सदस्य:Mohammedmas/चाड की संस्कृति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

परिचय[संपादित करें]

चाड एक विशाल, नैतिकता की दृष्टि से विविध अफ्रीकी देश है। यह एक साठ साल के औपनिवेशिक काल के नियम है कि एक सार्थक राष्ट्रीय एकता का निर्माण नहीं किया है उसके बाद १९६०'ई में फ्रांस से स्वतंत्रता प्राप्त की। देश की सीमाओं के भीतेर एक है कि जनसन्ख्या की ऐर्थ्नोरैगिनल और धार्मिक जुडाव के आधार पर कर रहे हैन कई राष्ट्रीय संस्क्रुतियों भेद सकती है। संस्क्रुतियों के कई राज्यों और स्वदेशी सल्तनत प्रतिस्पधा की एक जटिल प्रै-छोलोनिल इतिहास में वापस पता लागाया जा सकता है। चाड कुछ हद तक यह एक उत्तरी भाग पसतोरलिस्त सैमि-दैसैर्त लोगों के एक इस्लामी आबादी का निवास है, और ईसाइयों और पारंपरिक धार्मिक लोगों के एक दक्षिणी भाग, मिश्रित कृषि, शिल्प, और व्यापार में लगी हुई है कि सूडान के समान है । इन दो भागों प्रत्येक के बारे में जनसंख्या के आधी शामिल । सशस्त्र विद्रोह और दीर्घ और विनाशकारी ग्रह युध के वर्षों में, जिसमें लीबिया की भूमिका समय पर उल्लेखनीय था, चाड के हाल के इतिहास की विशोषता है। १९९३'ई में शुरू, सशस्त्र संघष थम गया और लोकतंत्रीकरन की प्रक्रिया में किसी प्रकार का उकसाया गाया है।

सारांश[संपादित करें]

१)चाड की आबादी कुछ ७ करोड, वर्ग मील प्रति १४ लोगों की आबादी के घनत्व दे रही है। देश की उपजाऊ दक्शिणी तीसरे ७७ वर्ग मील प्रति की एक घनत्व है। चाड में एक अनुमान के अनुसार १८० जातीय समूहों रहे हैं। जातीय समूहों में से कई लोग भी ऐसे कैमरून, नैजर, सूदान, नैजीरिय और जैसे पडोसी देशोन में पए जाते हैं औपनिवेशिक और उत्तर औपनिवेशिक सीमओन से अलग कर दिय गया है। अधिकांश छ्हदिअन्स ग्रामीन क्षेत्रों में रहते है। जनसंख्या का लगभाग ९० प्रतिशत चाड क्षेत्र के दक्शिनी १५ प्रतिशत में रहतें है। निलो-सहारा और अफ्रीकी-एशियई :वहाँ लगभाग सभी दो महान भाषाओं परिवारोन से सम्बंधित १०० से अधिक चाड में बोली जाने वाली भाषाओं में है। भाषाई स्थिति की सतीक हद तक और विभिन्न प्रकार के अनुसंधान के एक उल्लेखनीय कमी की वजह से नहीं जान जाता है। भाषा, "जातीय समूह" पहछान के साथ ओवरलैप नहीं कहता है के रूप में कुछ भाषाओं विभिन्न जातीय/क्षेत्रीय लेबल के साथ खुद की पहछान समूहोन द्वरा बोली जाती है।

२)चाड के मुख्य प्रतीक राश्त्रीय ध्वज,नीले, पीले,नारङी और लाल, बिन किसी औपचारिक सजावट की तीन खडी क्षेत्रों से मिलकर। अतिरिक्त राष्त्रिय प्रतिकों नहीं जाना जाता है, हालान्कि विभिन्न दलोन और विद्रोही मोर्चों अपने स्वयं के झंडे का इस्तेमाल किया है। चाड १९०० के फ्रेंच विजय से पहले एक राजनीतिक इकएए के रूप में मौजूद नहीं था, लेकिन महत्वपूर्न स्वदेशी राज्य गथन के एक क्षेत्र था और चोदहवीं सदी के बाद से अरब आव्रजन और इस्लमीकरन देखा था। राज्योन, छ्हिऐफ्दोम्स और आकार और जातीय संरचना बदल्ती के सल्तनत के एक समूह था, इन राज्यों के बीछ, युध और छापा मारने अक्सर थे। उत्तर और पूर्व में इन राज्योन के वंशज आज के सैमिनोमदिछ पस्तोरलिस्त लोगों और देश के उत्तरी और मध्य हिस्सों में किसान कर रहे हैं।

३)चाड अफ्रीकी महाद्वीप पर सबसे गरीब देशोन में से एक है। महान दूरी और गरीब अवसंरचना एक राश्त्रव्यपी, साझ खाद्य अर्थव्यवस्था के विकाद में बाधा उत्पन्न कर दिये है। शहरों के बाहर स्थानीय समुदायोन को काफी हद तक आत्मनिर्भर खाद्य उत्पादन में है। वानिज्यिक खाद्य उत्पादन दक्शिन में केन्द्रित है। चाड पशुधन हैर्दिङ में लगे कर्मछारियोन की संख्या के बारे मेइन ४० प्रतिशत, और विनिर्मान, सेवा क्शेत्र में बाके है, और सेन के साथ एक अच्छी तरह से क्र्शि प्रधान अर्थव्यवस्थ है। अर्थव्यवस्थ के अधिकान्श खेती और पशुधन को ओओपर उठाने निर्वाह करने में सक्षम है ।

संस्कृति के रूप[संपादित करें]

संगीत- चाड के संगीत मैं इस तरह के किन्दै, धनुष वीणा का एक प्रकार के रूप मैं असामान्य उपकरणों की एक संख्या शामिल हैं; कककि, एक लम्बे तिन सींग; और हू हू, लाउडस्पीकरों के रूप में छलबशैस का उपयोग करता है एक तारवाला साधन । अन्य उपकरणों और उनके संयोजन अधिक विशिष्ट जातीय समूहों से जुडे होते हैं : सारा सीटी, बालाफोंस, वीणा और कोद्जो ड्रम पसंद करते हैं, और कनैम्बु बांसुरी की तरह उपकरणों के लोगों के साथ धोल की आवाज़ गथबन्धन किया गया है।

भोजन-

बाजरा चाड भर में मुख्या भोजन है। यह पेस्ट कि सॉस में डूबा रहे हैं गेंदों बनाने के लिए प्रयोग किया जाता है। उत्तर में इस व्यंजन अल्य्श के रूप में जाना जाता है; बिय के रूप में दक्षिण में। मछली लोकप्रिय है, जो आम तौर पर तैयार किया जाता है और बेचा या तो सलंगा के रूप में (धूप में सूखे और हल्के से स्मोक्ड अलैस्तैस और ह्य्द्रोछ्य्नुस) या बांदा (धूम्रपान बड़ी मछली) के रूप में मिल्थि है।

साहित्य-

अन्य सहैलिअन देशों में के रूप में, चाड में साहित्य एक आर्थिक, राजनीतिक और आध्यात्मिक सूखे कि इसक सबसे अच्छा ग्यात लेखकों निर्वासन य प्रवासी स्थिति से किखने के लिए मजबूर कर दिय है और राजनीतिक उत्पीड्न और ऐतिहासिक प्रवचन के विषयों का बोलबाला सहित्य उत्पन्न किया है। १९६२ के बाद से, २० चाड लेखकों कथा के कुछ ६० काम करता है। सबसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्द लेखकों के अलावा यूसूफ ब्रहिम सैद् बाबा मोउस्तफ, एन्तोनी आदी हैं।

reference[संपादित करें]

https://en.wikipedia.org/wiki/Chad https://globaledge.msu.edu