सदस्य:Ekshu98/प्रयोगपृष्ठ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

कानपुर[संपादित करें]

कानपुर शहर

परिचय

कानपुर भारत में १२वीं सबसे लोकप्रिय शहर हैं। यह प्रशासनिक मुख्यालय है, कानपुर दो भागों में बटा है- कानपुर नगर और कानपुर विभाजान। यह दूसरा सबसे बडा उत्तर भारत में औदयोगिक शहर हैं। यह नाम कारनापुर से उत्पन्न किया गया है जिसका अर्थ है- 'नगर जो कण का हो'।

इतिहास

१२०७ में राजा कान दिऔ ने कानपुरीया गाँव को स्थापित किया था। जो कि अब कानपुर के नाम से जाना जाता है।१९वीं सदी में कानपुर अग्रेजों के गैरिसन को रखने का एक महत्वतपुर्ण स्थान था। कानपुर में ७००० सैनिक थे जिनकी सहायता से अग्रेजों ने शाशन किया था। कानपुर अग्रेजों के हाथों में १८०१ में आया था। तब से कानपुर का एक नया रुप आज तक देखने को मिलता है। इसको 'पूर्व के मैनचेस्टर' के नाम से भी जाना जाता था।

जन्सांख्यिकी

कानपुर की जन्संख्या हैं २७०१३२४ और पुरे जिले कि संख्या हैं ४५२४३२४ जिसमें से २४५९८०६ पुरुष जन्संख्या है और २१२१४६२ महिला जनसंख्या।

मौसम

कानपुर में नम उपोष्णकटिबंधीय मौसम रहता है जो कि दिल्ली के मौसम से मेल खाता है। कानपुर भारत के उत्तरी समतल भूमि पर स्थित हैं। जहाँ चरम सीमाओं के तापमान देखने को मिलते हैं।यहाँ डिग्री तक तापमान गिर सकता है सर्दियों में और गर्मी में तापमान ४८ डिग्री तक भी चला जाता है। दिसंबर और जनवरी के महीने में कोहरा रहता हैं।कानपुर भारत में १२वीं सबसे लोकप्रिय शहर हैं। यह प्रशासनिक मुख्यालय है, कानपुर दो भागों में बटा है- कानपुर नगर और कानपुर विभाजान। यह दूसरा सबसे बडा उत्तर भारत में औदयोगिक शहर हैं। यह नाम कारनापुर से उत्पन्न किया गया है जिसका अर्थ है- 'नगर जो कण का हो'। १२०७ में राजा कान दिऔ ने कानपुरीया गाँव को स्थापित किया था। जो कि अब कानपुर के नाम से जाना जाता है।१९वीं सदी में कानपुर अग्रेजों के गैरिसन को रखने का एक महत्वतपुर्ण स्थान था। कानपुर में ७००० सैनिक थे जिनकी सहायता से अग्रेजों ने शाशन किया था। कानपुर अग्रेजों के हाथों में १८०१ में आया था। तब से कानपुर का एक नया रुप आज तक देखने को मिलता है। इसको 'पूर्व के मैनचेस्टर' के नाम से भी जाना जाता था।

खान-पान

यहाँ शकाहारी एंव मांसाहारी दोनों प्रकार के व्यंजन मिलते है। कानपुर में मुगल खाना पकाने कि तकनीकियों का प्रभाव रहा है। यहाँ के व्यजनों में कश्मीर और पंजाब जैसी विख्यात जगाओं का स्वाद मिलता हैं। कानपुर नवावी और पंजाबी व्यंजनों के लिए जाना जाता हैं।

दर्शनिक स्थान

कानपुर अपने पुराने स्मारकों से पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है। यहाँ बहुत प्राचीन जगह स्थित हैं। यहाँ बहुत सी नदियाँ,बाग,मंदिर,चिडियाघर और अनेकों घाट है जो की प्रमुख दर्शनिक स्थान है।

उपसंहार

कानपुर उत्तर प्रदेश का बहुत प्राचीन शहर हैं। इसकि खुबसुरती इसकी अवध कि मिटटी और यहाँ के लोगों के अपनेपन में हैं। यहाँ कि सभ्यता हि यहाँ कि पहँचान हैं।

उल्लेख

<ref>https://en.wikipedia.org/wiki/Kanpur</ref>

<ref>https://www.tripadvisor.in/Attractions-g667805-Activities-Kanpur_Uttar_Pradesh.html</ref>