सदस्य:Tania.Ramesh1106/1

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
स्टीवी स्मिथ ११६५

स्टीवी स्मिथ[संपादित करें]

प्रारंभिक जीवन[संपादित करें]

स्टीवी स्मिथ का जन्म २० सितम्बर, १९०२ में इंगलेंड की योर्कशिर नामक शहर में हुआ। जब वह बहुत छोटा थी, उनके पिता ने नोर्थ पट्रोल सी में शामिल होने के लिए परिवार छोड दिया। तीन साल की उम्र में वह अपनी बहन और माँ के साथ उत्तरी लंदन उपनगर पामर ग्रीन में रहने छली गई। १९७१ में उनकी मृत्यु तक यह उनका घर था। जब वह एक किशोरी थी, उनकी माँ की देहांत हुई। उस समय से, वह और उनकी बहन अपनी कातनेवाली चाची के साथ रहती थी, जो उनकी पूरे जीवन में एक महत्वपूर्ण व्यक्ति थी। स्मिथ और मौली - स्मिथ की बहन -, महिलाओं के एक परिवार में परवरिश होने के कारण्, अपनी स्वतंत्रता से संलग्न हो गए। स्मिथ अपनी चाची को 'दि लैन' कहकर पुकारती थी। [1]

व्यवसाय[संपादित करें]

उनकी पहली पुस्तक,'नोवल ओन येलो पेपर', १९३६ में प्रकाशित हुई थी। उनकी किताब ने अपने जीवन के अनुभव पर बहुत अधिक आकर्षित किया। उनकी पहली कविता छंड 'ए गुड टैम वास हाड बै आल' में उन्होनें कठोर भाषा का प्रयोग किया जो उनकी साहित्यिक शैली की विशेषता कहलाई। कविताओ में मौज और कयामत की समझ थी। स्मिथ को अपनी प्रेरणा ब्रोथर ग्रिम्स के परिकथाओं से मिलि। उनकी लेखन शैली निराली हैं; उनकी इबारत मिश्रण से ही उनका कृत्य मे इस प्रकार का शकुन हैं। वह अपनी पूरी जिंदगी अवसाद से बीमार थी और अपनी कविताओ में यह बात प्रकट किया करती। [2]

शिक्षा[संपादित करें]

स्मिथ ने अपनी स्कूली शिक्षा 'पामर्स ग्रीन हाई स्कूल' और 'उत्तर लंदन कॉलेजिएट स्कूल' में समाप्त किया। १९२३ से १९५३ तक वह 'नेविल्ल पिरसन' कि निजी सचिव बनकर 'न्यून्स प्रकाशन कंपनी' में काम करती थी। वहा से विरत करने के बाद, उन्होने 'बी बी सी' पर कविता रीडिंग और प्रसारण किया जिस्से उनकी युवा प्रशंसक बेस वर्धित हुई। सिल्विया प्लाथ भी १९६२ में स्मिथ की कविता की प्रशंसक बन गई। स्मिथ के दोस्त उन्हे कभी-कभी सरल और स्वार्थी समझते थे, और कभी-क्भी दृढ़ता से बुद्धिमान। अपनी ज़िंदगी में स्मिथ अविवाहित थी, उनकी समझ में उसके पास मित्रों और परिवार के साथ कई अंतरंग रिश्ते थे, जिन्होंने उसे पूरा महसूस करवाया। [3]

कविता के बारे में[संपादित करें]

उनकी पहली कविता ने उन्हें एक कवि के रूप में स्थापित किया था। जल्द ही उनकी कविताओं पत्रिकाओं में पाया गया। उनकी लेखन शैली अक्सर बहुत अंधेरा थी क्योंकी उसके पात्रों हमेशा अपने दोस्त और परिवार को "अलविदा" कहा करते या मौत का स्वागत किया करते। जिसी समय उनकी कविता भयानक घटियापन कहलाती, उसी समय वे बहुत मज़ेदार थे जो ना ही आलोक था और ना ही सनकी। उनकी कविता कभी भी भावुक नहीं थी। उनकी कविता की टोन और गुणवत्ता हमेशा संगत थी, परंतू विषय वस्तु बदलती रही। उनकी सबसे मशहूर कविता है - 'नोट वेविंग बट ड्रानिंग' जो अभी तक बहुत अच्छी तरह से ज्ञात हैं। १९६६ में उन्हें कवियों के लिए चॉल्मोंडेले पुरस्कार से सम्मानित किया गया था और १९६९ में उन्होंने कविता के लिए रानी के स्वर्ण पदक जीता था। उन्होनें अपने जीवनकाल में नौ खंडों की कविताएं प्रकाशित किया।

७ मार्च १९७१ को स्मिथ के मस्तिष्क के ट्यूमर के कारण मृत्यु हो गई। उसका संग्रह, 'स्कोर्पियन और अन्य कविताएं' १९७२ मरणोपरांत प्रकाशित किया गया था। यह महान कवि हमेशा के लिए अपनी कविताओं और प्रेरक उपलब्धियों के माध्यम से हमारे दिल में रहेंगी।

  1. https://www.poetryfoundation.org/poets/stevie-smith
  2. https://en.wikipedia.org/wiki/Stevie_Smith
  3. https://www.poetryarchive.org/poet/stevie-smith