सदस्य:Subhasree V/sandbox

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
स्टेला गिबंस

स्टेला डोरोथा गिबंस (५ जनवरी १९०२-१९ दिसंबर १९८९) एक अंग्रेज़ी लेखिका,कवयित्रि थी।[1] उन्होने अपने पहले उपन्यास कोल्ड कम्फर्ट फार्म के साथ अपनी प्रतिष्ठा स्थापित की। इस उपन्यास को कई बार फिर से प्रकाशित किया गया है। हालांकि वह आधे शताब्दी के लिए एक लेखिका के रूप में सक्रिय थी लेकिन असके बाद के २२ उपन्यासों या अन्य साहित्यिक कार्यों सें किसी एक को भी महत्वपूर्ण या लोकप्रिय सफलता हासिल नहीं हुआ।

वह लंदन के एक चिकित्सक की बेटी थी और उनका बचपन अशांत और अक्सर दुखी था। एक उदासीन स्कूल कैरियर के बाद उन्होंने पत्रकारिता में प्रशिक्षण ली और एक रिपोर्टर और फीचर लेखिका के रूप में काम किया। उन्होने इवनिंग स्टान्डार्ड और थी लेडी के लिए काम किया। उनकी पहली किताब १९३० में प्रकाशित हुई थी और वह कविताओं का संग्रह थी। उस किताब को बहुत प्रसिध्दि मिली। अपने जीवन में हमेशा उन्होंने खुद को एक उपन्यासकार के बजाय एक कवयित्रि मानती थी। गिबंस के अधिकांश उपन्यास मध्य वर्ग की उपनगरीय दुनिया पर आधारित थे, जिससे से वे परिचित थे। वह १९५० में रोयल सोसाईटी ओफ लिटरेचर के सदस्य बने। उनकी शैली के आकर्षण, कांटेदार हास्य और वर्णनात्मक हास्य के लिए आलोचकों द्वारा उनकी प्रशंसा की गई। कोल्ड कम्फर्ट फार्म का प्रभाव उनके करियर पर हावी था। उस पुस्तक के साथ उनकी पहचान के कारण उनके बाकी कार्य के बहिष्कार[2] को लेकर वह नाराज़ थी। उनके पहला उपन्यास के अलावा उनके बाकी साहितिय कार्य को अंग्रेज़ी साहित्य के सिध्दान्त में स्वीकृत नहीं किया गया।

जीवन[संपादित करें]

पारिवारिक पृष्ठभूमि और बचपन[संपादित करें]

फ्रांसिस मैरी बुस को सम्मानित करने वाली पट्टिका

गिबंस परिवार का जन्म आयरलैंड में हुआ था। स्टेला के दादा, चार्लस प्रेस्टन गिबंस एक सिविल इंजीनियर था जिन्होंने दक्षिण अफ्रीका के निर्माण पुलों में लंबे समय बिताए थे। वह और उनकी पत्नी एलिस के छह बच्चे थे जिनमें से दूसरा - चार बेटों में सबसे बडे का जन्म १८६९ मे हुआ था और उनके चौथे ईसाई नाम "टेल्फोर्ड" से जाने गए। चार्ल्स गिबंस के लगातार व्यभिचार से उत्पन्न तनाव से गिबंस परिवार में अशांति फैली हुई थी। टेल्फोर्ड गिबंस डॉक्टर का प्रशिक्षण लेने के बाद १८९७ में लंदन अस्पताल में चिकित्सक और सर्जन के रूप में योग्यता प्राप्त की। २९ सितंबर १९०० को उन्होंने एक शेयर दलाल की बेटी, मॉड विलियम्स से शादी कर ली। इस दंपति ने लंदन में एक घर खरीदा, जहाँ टेल्फोर्ड ने मेडिकल प्राक्टीस शुरू की जिसे उन्होंने अपने शेष जीवन में ज़ारी रखा।

स्टेला, उनका पहला बच्चा ५ जनवरी १९०२ को पैदा हुआ। स्टेला के दो भाइयों जेराल्ड और लूयिस के जन्म, क्रमश: १९०५ और १९०९ में हुआ। टेल्फोर्ड का गुस्सा और व्यभिचार से घर-परिवार में अशांति फैली हुई थी। स्टेला ने बाद में अपने पिता को "एक बुर आदमी लेकिन एक अच्छा डॉक्टर" बताया। टेल्फोर्ड अपने गरीब रोगियों की मदद करते थे और इलाज खोजने में कल्पनाशील थे, लेकिन अपने परिवार के लिए जीवन दुखी बनाते थे। सौभाग्य से, उनकी माँ एक शांत और स्थाई स्वभाव की स्त्री थी। १३ वर्ष की आयु तक वह घर में ही शिक्षा प्राप्त करती थी। १९१५ में स्टेला नोर्त लंदन कोलेजिएट स्कूल के एक छात्र बन गई। १९१५ में स्टैला कैम्डेन टाउन में स्थित नोर्थ लंदन कॉलेजिएट स्कूल की एक छात्र बन गई। १८५० में फ्रांसिस बुस[3] [4] द्वारा स्थापित स्कूल, इंग्लैण्ड में पहली बार लड़कियों को एक शैक्षणिक शिक्षा प्रदान करने वाला था। स्टेलो को शुरूआत में स्कूल के सख्त अनुशासन से समयोजना करने में कठिनाई थी। उसने अपने दोस्त स्टीव स्मिथ के साथ इस दृष्टिकोण को साझा किया। अपने साथी विद्यार्थियों के लिए कहानियां लिखकर स्टेला ने अपनी प्रतिभा दिखाई।

विद्यार्थी जीवन[संपादित करें]

युनिवर्सिटी कॉलेज, लंदन

स्कूल में रहते हुए स्टेला ने एक लेखिका बनने की महत्वाकांक्षा की। स्कूल के बाद उन्होंने यूनिवर्सिटी कॉलेज, लंदन (यूसीएल) में पत्रकारिता में दो साल का डिप्लोमा शुरू किया। प्रथम विश्व युद्ध से लौटने वाले भूतपूर्व सैनिकों के लिए पाठ्यक्रम स्थापित किया गया था। वह विश्वविद्यालय को उत्साहशाली पाया और कई दोस्त बनाए।

पत्रकारिता और प्रारंभिक लेखन[संपादित करें]

गिबंस की पहली नौकरी ब्रिटिश (बीयूपी) समाचार एजेंसी के साथ थी। उसी दौरान वह वाल्टर बेक से मिली और वे दोनों अच्छे दोस्त बन गए। उनके सगाई भी हुई। वह लेखों, कहानियों और कविताओं लिखने के अभ्यास करते थे। मई १९२६ में उनकी मॉडे की अचानक मृत्यु होगई। पाँच महीने बाद स्टेला टेल्फोर्ड की भी मृत्यु होगई और अपने दो भाईयों के जिम्मेदारी स्टेला पर थी। विदेशी विनिमय दरों की गणना और रिपोर्टिंग की गलती को लेकर एक त्रुटि के परिणामस्वरूप, गिबंस को बीयूपी से बर्खास्त कर दिया गया था, लेकिन संपादक के सचिव के रूप में उन्हें तुरंत एक नई पद मिली। वाल्टर के साथ स्टेला की रिश्ता १९२८ को खतम हुई। वह अपने भावी पति अल्लन वेब से मिली।

१९३० के बाकी हिस्सों के गिब्सन के पांच अतिरिक्त उपन्यासों के उत्पादन के साथ-साथ दो कविता संग्रह, एक बच्चों की किताब, और कई छोटी कहानियां प्रकाशित हुई थीं। गिबन्स की एकल बच्चों की किताब १९३५ में प्रकाशित परी कथा संग्रह द एनिडि गनोम थी, जो उनकी इकलोती बेटी लौरा को समर्पित थी।

अंतिम वर्ष[संपादित करें]

गिबंस के जीवन के आखिरी दो दशक अनभिज्ञ थे। उन्होंने अपने स्वास्थ्य और सुंदरता का ख्याल अपने जीवन के अंत तक रखा। उन्होंने कभी-कभी लघु कथाएँ लिखीं। गिबन्स ने दोस्तों के एक व्यापक चक्र को बनाए रखा। संकलन में गिब्न्स की कविताओं में से एक "रिट इन वाटर" था। १९८० के दशक के मध्य से गिबंस ने पुनरावृत्त स्वास्थ्य समस्याओं का अनुभव किया। उनके आखिरी महीनों में उनके पोते और उसकी प्रेमिका ने उनका ख्याल रखा। १९ दिसंबर १९८९ में उनकी मृत्यु हुई।

लिखाई[संपादित करें]

शैली[संपादित करें]

आलोचकों और समीक्षकों द्वारा गिबंस के शैली के मज़ा, आकर्षण, बुद्धि और वर्णनात्मक कौशल की भावना की प्रशंसा की गई है। ट्रस ने स्टेला गिबंस को "२० वीं शताब्दी के जेन ऑस्टेन" के रूप में वर्णित किया है। गिबंस की कविताओं में उनकी प्रकृति के प्रति प्यार और समुद्र के प्रदूषण जैसे पर्यावरणीय समस्या के बारे में उनकी जानकारी व्यक्त थी।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. https://www.britannica.com/biography/Stella-Gibbons
  2. https://www.theguardian.com/books/2013/dec/27/cold-comfort-farm-stella-gibbons-novels-reading-group
  3. https://www.britannica.com/biography/Frances-Buss
  4. http://www.english-heritage.org.uk/visit/blue-plaques/buss-frances-mary-1827-1894