सदस्य:Maansi Agrawal/प्रयोगपृष्ठ/2

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

डॉट-कॉम असार (जिसे डॉट-कॉम बूम, तकनीक बबल, और इंटरनेट बबल भी कहा जाता है) एक ऐतिहासिक आर्थिक बबल था और अत्यधिक अटकलों की अवधि थी जो लगभग 1995 से 2000 तक हुई थी, एक अवधि इंटरनेट के उपयोग और अनुकूलन में चरम वृद्धि का। नास्डैक कंपोजिट स्टॉक मार्केट इंडेक्स, जिसमें कई इंटरनेट-आधारित कंपनियां शामिल थीं, दुर्घटनाग्रस्त होने से पहले 10 मार्च, 2000 को मूल्य में बढ़ीं थी। डॉट कॉम की दुर्घटना 11 मार्च, 2000 से 9 अक्टूबर, 2002 तक चला था। दुर्घटना के दौरान, कई ऑनलाइन शॉपिंग कंपनियां, जैसे कि पैटस डॉट-कॉम, वेबवैन, और बू डॉट-कॉम, साथ ही साथ संचार कंपनियां, जैसे वर्ल्डकॉम, नॉर्थपॉइंट कम्युनिकेशंस और ग्लोबल क्रॉसिंग विफल और बंद हो गईं थी। कुछ कंपनिया जैसे सिस्को, जिसके शेयर में 86% की कमी आई थी और क्वालकॉम ने अपने बाजार पूंजीकरण का एक बड़ा हिस्सा खो दिया था । और कुछ कंपनिया, जैसे कि ईबे और अमेज़ॅन डॉट कॉम, मूल्य में गिर गये थे लेकिन जल्दी से वापिस आ गये थे।

Nasdaq Composite dot-com bubble

प्रस्तावना[संपादित करें]

1993 में, मोज़ेक वेब ब्राउजर की रिलीज ने वर्ल्ड वाइड वेब तक पहुंच हासिल की पूरी दुनिया में। डिजिटल विभाजन और कनेक्टिविटी, इंटरनेट के उपयोग, और कंप्यूटर शिक्षा में प्रगति के परिणामस्वरूप इंटरनेट उपयोग में वृद्धि हुई थी। 1990 से 1997 के बीच, संयुक्त राज्य अमेरिका में कंप्यूटरों का प्रतिशत 15% से 35% तक बढ़ गया था क्योंकि कंप्यूटर स्वामित्व एक लक्जरी से एक आवश्यकता हो गयी थी। इस कारण कई नई कंपनियों की स्थापना की गई थी। साथ ही, उस समय कम ब्याज के कारण पूंजी की उपलब्धता में वृद्धि भी हुई थी।

असार[संपादित करें]

इन कारणों के परिणामस्वरूप, कई निवेशक किसी भी डॉट कॉम कंपनी में किसी भी मूल्यांकन पर निवेश करने के लिए उत्सुक थे, खासकर अगर इसके नाम मे इंटरनेट से संबंधित उपसर्ग या "डॉट-कॉम" प्रत्यय शामिल था। उद्यम पूंजी जुटाना आसान था। प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) से महत्वपूर्ण लाभ वाले निवेश बैंकों ने अटकलों को बढ़ावा दिया और प्रौद्योगिकी में निवेश को प्रोत्साहित किया था। 1995 और 2000 के बीच, नास्डैक कंपोजिट स्टॉक मार्केट इंडेक्स 400% बढ़ गया था। बूम के दौरान व्यक्तिगत निवेश बहुत बढ़ गयी थी और इस व्यापार में शामिल होने के लिए अपनी नौकरी छोड़ने वाले लोगों की कहानियां आम थीं। मूल्यांकन कमाई और मुनाफे पर आधारित थे जो दीर्घावधि के दृष्टि में सहीं नहीं थे, और निवेशक पारंपरिक मौलिक सिद्धांतों को नजरअंदाज करने के लिए तैयार थे। जिन कंपनियों ने अभी तक राजस्व उत्पन्न नहीं किया था, वे प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकशों के साथ बाजार में गए थे, और एक दिन में अपने स्टॉक की कीमतें तीन गुना और चौगुनी देखी थी। नास्डैक सूचकांक 10 मार्च 2000 को पिछले साल के अतिरिक्त 5048 पर दोगुना हो गया था। बाजार की चोटी पर, डेल और सिस्को जैसे प्रमुख उच्च तकनीक कंपनियों ने अपने शेयरों पर भारी बिकवाली की व्यवस्था की थी जिसके वजह से निवेशकों के बीच शेयरों को बेचने का तहलका मच गया था। कुछ हफ्तों के भीतर, शेयर बाजार में इसके मूल्य का 10% खो गया था। क्यूंकि निवेश पूंजी इन कंपनियो मे घटता जा रहा था, इनके शेयर की कीमत भी कम हो रहे थे। कुछ ही महिनो के अंदर जिन कंपनियों की बाजार पूंजीकरण लाखों डॉलर मे थी, वे बेकार हो गयी थी।

परिणाम[संपादित करें]

कई डॉट कॉम कंपनियां पूंजी से बाहर हो गईं थी और परिसमापन के माध्यम से चली गईं थी। शेयरधारकों के पैसे का दुरुपयोग करने के लिए कई कंपनियों और उनके अधिकारियों पर आरोप लगाया गया था और धोखाधड़ी के दोषी माने गये थे। यू.एस. सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमिशन ने निवेशकों को गुमराह करने के लिए सिटीग्रुप और मेरिल लिंच समेत निवेश फर्मों के खिलाफ बड़ी जुर्माना लगाई थी। नुकसान के बाद, खुदरा निवेशकों ने अपने निवेश पोर्टफोलियो को और अधिक सतर्क स्थिति में बदल दिया था। लोकप्रिय इंटरनेट मंच जो उच्च तकनीक शेयरों पर केंद्रित थे, जैसे सिलिकॉन निवेशक, याहू! वित्त, और मोटली फूल, इन सब में उल्लेखनीय रूप से उपयोगिता में कमी आई थी। हालांकि, कई कंपनियां दुर्घटना को सहन करने में सक्षम थीं। कम मूल्यांकन पर यद्यपि 48% डॉट कॉम कंपनियां 2004 के दौरान बचे थे।

नौकरी बाजार और कार्यालय उपकरण[संपादित करें]

कंप्यूटर से संबंधित डिग्री के लिए विश्वविद्यालय नामांकन उल्लेखनीय रूप से गिर गया था। अकाउंटेंट या वकील बनने के लिए स्कूल जानेवाले बेरोजगार प्रोग्रामर के उपाख्यानें एक आम बात थी। असफल स्टार्टअप ने अपने सभी कंप्यूटर उपकरण और कार्यालय उपकरण को समाप्त कर दिया था।

विरासत[संपादित करें]

चूंकि सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में वृद्धि स्थिर हुई, कुछ, जैसे अमेजन डॉट कॉम, ईबे और गूगल ने बाजार हिस्सेदारी हासिल की और अपने संबंधित क्षेत्रों पर हावी हो गये है। सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग, अर्थव्यवस्था के अन्य क्षेत्रों के समान निकटता से आया है, हालांकि अभी भी तेजी से विकास दर और अन्य क्षेत्रों की तुलना में उच्च मूल्यांकन पर है। फॉच्र्युन 500 के शीर्ष पर अब कई सूचना प्रौद्योगिकी कंपनियां हैं।

संदर्भ[संपादित करें]

https://www.investopedia.com/terms/d/dotcom-bubble.asp https://en.wikipedia.org/wiki/Dot-com_bubble http://www.nethistory.info/History%20of%20the%20Internet/dotcom.html