सदस्य:Ankitaghosh09

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
Ankitaghosh09
[[File:
Simple
|250px|अन्किता]]
अन्किता
नाम आंकिता धोष
जन्मनाम आंकिता धोष
लिंग महिला
जन्म तिथि ३॰१०॰१९९७
जन्म स्थान तिरुपती
निवास स्थान अन्ध्रा प्रदेश
देश Flag of India.svg भारत
नागरिकता भारतीय
जातियता हिन्दू
शिक्षा तथा पेशा
पेशा छात्र
नियोक्ता -
शिक्षा बी॰ए
विश्वविद्यालय क्ख्रिस्ट
शौक, पसंद, और आस्था
शौक पढ़ना, खेलना
धर्म हिन्दू
राजनीती स्वतंत्र
रुचियाँ

किताबॆं

मेरे बारे में : मेरा नाम अन्किता है। मैं क्राइस्ट यूनीवर्सीटी में पढ़ती हूँ। मैं स्नातक (कला) की शिश्या हुँ। मुझे यह पढ़ना बहुत अच्छा लग रहा है। मैं यहाँ अर्थशास्त्र, राजनीतिक शास्त्र और सामाजशास्त्र कि शिश्या हुँ।

मेरे शिक्षा का सफर और मेरे सपने : मैने यह इस्लिये पढ़ने केलिए चुना क्युोंकि मैने अर्थशास्त्र और राजनीतिक शास्त्र पह्ले भी पढ़ा था और मुझे इन विषयोंं में और ग्यान प्राप्त करनी थी। मुझे सामाज के बारे में और जानना भी था जिसके लिये सामाजशास्त्र का ग्यान मेरे लिये बहुत ज़रुरी था। मुझे बड़े होकर एक आइ॰एस अॅफिसर बनना है। इन विषयों के ग्यान से मुझे भारत के प्रव्रति के बारे में और जान्कारी प्राप्त होगी जो मुझे आपे काम को करने में और भी ज़्यादा दिलचस्बी देगी। इन विषयों को पढ़ने से मेरे लिए यू॰पी॰एस्॰सी की परीक्शा में अच्छे अंक से पास होने में आसानी होगी। मेरा यह सपना है कि मैं बड़े होकर अपने माता-पिता का नाम रौशन करुं। उनका यह सपना है कि में दुनिया में बहुत नाम कमाउँ और यह भी एक वजह है जिस्के कारण मैं सरकारी कर्म्चारी बनना चाह्ती हुँ। मै उनसे बहुत प्यार करती हूँ और हमेशा उन्हें खुश देखना चाहती हूँ। मेरा एक और सपना है कि मैँ दुनिया में बड़ती पीड़ा को कम अरुं और पीड़ित लोगों की मदद करने के लिए कुछ करूं। मुझे गरीब और असहाय लोगों की मदद करने के कलिए कुछ करना है। में उनके लिये, अपने पैसों से कुछ करना चाहति हुँ; जैसेकि उन्हें अपने हाथों से खाना खिलाना, उनकी आर्थिक स्थिथि को सुधारना, या नहिं तो, उन्के मुँह पर मेरी वजह से एक मुस्कान देखना। मैं बड़ी होकर एक ममुली जीवन बिताना चहती हुँ और् इस सामज के लिये कुछ अच्छा करना चाहति हुँ। मैं अपने माता-पिता का सापना पुरा करने के लिये एक आइ॰एस अॅफिसर बनना चाहती हुँ। मैं इस दुनिया में लोगों को मेरी वजह से खुश देखना चाहती हुँ। यही मेरा सबसे बड़ा सपना है।