सत्यप्रकाश मिश्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

सत्यप्रकाश मिश्र (जन्म २५ जून १९४५ - निधन-२७ मार्च २००७) समाजवादी विचारधारा के प्रगतिशील आलोचक के रूप में प्रसिद्ध रहे हैं। उनके लेखन एवं सम्पादन का क्षेत्र मुख्यतः आधुनिक हिन्दी साहित्य होते हुए भी उत्तर मध्यकाल अर्थात रीतिकाल पर भी केन्द्रित रहा है।

जीवन-परिचय[संपादित करें]

सत्यप्रकाश मिश्र का जन्म उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले के दोस्तपुर नामक कस्बे में २५ जून १९४५ ई॰ को हुआ था।[1] उनकी प्रारम्भिक शिक्षा दोस्तपुर में ही हुई। उच्च शिक्षा के लिए वे इलाहाबाद आ गये और उन्होंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से बी॰ए॰ एवं एम॰ए॰ उत्तीर्ण होने के बाद डी॰ फिल॰ की उपाधि भी वहीं से पायी।[1] जीविका के रूप में उन्होंने अध्यापन कार्य को चुना और इलाहाबाद डिग्री कॉलेज से अध्यापन की शुरुआत की। सन् १९७९ में उनकी नियुक्ति इलाहाबाद विश्वविद्यालय के हिन्दी विभाग में हुई, जहाँ वे क्रमशः आचार्य (यूनिवर्सिटी प्रोफेसर) के पद तक पहुँचे। हिन्दी विभाग के अध्यक्ष पद पर कार्य करते हुए ही २७ मार्च २००७ को उनका निधन हुआ।[2] बीच में वे टोक्यो विश्वविद्यालय, जापान में विजिटिंग प्रोफेसर बनकर भी गये, परन्तु वहाँ मन नहीं रमने के कारण बीच में ही छोड़कर चले आये। विजिटिंग प्रोफेसर के रूप में उन्हें लेपजिंग विश्वविद्यालय, जर्मनी एवं कैथोलिक विश्वविद्यालय, बेल्जियम की ओर से भी बुलावा आया था, परन्तु वे नहीं गये | उनकी छह बहन थी ओर वह घर में सबसे बड़े थे ।[2]

प्रकाशित कृतियाँ[संपादित करें]

  1. यह पथ बन्धु था का अध्ययन
  2. रीति काव्य : प्रकृति एवं स्वरूप
  3. कवि शिक्षा की परम्परा
  4. आलोचक और समीक्षाएँ
  5. मध्यकालीन काव्य आन्दोलन-२
  6. काव्य भाषा पर तीन निबन्ध (सहलेखन)
  7. कृति विकृति संस्कृति-२०१० (उपलब्ध आलोचनात्मक लेखन से चयन;[3] लोकभारती प्रकाशन, प्रयागराज से प्रकाशित)

सम्पादित कृतियाँ[संपादित करें]

  1. जयशंकर प्रसाद ग्रन्थावली (चार खण्डों में) [संपादन एवं विस्तृत भूमिकाएँ- डॉ॰ सत्यप्रकाश मिश्र; लोकभारती प्रकाशन, प्रयागराज से प्रकाशित। चारों खण्ड अलग-अलग प्रसाद का सम्पूर्ण काव्य, प्रसाद के सम्पूर्ण नाटक एवं एकांकी, प्रसाद के सम्पूर्ण उपन्यास तथा प्रसाद की सम्पूर्ण कहानियाँ एवं निबन्ध के नाम से भी सजिल्द एवं पेपरबैक में उपलब्ध।]
  2. गोदान का महत्त्व
  3. प्रेमचन्द की कहानियाँ
  4. कहानीकार ज्ञानरंजन
  5. भारतेन्दु के श्रेष्ठ निबन्ध
  6. बालकृष्ण भट्ट : प्रतिनिधि संकलन
  7. बालकृष्ण भट्ट के श्रेष्ठ निबन्ध
  8. प्रेमचन्द के श्रेष्ठ निबन्ध
  9. सृजन-परिवेश
  10. महावीरप्रसाद द्विवेदी और हिन्दी पत्रकारिता
  11. रचना और आलोचना
  12. सुमित्रानन्दन पंत : व्यक्ति और काव्य
  13. अज्ञेय और तारसप्तक
  14. अव्यय
  15. आलोचना और बौद्धिकता
  16. सूचना प्रौद्योगिकी और सृजनशीलता
पत्रिकाओं का सम्पादन-
  1. माध्यम (पुनर्प्रकाशित रूप में सम्पादन)
  2. वर्तमान साहित्य का आलोचना विशेषांक
  3. चेतना (भारतीय उच्च अध्ययन संस्थान, शिमला की पत्रिका)

अन्य विशिष्ट कार्य[संपादित करें]

  1. मानद निदेशक, इलाहाबाद संग्रहालय
  2. मानद पुस्तकाध्यक्ष, इलाहाबाद विश्वविद्यालय
  3. साहित्य मंत्री, हिन्दी साहित्य सम्मेलन, प्रयाग
  4. अध्यक्ष, व्यास सम्मान चयन समिति
  5. संयोजक, सरस्वती सम्मान, के॰के॰ बिरला फाउंडेशन, नयी दिल्ली
  6. सदस्य, मंगला प्रसाद पुरस्कार समिति, उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान

सम्मान[संपादित करें]

उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान के साहित्य भूषण सम्मान (२००६) से सम्मानित।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. कृति विकृति संस्कृति, सत्यप्रकाश मिश्र, लोकभारती प्रकाशन, इलाहाबाद, संस्करण-2010, अंतिम आवरण-फ्लैप पर लेखक परिचय में उल्लिखित।
  2. बालकृष्ण भट्ट के श्रेष्ठ निबन्ध, सत्यप्रकाश मिश्र, लोकभारती प्रकाशन, इलाहाबाद, पेपरबैक संस्करण-2011, पृष्ठ-i (लेखक परिचय में उल्लिखित।)
  3. कृति विकृति संस्कृति, सत्यप्रकाश मिश्र, लोकभारती प्रकाशन, इलाहाबाद, संस्करण-2010, पृष्ठ-vii.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]