शून्यतः सृष्‍टि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
'जूड्स हिस्टोरिस्क म्यूजियम' में एली कंटेंट द्वारा निर्मित 'जीवन का वृक्ष'

शून्यतः सृष्‍टि ( अर्थात 'शून्य से सृजित सृष्टि' ; लातिन "Creatio ex nihilo" ) वह सिद्धान्त है जिसके अनुसार पदार्थ शाश्वत नहीं है, बल्कि किसी देव या भगवान द्वारा निर्मित है। [1] यह इस प्रश्न का आस्तिक उत्तर है कि ब्रह्माण्ड कैसे अस्तित्व में आया। यह "शून्य से शून्य ही उत्पन्न होता है" (लातीन : Ex nihilo nihil fit) के सिद्धान्त के विपरीत है जो यह मानता है कि सभी वस्तुएँ पहले से अस्तिवमान वस्तुओं से ही बनीं हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]