शुक ताल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फरनगर से प्रायः तीस किलोमीटर दूर सड़क मार्ग पर गंगा के तट पर अवस्थित यह वह तीर्थ है जहाँ पहली बार शुकदेव जी ने राजा परीक्षित को श्रीमद्भागवत सुनाया था। शुकदेव मंदिर के अलावा यहाँ साढ़े छियत्तर फीट ऊंची ऐसी हनुमान प्रतिमा भी दर्शनीय है जिसके भीतर सात सौ करोड़ बार लिखे गए राम नाम समाहित हैं।