सदस्य:Aishwaryakv97/1

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

ई जे स्कोवेल

स्कोवेल्ल्

एडित जोय स्कोवेल (१९०७-१९९९) एक अंग्रेजी कवयित्री थे। उसने ने एक बार अपनी ज़िंदगी का सार अभिव्यक्त करते हुए कहा, "मैं सामान्य अनुभवों के साथ सोचता हूं, मेरा जीवन बहुत् साधारण है।" यह शायद उस्की धूर्त हास्य होगा। स्कॉवेल का जीवन् संतुष्ट थे और वह ऊपरी-मध्यम् वर्ग के परिवार से थे। आधुनिक कवयत्री होने पर भी उन्में उच्च् इतिहास और मुखर की कमी थी। भले ही उनकी कई रचनायें आत्मकथात्मक हैं, स्कॉवेल आम लोगों के जीवन पर ध्यान देकर उन पर आधारित हुई काव्यों को लिखती थी। स्कॉवेल की कविताएं निहित हैं और उसकी घटनाओं और अनुभवों एक प्रेरक पाठक के लिए असाधारण बनती है।


स्कोवेल १९०७ में शेफ़ील्ड, दक्षिण यॉर्कशायर में पैदा हुई थी । उसके पिता, एफ.जी. स्कोवेल, शेफ़ील्ड के पास एक गांव के रेक्टर थे, और स्कोवेल आठ बच्चों में से एक थे। एक अधिशिक्षक के बेटी होने के बावजूद भी वह भगवान पर अधिक विशवास नही रखे।उसकी कविताएं विश्वास के प्रश्नों का इलाज करती हैं और गंभीरता से संदेह करती हैं, और संभवत: उस कारण के लिए वह विश्वास की कमी के बावजूद, कभी-कभी एक धार्मिक कवि मानते हैं। शुरुवात में उसकी शिक्षा घर पर हुई और फिर सेस्टरटोन स्कूल में, जो उन्नीसवीं सदी में ब्रॉन्टे बहनों की स्कूल के नाम से जानकारी पाये। वह अपने पूरे जीवन के दौरान अपने भाई-बहनों के करीबी बने रहे। कैस्टरटन स्कूल में शामिल होने के बाद १८९८ में ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी में महिला कॉलेज में अपनी शिक्षा किये। [1] एक छात्र के रूप में उन्होंने अंडरग्रेजुएट पत्रिकाओं में कविताओं को प्रकाशित करना शुरू किया और कॉलेज के साहित्यिक जर्नल, फ़्रिटलिरी को संपादित किया। उसने क्लासिक्स कार्यक्रम में अपना अध्ययन शुरू कर दिया, लेकिन अंततः अंग्रेजी साहित्य में अपनी डिग्री ले ली।[2] १९३० में स्नातक होने के बाद स्कोवेल लंडन् चले गए और सचिव की नौकरियों की एक श्रृंखला में काम किया,राजनीतिक और साहित्यिक पत्रिका टाइम और टाइड के लिए सामयिक पुस्तक समीक्षा करते हुए।


१९३७ में स्कोवेल ने विख्यात ऑक्सफोर्ड पारिस्थितिकीविद् और प्रकृतिवादी चार्ल्स एल्टन से शादी की,जिन्होंने ब्रिटेन के पशु जनसंख्या के ब्यूरो की स्थापना की थी। उष्णकटिबंधीय वर्षावनों में पशु आबादी के अध्ययन में एक अत्यधिक प्रभावशाली विशेषज्ञ,एल्टन को कभी-कभी ब्रिटिश पारिस्थितिकी के संस्थापक माना जाता है। उन दोनों को एक बेटी कथेरिन (१९४०) और बेटा रोबेर्ट् (१९४३) में हुई।हालांकि स्कोवेल स ने १९३० के दशक में पूरी तरह से लिखना जारी रखा, थोडे ही प्रकाशित हुए। उसका शांत, महत्व और अंतरंग छंद अधिक और अधिक अप्रसिद्ध् थे। स्कोवेल बाद में १९३० के दशक के एक कवयत्री के रूप में पुनर्जीवित किया गया था, जब लेखक, ज्योफ्री ग्रिग्सोन ,स्कोवेल के काम का मुख्य् प्रशंसक, उसके आठ काव्यों को उनके पुस्तक में परकाशित किया।[3] ग्रिग्सोन ने उसके अवलोकन शैली की प्रशंसा की,और कहा कि वह एक कवयत्री है जो अपनी जिन्दगी को ज्यादा महत्व देती है और सेलिब्रिटी बनने में या अपनी आत्म-महत्व से चिंतित नही है। १९४४ में स्कोवेल की कविताएं, चेसेंथेमम्स की छाया की पहली पुस्तक प्रकाशित हुई थी,और उस्के बाद १९४६ में मिडसमर मीडोज। फिर एक दशक समाप्त होने के बाद उस्की तीसरी पुस्तक, 'द रिवर स्टीमर' प्रकाशित हुए। उन्की कवितायें महिलावों के विषय के बारे में और बचपन, मात्रत्व , विवाह, के बारे में होने के कारण समाज में अप्रसिद्ध थे।

परिचय[संपादित करें]

बचपन[संपादित करें]

जीवनी[संपादित करें]

शिक्ष्ण[संपादित करें]

रचनायें[संपादित करें]

  1. https://en.oxforddictionaries.com/
  2. https://www.internationalstudent.com/study-literature/what-is-english-literature/
  3. https://www.birdiefire.com/players