सदस्य:हस्नैन्/प्रयोगपृष्ठ/जैंगो

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

जैंगो (अंग्रेज़ी: Django) एक पाइथन पर आधारित मुक्तस्रोत वेबसाइट बनावट है, जो मॉडल-व्यू-टेम्पलेट (एमवीटी) वास्तुकला पैटर्न का पालन करता है । यह जैंगो सॉफ्टवेयर फाउंडेशन (डीएसएफ) द्वारा बनाए रखा गाया है, जो ५०१(सी)(३) गैर-लाभकारी के रूप में स्थापित एक स्वतंत्र संगठन है । [1]

जैंगो का प्राथमिक लक्ष्य जटिल, डेटाबेस संचालित वेबसाइटों के निर्माण का काम करने के लिये है । बनावट में पुन: प्रयोज्यता और घटकों की "प्लगिंग", कम कोड, कम युग्मन, तीव्र विकास, और सिद्धांत को दोहराना नहीं है । पाइथन का उपयोग सेटिंग्स फ़ाइलों और डेटा मॉडल के लिए भी किया जाता है । जैंगो भी इंटरफ़ेस के माध्यम से गतिशील रूप से जेनरेट और इंटरफ़ेस के माध्यम से कॉन्फ़िगर किए गए इंटरफ़ेस को वैकल्पिक प्रशासनिक निर्माण, पढ़, अद्यतन और हटा देता है । [2]

जैंगो का उपयोग करने वाली कुछ प्रसिद्ध साइटें सार्वजनिक प्रसारण सेवा, इंस्टाग्राम, मोज़िला, डिस्कस, वाशिंगटन टाइम्स, बिटबकेट और नेक्स्टडोर शामिल हैं । इसका इस्तेमाल पिनटेरेस्ट पर किया गया था, लेकिन बाद में साइट फ्लास्क पर बनी बनावट में चली गई । [3]

जैंगो का प्रतीक चिन्ह
जैंगो
मूल लेखक एड्रियन होलोवेटी, साइमन विल्सन
विकासकर्ता जैंगो सॉफ्टवेयर फाउंडेशन
पहली बार जारी: 21 जुलाई 2005; 14 वर्ष पहले (2005-07-21)[4]
प्रोग्रामिंग भाषा पाइथन
संचिका आकार 7.6 megabyte
विकास स्थिति Active
प्रकार Web framework
लाइसेंस 3-clause BSD


इतिहास[संपादित करें]

जैंगो २००३ के पतन में बनाया गया था, जब लॉरेंस जर्नल-वर्ल्ड अख़बार, एड्रियन होलोवाटी और साइमन विलिसन के वेब प्रोग्रामर ने अनुप्रयोग बनाने के लिए पाइथन का उपयोग शुरू किया । इसे जुलाई २००५ में बीएसडी लाइसेंस के तहत सार्वजनिक रूप से जारी किया गया था । बनावट का नाम गिटारवादक जैंगो रेंहड के नाम पर रखा गया था । जून २००८ में, यह घोषणा की गई कि एक नवगठित जैंगो सॉफ्टवेयर फाउंडेशन (डीएसएफ) भविष्य में जैंगो को बनाए रखेंगे । [5]

विशेषताएं[संपादित करें]

जैंगो के अनेक सारे विशेषताएं, उनमें से थोड़े बहुत यह है:

पुरज़े[संपादित करें]

पने स्वयं के नामकरण होने के बावजूद, जैसे कि कॉल करने योग्य वस्तुओं का नामकरण "एच टी टी पी" प्रतिसाद "दृश्य" उत्पन्न करता है, कोर जैंगो ढांचे को "एम वी सी" वास्तुकला के रूप में देखा जा सकता है । [6] इसके अलावा कोर ढांचे में शामिल हैं:

  • विकास और परीक्षण के लिए एक हल्का और स्टैंडअलोन वेब सर्वर ।
  • एक फार्म क्रमांकन और सत्यापन प्रणाली जो डेटाबेस में भंडारण के लिए उपयुक्त "एचटीएमएल" रूपों और मूल्यों के बीच अनुवाद कर सकती है ।
  • एक टेम्प्लेट सिस्टम जो ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग से उधार ली गई विरासत की अवधारणा का उपयोग करता है ।
  • एक कैशिंग रूपरेखा जो कई कैश विधियों में से किसी का उपयोग कर सकती है ।
  • मिडलवेयर वर्गों के लिए समर्थन जो अनुरोध प्रसंस्करण के विभिन्न चरणों में हस्तक्षेप कर सकते हैं और कस्टम कार्यों को अंजाम दे सकते हैं ।
  • एक आंतरिक डिस्पैचर सिस्टम जो एक अनुप्रयोग के घटकों को पूर्व-परिभाषित संकेतों के माध्यम से घटनाओं को एक दूसरे से संवाद करने की अनुमति देता है ।
पहली बार जैंगो की स्थापना की कामयाबी

अनुप्रयोगों[संपादित करें]

मुख्य जैंगो वितरण भी अपने "कंट्रीब" पैकेज में कई अनुप्रयोगों को बंडल करता है, जिसमें शामिल हैं:

  • एक एक्स्टेंसिबल ऑथेंटिकेशन सिस्टम ।
  • गतिशील प्रशासनिक इंटरफ़ेस ।
  • "आर एस एस" और "एटम" सिंडिकेशन फीड करने के लिए उपकरण ।
  • एक साइट की रूपरेखा जो एक जैंगो स्थापना को कई वेबसाइटों को चलाने की अनुमति देती है, प्रत्येक अपनी सामग्री और अनुप्रयोगों के साथ ।
  • "गूगल" साइटमैप बनाने के लिए उपकरण

विस्तारणीयता[संपादित करें]

जैंगो की कॉन्फ़िगरेशन सिस्टम तृतीय पक्ष कोड को नियमित परियोजना में प्लग करने की अनुमति देता है, बशर्ते कि यह पुन:प्रयोज्य ऐप सम्मेलनों का पालन करता है । दो हजार पांच सौ से अधिक पैकेज बनावट के मूल व्यवहार को बढ़ाने के लिए उपलब्ध हैं, जो मूल उपकरण से निपटने वाले मुद्दों के समाधान प्रदान करते हैं जैसे: पंजीकरण, खोज, एपीआई प्रावधान और खपत, सीएमएस इत्यादि । हालांकि, यह विस्तारशीलता आंतरिक घटकों निर्भरताओं से कम हो गई है । जबकी जैंगो दर्शन ढीले युग्मन का तात्पर्य है, टेम्पलेट फिल्टर और टैग एक इंजन कार्यान्वयन मानते हैं, और दोनों लेख और व्यवस्थापक बंडल अनुप्रयोगों को आंतरिक ओ अर एम् के उपयोग की आवश्यकता होती है । इनमें से कोई भी फ़िल्टर या बंडल ऐप्स एक जैंगो प्रोजेक्ट चलाने के लिए अनिवार्य नहीं है, लेकिन पुन: प्रयोज्य ऐप्स उन पर निर्भर करते हैं, जो डेवलपर्स को आधिकारिक ढेर का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं ताकि ऐप्स पारिस्थितिक तंत्र से पूरी तरह लाभ हो सके । [7]

सर्वर की व्यवस्था[संपादित करें]

जैंगो को फ्लैप (एक पाइथन मॉड्यूल) का उपयोग करके डब्ल्यू.एस.जी.आई, गनिकोर्न, या चेरोकी का उपयोग करके अपाचे, नग्गिक्स के संयोजन के साथ चलाया जा सकता है । जैंगो में फास्टसीजीआई सर्वर लॉन्च करने की क्षमता भी शामिल है, जो किसी भी वेब सर्वर के पीछे उपयोग को सक्षम बनाता है जो फास्टसीजीआई, जैसे कि लाइटटैड या हिवाथ का समर्थन करता है । [8] माइक्रोसॉफ्ट एसक्यूएल सर्वर का उपयोग माइक्रोसॉफ्ट ऑपरेटिंग सिस्टम पर जैंगो - माय.एस.क्यू.एल के साथ किया जा सकता है, जबकि इसी तरह के बाहरी बैकएंड आईबीएम डीबी २, एसक्यूएल कहीं भी और फायरबर्ड के लिए मौजूद हैं । डीजेंगो-नॉनरल नामक एक कांटा है , जो मोंगो डीबी और गूगल ऐप इंजन के डाटास्टोर जैसे नोएसक्यूएल डेटाबेस का समर्थन करता है । [9]


अनुवादी इतिहास[संपादित करें]

जैंगो टीम कभी-कभी कुछ रिलीज को "लॉन्ग टर्म सपोर्ट" (एल.टी.एस) रिलीज होने के लिए नामित करेती है । एलटीएस रिलीज के बाद में रिलीज की गति के बावजूद, गारंटीकृत अवधि के लिए लागू होने वाले सुरक्षा और डेटा हानि फ़िक्स लागू होंगे, आमतौर पर तीन से ज्यादा वर्ष । एक जैंगो परियोजना के विकास के लिए, कोई विशेष उपकरण आवश्यक नहीं है, क्योंकि स्रोत कोड किसी भी पारंपरिक पाठ संपादक के साथ संपादित किया जा सकता है । [10] फिर भी कंप्यूटर प्रोग्रामिंग पर विशेष संपादक, विकास की उत्पादकता में वृद्धि करने में मदद कर सकते हैं, उदाहरण के लिए, सिंटैक्स हाइलाइटिंग जैसी सुविधाओं के साथ । क्यूँकि जैंगो पाइथन में लिखा गया है, इसलिए पाठ संपादक जो पाइथन वाक्यविन्यास से अवगत हैं, इस संबंध में फायदेमंद हैं ।

समुदाय[संपादित करें]

जैंगो को बानाने वालो और उपयोगकर्ताओं के लिए "जैंगो-कोण" नाम से एक अर्धवार्षिक सम्मेलन है, जो सितंबर २००८ से आयोजित किया गया है । जैंगो-कोण यूरोप में प्रतिवर्ष मई या जून में आयोजित किया जाता है, जबकि एक अन्य संयुक्त राज्य अमेरिका में अगस्त या सितंबर में आयोजित किया जाता है, विभिन्न शहरों में । [11] २०१२ के जैंगो-कोण वाशिंगटन, डीसी में ३ से ८ सितंबर तक हुआ था । २०१३ जैंगो-कोण को हयात रीजेंसी होटल, शिकागो में आयोजित किया गया था और पोस्ट-कॉन्फ्रेंस "स्प्रिंटस" को डिजिटल बूटकैंप, कंप्यूटर प्रशिक्षण केंद्र में होस्ट किया गया था । [12] जैंगो का "मिनी-सम्मेलन" ऑस्ट्रेलिया के होबार्ट, में जुलाई २०१३ को, ऑस्ट्रेलिया के ब्रिस्बेन, में अगस्त २०१४ और २०१५ और ऑस्ट्रेलिया के मेलबोर्न, में २०१६ को आयोजित किए गए था । [13] २०१४ मे जैंगो-कोण यू.एस ने पोर्टलैंड को वापस आये ३० अगस्त से ६ सितंबर के बीच में । २०१५ के जैंगो-कोण यू.एस को ऑस्टिन , "टी एक्स" में ६ से ११ सितंबर को "ए टी एंड टी कार्यकारी केंद्र" में आयोजित किया गया था । जैंगो-कोण यू.एस २०१९, के २२ सितंबर को होगा, सैन डिएगो में फिर से आयोजित किया जाएगा, हाला कि यह अभी तक आधिकारिक तौर पर 2019.DjangoCon.US वेबसाइट पर घोषित नहीं किया गया है । [14]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. https://docs.djangoproject.com/en/dev/faq/general/#what-does-django-mean-and-how-do-you-pronounce-it
  2. https://docs.djangoproject.com/en/2.0/misc/design-philosophies/
  3. https://instagram-engineering.com/what-powers-instagram-hundreds-of-instances-dozens-of-technologies-adf2e22da2ad?gi=4036be5ee9e4
  4. "Django FAQ". अभिगमन तिथि 2 September 2014.
  5. https://www.djangoproject.com/weblog/2008/jun/17/foundation/
  6. https://docs.djangoproject.com/en/dev/faq/general/#django-appears-to-be-a-mvc-framework-but-you-call-the-controller-the-view-and-the-view-the-template-how-come-you-don-t-use-the-standard-names
  7. https://djangopackages.org/
  8. http://cherokee-project.com/doc/cookbook_django.html
  9. https://bitbucket.org/Manfre/django-mssql/src
  10. https://docs.djangoproject.com/en/1.7/internals/release-process/#long-term-support-lts-releases
  11. http://lanyrd.com/series/djangocon-eu/
  12. https://web.archive.org/web/20120805042732/http://www.djangocon.us/
  13. https://2018.djangocon.com.au/
  14. https://2018.djangocon.us/