सचल सरमस्त

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
हजरत सचल सरमस्त
Hazrat Sachal Sarmast.JPG
जन्म 1739 CE
Daraza, Khairpur Mirs
मृत्यु 1827 CE

सचल सरमस्त (1739–1827) (सिंधी: سچلُ سرمستُ, उर्दू: سچل سرمست) सिन्ध के एक सूफी [[कवि] थे। उनकी रचना 'सचल जो रसालो' (सचल वाणी) सिन्धी साहित्य में महत्वपूर्ण स्थान रखती है।