श्री शैनेश्वर देवस्थान शनि शिंगणापुर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अहमदनगर जिलें के नेवासे तहसील स्थित श्री शैनेश्वर देवस्थान शनि शिंगणापुर अहमदनगर-औरंगाबाद राज्य मार्ग क्रमांक 60 पर घोडेगाँव से 5 कि॰मी॰ दूरी पर बसा हुआ है। जागृत श्री शैनेश्वर देव की ख्याति सूर्यपुत्र शनि देव के कारण शनि शिंगणापुर गाँव में कभी चोरी नहीं होती तथा किसी भी मकान में खिड़की, दरवाज़ा अथवा ताला लगाया नहीं जाता है। गाँववालो की मान्यता है कि अगर कोई चोरी करता है तो वह अंधा बन जाता है। चोर कभी गाँव की हद पार नहीं कर सकता। इसी तरह गुलशन कुमार की फ़िल्म सूर्यपुत्र शनि देव व प्रख्यात गायिका अनुराधा पौडवाल के भजनों के कारण शनि शिंगणापुर की लोक प्रियता बढ गई है। यहॉ पूरे भारत एवं विदेशों से असंख्य शनि भक्तों की भीड़ दर्शन के लिए लगी रहती है। आज के अस्थिर जीवन में हर कोई परेशान रहता है। मन:शांति और साडेसाती ग्रह पीड़ा से छुटकारा पाने के लिए शनि भक्त शनि शिंगणापुर अवश्य पधारते है। शनि भक्तों में अनेक फ़िल्म कलाकार, राजनेता गण शामिल है। देवता है लेकिन मंदिर नहीं, घर है लेकिन दरवाज़ा नहीं वृक्ष है पर छाया नहीं, भय है पर शत्रु नहीं। वैशाख वंद्य चतुर्दशी के अमावस के दिन शनि जयंति मनायी जाती है। पाँच दिनों तक यज्ञ और सात दिनों तक भजन, प्रवचन, कीर्तन आदि धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। भक्तों के ठहरने के लिए भव्य भक्त निवास एवं एक साथ हज़ारों भक्तों के भोजन के लिए भव्य प्रसादालय बनाया गया है। ट्रस्ट ने गो शाला, प्रसादालय, भक्त निवास, रास्तों का विकास, अस्पताल, स्कूल आदि अनेक विकास कार्य पूर्ण किए हैं। ओम निलांजल समाभासम्। रवि पुत्रम यमाग्रजम्। छाया मार्तंडसम्भुतम्। तम् नमामि शनौश्चरम्।।