सदस्य:Sahana CP/प्रयोगपृष्ठ/elizabeth singer rowe

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

एलिज़ाबेथ सिंगर रोवे[संपादित करें]

एलिज़ाबेथ सिंगर रोवे एक अंग्रेजी कवि, निबंधकार और कथानक लेखिका थी, जिनका वर्णन " उसके सेक्स और उम्र के आभूषण " और "हेवेन्ली सिंगर" कहा गया है और 18 शताब्दी के सबसे अधिक व्यापक रूप से पढने वालि अंग्रेजी लेखिका थी। उन्होने मुख्य रूप से धार्मिक कविता लिखी, लेकिन उसमे सबसे लोकप्रिय काम "फ्रेन्शिप इन डेथ" था, जो जीवित रहने के लिए मृतको की काल्पनिक पत्रो की एक शृंखला थी। एक पवित्र और शोक संतप्त के रूप मे एक मरणोपरांत प्रतिष्ठा के बावजूद, रोवे ने एक व्यापक और सक्रिय पत्राचार बनाए रखा और अपने स्थानीय सोमरसेट् , फ्राँम मे स्थानीय चिंतावो मे शामिल थी। रोवे के कामों को अटलांटिक के दोनों किनारों पर 19 शतब्दि मे अच्छी तरह से लोकप्रिय रहा, और वह अक्सर अनुवाद किया गया। उनके लेखन आधुनिक पाठकों से लोकप्रिय नहीं मिली है, परन्तु विद्वानों ने उनके समय की स्टाइलिस्टिक और वैचारिक होने के लिये उन्हे श्रेय दिया है ।

एलिज़ाबेथ सिंगर रोवे

जीवनी[संपादित करें]

११ सितंबर १६७४ को इलचेस्टर, सोमरसेट मे जिन्मे, वह असहमति मंत्री एलिज़ाबेथ पोर्टनेल और वाल्टर सिंगर की सबसे बडी बेटी थीं। उसके माता-पिता एक दूसरे से कुछ इस तरह मिले, जब पोर्टनेल इलचेस्टर के जेल मे धर्मार्थ काम कर रही थी और वही सिंगर अन्य डिसेन्टिंग के साथ थे।[1] उन्होंने पोर्टनेल से शादी करने के बाद मंत्रालय छोडकर, बुनकर बन गये। अपनी जवानी मे एलिज़ाबेथ अच्छी तरह से शिक्षित थी। उन्हें गैर-सिध्दांतवादी या विचलित सिध्दांत भी सिखाया जया था: महिलाओं को सार्वजनिक रूप से बोलने और और मंत्रियों को चुनने और नए चर्च के सदस्यों को स्वीकार करने में भाग लेने की अनुमति दी गई थी; उसने स्थानीय चर्च मामलों में सख्ती से भाग लिया। उसके पिता ने साहित्य, संगीत, और चित्रकला में उनकी हितों को भी शामिल किया,और यह मानना है कि उन्होने बोर्डिंग स्कूल मे भी भाग लिया है। उनके मरणोपरांत प्रकाशित विविध कार्यो के सामने चिपके हुए जीवनी में, उनके भाई जी, थियोफिलस रोवे, उनके बारे मे बताय है कि "श्रीमती रोवे नियमित रूप से सौंदर्य नहीं थी फिर भी वह अपने सेक्स के आकर्षण का एक बडा उपाय था। वह एक मध्यम कद की थी, उसके बाल सुनहरा भूरा रंग, उसकी आँखे नीले रंग की थीं,और आग से भरी थीं। उसका रंग उत्कृष्टता से निष्पक्ष था, और एक प्राकृतिक गुलाबी लाल उसके गालों में चमक रही थी। उनकी आवाज़ मीठा और सामंजस्यपूर्ण से अधिक थी, और उस कोमल भाषा के लिए बिल्कुल उपयुक्त थी जो हमेशा उसके होंठ से निकलती थी"। [2] रोवे की मां की मृत्यु हो गई जब वह अठारह वर्ष की थी, और उसके पिता परिवार को एगफोर्ड फार्म, फोरम, सोमरसेट मे ले गए, जह वे फ्रांसीसी और इतालवी मे हेनरी थिन द्वारा पढायी जाती थी, जो लांगलेट, विल्टशायर के पहले विस्काँँन्ड वेमाउथ के बेटे थे। लांगलेट पर बने कनेक्शन रोवे ने अपने साहिथ्यिक करियर को लभान्वित किया और वीसकाउंट की शुरूआत की।थिन के महान-चाची, ऐनी फिंच ने एक मण्डली कविता लिखी जो कि फिलोमेला(रोवे) का उल्लेख १७१३ के आसपास की थी और थिनेंस और ऐनी फिंच उसके संरक्षक बने।जाँन डनटन , मैथ्यू प्रायर और आइजैक वाटस ने कहा है कि,उन्होंने कवि और जीवनी लेखक, थाँँमस रोवे, जो उन्से उम्र मे १३ वर्ष कनिष्ठ थे , उनके साथ १७१० मे शादी की। रोवे के पिता की मृत्यु १७१९ मे हुई , जो उन्हे काफी वंशानुगत रूप से छोड दिया, आधे वार्षिक आदाय को उन्होने दान मे दिया। रोवे ने एक बार लिखा था,"मेरे पत्रों को मृत्यु से जीवित होने का पत्र कहना चाहिए", और उसने अपनी मृत्यु से पहले अपने खागज़ात को ध्यान से रख दिया, यह थक कि अपने मित्रों को विदाई पत्र भी लिखा था। वह २० फरवरी १७३७ मे लकवा के कारण मृत्यु को प्राप्त हुई और वह अपने पिता के साथ रूक लेन कांगग्रगैशनल चर्च मे अपनी कब्र मे रह गई। [3]

साहित्यिक कार्य[संपादित करें]

रोवे ने १२ साल की उम्र में लिखना शुरु किया, ष्यद उसके मात-पिता के ज्ञान के बिना। १९ के उम्र मे वह जाँंन डोंटन जो एक पुस्तक विक्रेता और अथेनियन सोसैटी की संस्थापक है , संगतता "आदर्शवादी" हुई। पोअम आन सेवरल अकेशन(१६९६), डिवाइन हिम अन्ड पोअम आन सेवरल अकेशन (१७०४), पोअम आन सेवरल अकेशन(१७१७),फ्रेन्डशिप इन डेथ ,इन ट्वेन्टी लेटर्ज़ फ्रम द डेथ टु द लिविंग(१७२८),लेटर्ज़ आन वेरीअस अकेशन ,इन प्रोज़ अन्ड वर्स (१७२९),लेटर्ज़ माँरल अन्ड एंटरटैनिंग(१७२०-३२)। [4]

फ्रेन्डशिप इन डेथ।


आलोचनात्मक अभिनंदन[संपादित करें]

अठारहवीं सदी के साहित्यिक आलोचक और कोशकार सैमुएल जाँनसन ने रोवे की प्रशंसा करते हुए समीक्षा मे लिखा है कि "निबंधकार आम तौर पर रोवे की प्रचुरता की अनुकरण,या अनुकरण करने की कोशिश करते हुए दिखते है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. http://digitaldefoe.org/2014/10/30/elizabeth-singer-rowe-and-the-development-of-the-english-novel-by-paula-r-backscheider/
  2. https://jhupbooks.press.jhu.edu/content/elizabeth-singer-rowe-and-development-english-novel
  3. http://english.illinoisstate.edu/digitaldefoe/reviews/stewart.html
  4. https://www.poemhunter.com/elizabeth-singer-rowe/biography/