श्रेणी:लेख- जिनमें हिन्दी वर्तनी सुधार आवश्यक है

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

स्‍वच्‍छता संदेश

भारतीय दर्शन के अनुसार सृष्टि में तीन तत्‍व है – ईश्‍वर, जीव और प्रकृति। पर्यावरण प्रकृति का ही अंग है और हमें प्राण वायु अर्थात्‍ श्‍वास प्रकृति से ही मिलते हैं। यदि पर्यावरण स्‍वच्छ नहीं होगा तो वायु दूषित होगी। लेकिन यदि हम अपने आस-पास स्‍वच्‍छता के प्रति सजग होंगे तो हमारा पर्यावरण भी स्‍वच्‍छ होगा। तो आइए, इस स्‍वच्‍छता पखवाडे़ का हिस्‍सा बन कर अपने पर्यावरण को स्‍वच्‍छ रखने में योगदान दें। स्‍वच्‍छता अपनाएं, स्‍वच्‍छता बढांए और भारत को सुंदर बनाएं।

इस समय इस श्रेणी में कोई लेख या मीडिया(संचार-माध्यम) नहीं है।