सदस्य:Tanvi Rao/Sheila Kaye-Smith

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

परिचय[संपादित करें]

शीला केय- स्मित (४ फरवरी १८८७- १४ जनवरी १९५६) एक अंग्रेज़ी लेखिका थी। क्शेत्रीय परंपरा में सस्सेट और केंट की सीमाओं पर रचित उनके उपन्यास केलिये वे जाने जाते हैं। १९२३ में लिखित "दी एंड आफ द हाउस आफ अलार्ड" पुस्तक ने उनको प्रसिद्धी दी। इसके बाद उसको बहुत सफलताएँ मिली और इनकी पुस्तकों ने दुनिया भर में बिक्री का आनंद लिया।

जीवन[संपादित करें]

एक चिकित्सक की बेटी शीला, सेंट लिओनार्डो में, हेस्टिंग्स के पास सस्सेक्स में पैदा हुई थी और उनहोने अपनी ज़िंदगी का बडा हिस्सा इधर रह के गुज़ारा है। शीला एक प्रसिद्ध लेखक एं एं केय की दूर की रिश्तेदार हैं। १९२४ में उनहों ने थिओडर पेन्रोस फ्रै से शादी कर ली जो एक एंग्लिकन पाद्री था १९२५ में "एंग्लो कैतलिसिसम" पर एक किताब लिखी। क्यों की वह रोमन कैथलिक बने, उनको नोर्थयम पर जाके रहना पडा। वहीं पे उनहों ने एक पूजास्थान स्थापित किया जहाँ पे अब भी संचय देखने को मिलता है। उसी कब्रिस्तान में शीला को दफन किया है। उनकी जीवनी को शोउन कूपर ने अपने "द शैनिंग कार्ड" पुस्तक में दिया है।

लिखाई[संपादित करें]

उनके उपन्यास में हम ग्रामीण आलोचनाएँ और चिंताओं को पाते हैं: कृषी अवसाद, खेती, विरासत, हमलों, महिलाओं की बदलती स्थिति, ग्रामीण इलाकों पर औद्योगीकरण के प्रभाव और प्रांतीय जीवन को हम पाते है। जी।बी।स्टर्न, थामस हार्डी और नोएल कोवार्ड जैसे अदभुत लेखक इन के प्रशंसक है।

केय स्मित के उपन्यास एक से अधिक शैली के उपन्यासों में फैला हुआ है। उनके पहले सारे उपन्यास दुनियादार ग्रामीण श्रेणी के हुआ करते थे। इस श्रेणी से प्रेरित हो कर स्टेल्ला गिब्बन्सन "कोल्ड कंफर्ट फार्म" के नाम पे एक हास्यानुकृति लिखती है। अपनी पुस्तक "अ वेलियंट वुमन" में स्टेल्ला के पुस्तक को विषय बना कर तेज़ी से आधुनिकता की ओर बढती हुई एक गाऊं के बारे में लिखा है। ससेक्स देश, तट और मार्श के केए-स्मिथ का विवरण अब भी बेहतरीन रूप के माना जाता है। उनकी अनेक नायिकाएँ बिना शादी के माँ बन जाती है और हर कोई लिंग संबंधित परीक्शण का सामना करते है। यह उसकी नारीवाद भावनाएँ और उस पर पडे जॉर्ज मूर और थॉमस हार्डी के प्रभाव को दर्षाता है।