संरचनात्मक समावयवता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

संरचनात्मक समावयवता (Structural isomerism या constitutional isomerism (per IUPAC)) वह समावयवता है जिसमें दो या दो से अधिक अणुओं , का अणुसूत्र तो समान होता है किन्तु उनके परमाणु आपस में अलग-अलग क्रम में आबन्धित होते हैं। संरचनात्मक समावयवता, त्रिविमसमावयवता से अलग प्रकार की समावयवता है।

संरचनात्मक समावयवता ३ प्रकार की होती है- कंकाली (skeletal), स्थितिक (positional), तथा कार्यात्मक समावयव (functional isomers या regioisomers)।

उदाहरण
  1. n-ब्यूटेन और इसो-ब्यूटेन(दोनों C4H10)
  2. एथनॉल और डाईमेथिलइथर (दोनों C2H6O)
  3. α-, β- और γ-मेथिलपाइराइडीन (सभी C6H7N)