक पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

क्या ये उल्लेखनीय है ?

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।Raju Jangid (वार्ता) 07:44, 15 अक्टूबर 2018 (UTC)

सामयिक विषय पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ सामयिक विषय को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

गैर मौजूद पन्ने की ओर अनुप्रेषित

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

यदि यह पृष्ठ हटा दिया गया है, तो आप चौपाल पर इस पृष्ठ को अपने सदस्य उप-पृष्ठ में डलवाने, अथवा इसकी सामग्री ई-मेल द्वारा प्राप्त करने हेतु अनुरोध कर सकते हैं।मुज़म्मिल (वार्ता) 05:29, 3 नवम्बर 2018 (UTC)

रखरखाव टैग हटाना[संपादित करें]

हैलो बालगोपाल, यह संपादन केवल इसलिए किया गया दिख रहा है कि किसी तरह लेख से स्रोतहीन का टैग भर हटा दिया जाय। लेख में रखरखाव का कोई टैग लगा है तो इसका मतलब है उस समस्या का निवारण होना चाहिए। टैग लगा होना खुद में समस्या नहीं जिसे येन-केन करके चालबाजी दिखाते हुए हटा दिया जाय। लेख में अभी भी कई बातें हैं जिनके लिए थोड़ी मेहनत करते तो संदर्भ मिल जाते। शुभकामनायें। --SM7--बातचीत-- 04:12, 14 नवम्बर 2018 (UTC)

कटपयादि और कटपयादि संख्या[संपादित करें]

का विलय हेतु प्रस्ताव किया गया है। मामला सुलझाएँ। --SM7--बातचीत-- 04:17, 14 नवम्बर 2018 (UTC)

हीरालाल यादव पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकन[संपादित करें]

नमस्कार, हीरालाल यादव को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/हीरालाल यादव पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

अस्पष्ट उल्लेखनीयता।

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।मुज़म्मिल (वार्ता) 13:23, 25 नवम्बर 2018 (UTC)