सदस्य:Ajith.james5

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
Ajith.james5
अजित जेम्स
अजित जेम्स
नाम अजित जेम्स
जन्मनाम अजित जेम्स
लिंग पुरुष
जन्म तिथि ११ अक्टूबर १९९६
जन्म स्थान कोडेयम
देश Flag of India.svg भारत
नागरिकता भारतीय
जातियता भारतीय
शिक्षा तथा पेशा
पेशा छात्र
नियोक्ता --
शिक्षा बीएससी
महाविद्यालय क्राइस्टयूनिवर्सिटी
विश्वविद्यालय क्राइस्टयूनिवर्सिटी, बेंगलुरु
उच्च माध्यामिक विद्यालय सेत्त फिलोमेनस स्कल
शौक, पसंद, और आस्था
शौक बैडमिंटन और क्रिकेट खेलना
धर्म ईसाई
राजनीती स्वतंत्र
चलचित्र तथा प्रस्तुति तारे ज़मीन पर
पुस्तक सभीतरहके
रुचियाँ

बैडमिंटन

सम्पर्क विवरण
वेबसाईट --
ब्लाग --
ईमेल ajithjames001@gmail.com
फेसबुक Ajith James
ट्विटर ---
                                     अजित जेम्स के बारे में           


मेरा नाम अजित्त जमेस है। मेरा जन्म ११ अक्टूबर १९९६ कोडेयम मे हुआ था और घर इदुक्कि,केरल मे है । मेरा घर मे पाँच लोग रहते है । पिताजी का नाम जमेस जोसेप्फ,माताजी का नाम मेरीकुत्ती जमेस है । मुझै दो भाई है । मेरे बडा भाई का नाम रेजित्त और दुसरे भाई का नाम अबिजित्त है । मेरा पिताजी एक बुस्सिन्स यकित है ।वह एक मेहनती आद्मी है। मेरा माताजी बहुत अच्छे-अच्छे खाना बानाकर मुझे देती है। उनकी खाना बहुत स्वतिश्दा है । मेरा बडा भाई मरिना इजीनियर और दुसरा भाई सिविल इजीनियर है । मेरा नागर इडुक्की बहुत सुदर जगह है । वहौ इडुक्की दम जौ बहुत प्रसिध्द है।

                  सिय्योन स्कल मे मेरा १-१० का पठाई पुरा किया था । मेने सेत्त फिलोमेनस स्कल मे बारहवी कक्षा तका पठाई पुराई था। मुझे बहुत ज्यादा दौस्त थे । मेरा दौ सबसे अच्छे दौस्ता का नाम है- जैसोन ओर अकश है। दोस्तो के साथ बात करना मुझे ज्यादा पसद है। परिवार के साथ और दोस्तो के सात धुमना मुझ अच्छा लगता है। मेरे विध्यालय का दिनो मुझे अभी भी याद है। मेरे दोस्तो और अथ्यापकौ के साथ बिताया गया दिनौ मेरे जिदगी के सबसे अच्छे दिन थे। 
                    मुझे बैडमिंटन खेलना ,फिलम देखना गाना सुनना आदी अच्छा लगता है। मैं 7 साल का था जब बैडमिंटन   खेलना शुरू कर दिया ।यह दिलचस्प है और यह मुझे स्वस्थ बना सकते हैं क्योंकि मैं बैडमिंटन खेलना पसंद है । मैं अक्सर बैडमिंटन खेलते हैं।  मुझै मेरे जिदागी मे एक बहुत यादकार घटना हुआ था । मेने मेरे दसवी कक्षा मे पठते हुआ समय मुझे बैडमिंटन खेलने का अवसर मिला। मुझे बहुत खुशी हुआ था । खेलने के लिए मेरे साथ एक और दौसत भी था। उसका नाम अखिल था। 
                    जीवन में मेरा महत्वाकांक्षा एक महान वैज्ञानिक बन गया है। एक वैज्ञानिक वह मानव जाति के लाभ के लिए विज्ञान का उपयोग कैसे करना चाहिए छोड़कर सोचने के लिए और कुछ नहीं है । यहाँ तक कि मेरे बचपन के दौरान , मैं विज्ञान के विषय में कई समस्याओं के बारे में सोचना इस्तेमाल किया। आकाश में क्या चमक रहा है ? सवालों की इस बाढ़ में मेरे मन में उठता है के लिए इस्तेमाल किया और मैं किसी भी उचित स्पष्टीकरण नहीं मिला है जब मैं परेशान महसूस करने के लिए प्रयोग किया जाता है । मैं अपने देश के लिए विज्ञान के क्षेत्र में नोबल पुरस्कार प्राप्त करना चाहते हैं। कभी कभी मैं इस एक निष्क्रिय सपना है कि लगता है। फिर भी मेरी कल्पना शक्ति से एक मात्र इच्छाधारी सोच के रूप में स्वीकार करने के लिए मना कर दिया। मैं अपने उद्देश्य के प्रति सचेत हो जाते हैं।