श्रुतलेखन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

श्रुतलेखन का अर्थ है 'सुने हुए को लिखना' या 'सुनकर लिखना'। 'श्रुत' का अर्थ होता है,'सुना हुआ'। इस विधि में एक व्यक्ति बोलता है तथा दूसरा सुन कर उसे लिखता है। विद्यालयों में श्रुतलेखन का उपयोग वर्तनी सुधारने हेतु किया जाता है। आजकल बहुत सी इलेक्ट्रॉनिक युक्तियों में सुनकर लिखने की क्षमता है।

तकनीकी सन्दर्भ में[संपादित करें]

तकनीकी सन्दर्भ में श्रुतलेखन से आशय है कि कम्प्यूटर को बोलकर लिखवाना। इस विधि में प्रयोक्ता माइक्रोफोन में बोलता है तथा कम्प्यूटर में मौजूद स्पीच टू टैक्स्ट प्रोग्राम उसे प्रोसैस कर टैक्स्ट में बदलकर लिखता है। इस प्रकार का कार्य करने वाले सॉफ्टवेयर को श्रुतलेखन सॉफ्टवेयर कहते हैं। अंग्रेजी हेतु इस प्रकार के सॉफ्टवेयर विण्डोज़ एवं ऑफिस के कुछ संस्करणों में अन्तर्निर्मित हैं। इसके अतिरिक्त ड्रैगन नैचुरली नामक प्रसिद्ध सॉफ्टवेयर भी है।

हिन्दी हेतु अभी तक ऐसा केवल श्रुतलेखन-राजभाषा नामक सॉफ्टवेयर उपलब्ध है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]