सदस्य:Thanuja vivek/प्रयोगपृष्ठ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
नवजीवन को-अपरेटिभ्स लि. धनगढीबाट प्राप्त पुस्तक राख्ने दराज.jpg

सावी शर्मा[सावी शर्म] [संपादित करें]

जन्म[संपादित करें]

सवी शर्मा का जन्म बेहाल, हरियणा(हरियाणा) की एक छोटे से गाव मे हुआ था। लेकिन वो सुरथ मै रहती है।वो एक साल में एक बार हरियना जाती है।उस्कि विस्तारित परिवार हरियना मै रहत्थि। उस्कि दो भाइया है।उस्कि छोटा भाअपनीई सब्से शरारत था। उस्को हरियना बोहोत पसन्द थी और हरियना उस्कि दिल कि बोहोत करिब था। सवी शर्मा के पिताजी एक टेक्सटाइल फैक्ट्री (फैक्टरी)में सेवा कर्तेथे और उस्कि माँ गृहिणी थे। उस्की एक साधारण सा परीवार था। सावी शर्मा को अपनी परिवार से बोहोथ प्यार था।सावी शर्मा को बोहोत सारे दोस्थ थे। उसने उस्की बचपन बोहोथ मज़े से बितया।

शिक्षा[संपादित करें]

उसने ३ स्टैंडर्स तक हरियणा में अध्ययन किया था।तिसरा स्टैंडर्स तक वो अपनी दादा-दादी के साथ रेहती थी। उस्के बाद वो अपनी मथा-पीथा के सथ रेहनेलगी।उसके शिक्षकों के साथ उसके पास एक महान बंधन था और वो सभी शिक्षकों का आंखोंका का तारा था।जब सवी शर्मा ११ क्कशा मै थी वाणिज्य करे को सोचा। १२ 12वीं के बाद उसने C. A(सी॰ एन॰ आर॰ राव)करने का फैसला किया जब वह उसे आईपीसीसी(आईपीसीसी) समाप्त हो गया और वह उसके परिणाम वह पुस्तकों का एक बहुत कुछ पढ़ा के लिए इंतज़ार कर रहा था। उसने दस दिन मे १२ कितबे पद्द छुकि थी। जब उसने यह पुस्तकके पढ़ें उसने महसूस किया कि वह कहानियों और नहीं संख्या के लिए जाहिर था । तो उसने उसे छोद् C.A दिया और लिखने की दिशा में काम किया।

कहानी कैरियर[संपादित करें]

उसने अपनी पहलि कविथा(कवितावली) वहि पे ही लिकी थी जब वो ३ या २ क्क्शा मै पद्द रही थी। वह कविता ज़िन्धगि के बारे मे था। जब उस्ने एक कहनी कथम की उसे यह नहि लगा की वो यह कहानी को प्रकशिथ कर सकेगी क्युकी वह चहत है की उस्की कहनी जो भी पढ़ै उस्को प्रेरणा मिले। वह हमेशा लोगों को प्रेरित करना चाहता था वो पार कार्यात्मक टीम नेतृत्व, सामरिक नेतृत्व आदि मे बहुत अछी थी लकिन वो एक लेखक(लेखक) ब्न्नाछहथी थी। वे अपनी कविथओ के द्वारा बाथ कर्ती है। अब साव शर्मा(सावी शर्मा) सर्वश्रेष्ठ बिकने वाले उपन्यास(उपन्यास) के लेखक हैं सबकी एक कहानी है-सपनों की एक प्रेरणादायक कहानी, दोस्ती, प्यार(प्यार)। [www.vowelor.com/book/this-is-not-your-story-savi-sharma..]

[ www.goodreads.com/book/show/30817225]