संजु सैमसन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


संजू विश्वनाथ सैमसन को सामान्यत संजू सैमसन कहा जाता है। ११ नवंबर१९९४ को इनका जन्म हुआ है। वह भारतीय अंडर 19 क्रिकेट टीम के उप कप्तान है। वह एक विकेटकीपर बल्लेबाज है। वह तिरुवनंतपुरम की निवासी है और वह आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलते है। घरेलू मैदान में केरल का प्रतिनिधित्व करते है। वह आईपीएल और चैम्पियंस लीग ट्वेंटी-२० में अर्धशतक बनाने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी है। वह रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर बनाम राजस्थान रॉयल्स के मैच में २९ अप्रैल २०१३ को यह हासिल क। वह एक आधिकारिक सर्वेक्षण में आईपीएल 2013 में सीजन का सर्वश्रेष्ठ युवा खिलाड़ी के रूप में घोषित किया गया। उसे २०१३ में ऑस्ट्रेलिया में अंडर-19 त्रिकोणीय सीरीज के लिए भारत अंडर-19 टीम के उपकप्तान नियुक्त किया गया था।

प्रारंभिक जीवन[संपादित करें]

संजू का जन्म तिरुअनंतपुरम में हुआ था। उनके पिता सैमसन विश्वनाथ दिल्ली पुलिस के एक पुलिस कांस्टेबल थे जो संजू के क्रिकेट कैरियर को आकार देने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उनके माता का नाम लीजी है। संजू सेंट जोसेफ हायर सेकेंडरी स्कूल तिरुवनंतपुरम केरल से अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की है।

प्रथम श्रेणी कैरियर[संपादित करें]

संजू बहुत कम उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था। वह केरल के तहत क्रिकेट टीम के सदस्य था। उन्होंने टीम की कप्तानी की और अपने पहले मैच में ही अपना शतक पूरा किया। वह अंडर-१६ के तहत, अंडर-१९ के केरल राज्य क्रिकेट टीमों के कप्तान थे। वह उम्र के १५ साल का था जब केरल के लिए रणजी ट्रॉफी में खेलने के लिए चुना गया था। संजू जून २०१२ में मलेशिया में आयोजित अंडर-१९ एशिया कप टूर्नामेंट में भारत का प्रतिनिधित्व किया। उन्होंने ३ मैचों में केवल १४ रन बनाने से उनका प्रदर्शन टूर्नामेंट में बराबर के नीचे था। २०१३ में संयुक्त UAE में अंडर-१९ एशिया कप के अंतर्गत, वह भारत पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल में अपने शतक के जरिये कप बनाए रखने में मदद करता है। वह अंडर-१९ के तहत भारतीय टीम के उप कप्तान थे और ३ नवम्बर २०११ को केरल रणजी ट्राफी टीम के लिए अपनी व्यवसाय की शुरुआत की।

आईपीएल कैरियर[संपादित करें]

आईपीएल में उन्होंने २०१२ में कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाड़ियों के पूल के एक सदस्य था, लेकिन वह किसी भी मैच नहीं खेल पाए थे। २०१३ में, वह राजस्थान रॉयल्स के लिए हस्ताक्षर किए। उन्होंने याग्निक चोट से उबरने के लिए विफल रही नियमित विकेटकीपर के बाद १३ अप्रैल २०१३ पर किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ अपने आईपीएल करियर की शुरुआत की। हिन्दू उसके प्रदर्शन के बारे में अपनी प्रशंसा के साथ असंयत था " केरल क्रिकेट खिलाड़ी के शांत प्रदर्शन उसे कई प्रशंसकों जीता और वह मध्यक्रम में रॉयल्स के समस्याओं के उत्तर में से एक साबित हो सकता है "। क्रिकेट कमेंटेटर हर्षा भोगले संजू की बल्लेबाजी देखकर ट्वीट " मैं संजू सैमसन को खेलते देखा पहली बार केरल से आ रही अच्छी फसल कबूल करना चाहिए .संजू २९ अप्रैल २०१३ को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ राजस्थान रॉयल्स के लिए अपने दूसरे मैच खेला। संजू को नं .३ के लिए बल्लेबाजी क्रम मे पदोन्नत किया गया था। जब राजस्थान रॉयल्स १७२ का कठिन लक्ष्य पीछा कर रहे थे उन्होने ४१ गेंदों पर ६३ रन बनाए और ४६ गेंदों पर ६८ रन की शेन वाटसन के साथ अपनी साझेदारी पर राजस्थान रॉयल्स की जीत की नींव रखी थी। सैमसन ईडनगार्डन में राजस्थान रॉयल्स बनाम अपने तीसरे आईपीएल मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स में उसके अच्छे रन जारी रखा। उन्होंने ३६ गेंदों पर एक अच्छी तरह का निर्माण ४० रन बनाए। ५ मई २०१३ को, संजू पुणे वॉरियर्स के खिलाफ राजस्थान रॉयल्स के लिए अपने ४ आईपीएल मैच में ' नया सोच' का पुरस्कार जीता . वह एक तनावपूर्ण स्थिति में आया था और 2.1 ओवर में स्टुअर्ट बिन्नी के साथ २५ रन की साझेदारी करने के लिए एक उपयोगी योगदान दिया। संजू, अब क्रिकेट पंडितों और क्रिकेट प्रेमियों के रडार में, ९ मई २०१३ को राजस्थान रॉयल्स बनाम मैच किंग्स इलेवन पंजाब में एक बार फिर अपनी क्षमता का प्रदर्शन किया। राजस्थान रॉयल्स ने आईपीएल २०१३ में भारत में आयोजित होने वाले चैम्पियंस लीग ट्वेंटी -20 प्रतियोगिता के लिए योग्य थे। संजू सरकारी आईपीएल वेबसाइट में किए गए एक सर्वेक्षण के माध्यम से आईपीएल २०१३ में सर्वश्रेष्ठ युवा खिलाड़ी का पुरस्कार जीता था। आईपीएल 2014 के मौसम से पहले, राजस्थान रॉयल्स एक करोड़पति बनने के लिए सबसे कम उम्र के बनने के ४ करोड़ रुपए के लिए संजू सैमसन को बनाए रखा है।

चैंपियंस लीग २०१३

संजू के अच्छे फार्म २०१३ चैंपियंस लीग ट्वेंटी-२० में भी जारी था। वह १२७ के स्ट्राइक रेट से ३९ रन की औसत से ३ हाफ सेंचुरी सहित ६ मैचों में १९२ रन बनाए थे। उन्होंने ५ कैच और एक स्टंपिंग के साथ २२ चौकों और ५ छक्कों की मदद से एक महान पारी खेला था। मुंबई इंडियंस बनाम फाइनल में ३३ गेंदों में से ६० रन की अपनी शानदार पारी उनकी CLT20 कैरियर का सर्वश्रेष्ठ मैच था। संजू २१ सितंबर २०१३ को मुंबई इंडियंस के खिलाफ अपने CLT20 शुरुआत की। सचिन तेंदुलकर, रोहित शर्मा और काइरोन पोलार्ड - वह मुंबई के बिग ३ का कैच लिया। वह No.३ पर आए थे और ८ चौकों की मदद से ४७ गेंदों पर ५४ रन बनाए। रॉयल्स के लिये अर्धशतक बनाने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बन गए। लायंस के खिलाफ दूसरे मैच में उने बर्खास्त कर दिया गया। ब्रैड हॉज राजस्थान रॉयल्स के हर मैच जीतने कीतालिका के शीर्ष पर थे। रॉयल्स 14 रन से चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ् मैच जीता और CLT20 के फाइनल में प्रवेश किया। CLT20 २०१३ के महाकाव्य फाइनल में रॉयल्स मुंबई इंडियंस के खिलाफ खेले थे। रॉयल्स ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया था। मुंबई इंडियंस 20 ओवर में एक विशाल २०२ का स्कोर कर दिया। परेरा को पहले ओवर में खारिज कर दिया गया था जब संजू जल्दी No.३ पर खेलने आए थे। फिर संजू १८२ की स्ट्राइक रेट से ४ चौके और ४ बड़े पैमाने पर छक्के के साथ सिर्फ ३३ गेंदों पर 60 रन बनाया। मुंबई इंडियंस को CLT20 २०१३ के चैंपियन का ताज पहनाया गया। ६ मैचों में संजू सैमसन ने १९२ रन बनाए।

रणजी ट्रॉफी २०१३-२०१४

संजू रणजी ट्राफी में पहले मैच के लिए एक भव्य शुरुआत की थी। असम में २३ चौके और ५ छक्के भी लगाए। वह केरल का एक महत्वपूर्ण खिलाडी अपना पहला दोहरा शतक बना लिया। संजू वह केरल में ४८६ का एक विशाल स्कोर में मदद करने के लिए १२ चौकों और २ छक्कों की मदद से २८१ गेंदों पर ११५ रन बनाए, जहां थालास्सेरी पर आंध्र प्रदेश के खिलाफ दूसरे मैच में उसकी भयानक फार्म जारी रखा। १० चौके और एक छक्का: की मद्द्द से दूसरी पारी में उन्होंने ७३ गेंदों पर एक और 51 नाबाद रन बनाए। उन्होंने १८८ की औसत से २ मैचों मे ३७७ रनों के साथ मैच के दूसरे दौर के बाद रणजी ट्रॉफी २०१३-१४ के सर्वोच्च स्कोरर थे।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]