श्री बंशीधर नगर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
श्री बंशीधर नगर
Nagar Untari
नगर उंटारी
रियासत (नगर गढ़)
रियासत (नगर गढ़)
श्री बंशीधर नगर is located in झारखण्ड
श्री बंशीधर नगर
श्री बंशीधर नगर
झारखंड में स्थिति
निर्देशांक: 24°17′N 83°30′E / 24.28°N 83.50°E / 24.28; 83.50निर्देशांक: 24°17′N 83°30′E / 24.28°N 83.50°E / 24.28; 83.50
ज़िलागढ़वा ज़िला
प्रान्तझारखण्ड
देश भारत
जनसंख्या (2011)
 • कुल6,277
भाषाएँ
 • प्रचलितभोजपुरी, हिन्दी
समय मण्डलभामस (यूटीसी+5:30)
पिनकोड822121
वाहन पंजीकरणJH 14

श्री बंशीधर नगर (Shree Banshidhar Nagar), जिसका पुराना नाम नगर उंटारी (Nagar Untari) था, भारत के झारखण्ड राज्य के गढ़वा ज़िले में स्थित एक बड़ा गाँव है। यह एक प्रशासनिक ब्लॉक भी है। यह ग्राम बाबा श्री बंशीधर मंदिर और राजा पहाड़ी मंदिर के लिए प्रसिद्ध है।[1][2]

विवरण[संपादित करें]

श्री बंशीधर नगर, जिसका पूर्व नाम नगर उंटारी था, गढ़वा ज़िले में प्रशासनिक ब्लॉक में से एक है। यह जिला मुख्यालय गढ़वा से पश्चिम की ओर 40 किमी दूर स्थित है। यह भवनाथपुर बिधानसभा में एक ब्लॉक मुख्यालय है। श्री बंशीधर नगर चार राज्यों ( झारखंड, बिहार, उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़) से घिरा हुआ है।[3] झारखण्ड राज्य की राजधानी रांची से श्री बंशीधर नगर की दूरी 212.5 किमी के आसपास है। यह स्थान बाबा श्री बंसीधर मंदिर और राजा पहारी मंदिर के लिए प्रसिद्ध है। श्री बंशीधर मंदिर में एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित राधा - कृष्ण और राजा पहाड़ी ( शिव मंदिर) की सदियों पुरानी सोने की मूर्ति है।

इतिहास[संपादित करें]

श्री बंशीधर नागर (पहले नगर उंटारी के नाम से जाना जाता था) एक शाही संपत्ति है, जिस पर कभी देव परिवार का शासन था। भैया रुद्र प्रताप देव इस क्षेत्र पर शासन करने वाले अंतिम शासक थे। भैया रुद्र प्रताप देव के पुत्र भैया शंकर प्रताप देव बिहार सरकार में पूर्व मंत्री और कई बार विधान सभा के सदस्य रहे है। परिवार के पास शहर में एक शानदार महल है जो श्री बंसीधर मंदिर के पास है और दर्शनीय है। परिवार अभी भी महल में रहता है और राज्य की राजनीति में सक्रिय रूप से शामिल है। वर्तमान परिवार के मुखिया राजा राज राजेंद्र प्रताप देव हैं।

भूगोल[संपादित करें]

रेलवे स्टेशन नगर उंटारी

श्री बंशीधर नगर 23°50' और 24°8' उत्तरी अक्षांश और 83°55 और 84°30 पूर्व देशांतर के बीच स्थित है। यह उत्तर में बिहार से और पूर्व में पलामू जिले से, दक्षिण में छत्तीसगढ़ से और पश्चिम में उत्तर प्रदेश से घिरा हुआ है। यह 5043.8 वर्ग किमी क्षेत्र में फैला हुआ है, और लगभग 46079 की आबादी है।[4] आसपास के गाँव और श्री बंशीधर नगर से इसकी दूरी निम्न है: कुशदंड 0.4 किमी, चित्रविश्राम 1.5 किमी, थरकिया 6 किमी, पुरैनी 1.6 किमी, जंगीपुर 3.4 किमी, भोजपुर 3.7 किमी, गरबांध 7.2 किमी, बिलासपुर 7.8 किमी।

2011 की जनगणना के अनुसार श्री बंशीधर नगर की आबादी 49050 है। इसकी जनसंख्या घनत्व 352 निवासियों प्रति वर्ग किलोमीटर (1,440 / वर्ग मील) है। 2001–11 के दशक में इसकी जनसंख्या वृद्धि दर 28.9% थी। श्री बंशीधर नगर में हर 1000 पुरुषों पर 987 महिलाओं का लिंग अनुपात है, और साक्षरता दर 42.13% है।

भाषा[संपादित करें]

यहां बोली जाने वाली भाषाओं में हिंदी, असूरी (एक आग्नेय भाषा जो मोटे तौर पर पलामू के दक्षिणी भाग में लगभग 17,000 लोगो द्वारा बोली जाने वाली एक भाषा), और भोजपुरी (बिहारी भाषा समूह में एक बोली), आदि शामिल है।

समारोह[संपादित करें]

श्री बंशीधर नगर में दुर्गा पूजा
श्री बंशीधर नगर में छठ पूजा

सुविधाएँ[संपादित करें]

  • बाजार: श्री बंशीधर नगर बाजार के नाम से एक छोटा बाजार ब्लॉक के बीच में स्थित है।
  • रेलवे स्टेशन: नगर उंटारी गहरवा से जुड़ा एक प्रसिद्ध रेलवे स्टेशन है और रेणुकूट केंद्र सरकार ने भगवान श्री कृष्ण के नाम पर इस रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर श्री बंशीधर नगर रेलवे स्टेशन रखने की स्वीकृति दी।
  • अस्पताल: ट्रामा सेंटर अस्पताल श्री बंशीधर नगर, श्री बंशीधर नगर के प्रसिद्ध अस्पताल में से एक है।

पर्यटन आकर्षण[संपादित करें]

  • सुखलदरी: यह श्री बंशीधर नगर के धुरकी में स्थित एक सुंदर झरना है। कई लोग यहां त्यौहारों में स्नान के लिए आते हैं।[5] यह मकर संक्रान्ति त्योहार के लिए विशेष रूप से जाना जाता है।
  • श्री बंशीधर मंदिर: यह एक बहुत पुराना " राधा - कृष्ण " मंदिर है। इस मंदिर में भगवान की सोने की मूर्तियाँ हैं। यह भी श्री बंशीधर नगर में देखने के लिए एक आकर्षक स्थान है।[6]
  • राजा पहारी: यह एक शिव मंदिर है जिसे पहाड़ी पर बनाया गया है, और जमीन स्तर से लगभग 300 मी (980 फीट) ऊपर है।

यह भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Tourism and Its Prospects in Bihar and Jharkhand Archived 2013-04-11 at the Wayback Machine," Kamal Shankar Srivastava, Sangeeta Prakashan, 2003
  2. "The district gazetteer of Jharkhand," SC Bhatt, Gyan Publishing House, 2002
  3. "CM रघुवर ने नगर उंटारी को दिया सौगात, नाम बदलकर किया बंशीधर नगर". प्रभात खबर. डिजिटल झारखंड डेस्क. 26 मार्च 2017. मूल से 26 मार्च 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 21 नवंबर 2019.
  4. "Villages & Towns in Nagaruntari Block of Garhwa, Jharkhand". www.census2011.co.in. मूल से 7 मई 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 21 नवंबर 2019.
  5. "सुखलदरी जलप्रपात नये वर्ष पर होगा गुलजार - Hindusthan Samachar". Dailyhunt (अंग्रेज़ी में). हिन्दुस्थान समाचार.
  6. "बंशीधर मंदिर". garhwa.nic.in. गढ़वा जिला मुख्यालय, झारखंड सरकार. अभिगमन तिथि 21 नवम्बर 2019.[मृत कड़ियाँ]