शिमर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

शिमर इब्न जिल्जुशन या शिमर (अरबी: شمر بن ذي الجوشن الضبابي الهوازني) बानू किलाब जनजाति से जिल्जुशन का पुत्र था, जो अरब के हौजिनिनी क़सीद जनजातियों में से एक था। हज़रत अब्बास इब्न अली की मां उम्म उल-बानिन भी बनू किलाब जनजाति से थीं। इस्लाम में शिमर की एक अत्यचारी प्रतिष्ठा है। वह याजीद प्रथम के प्रति निष्ठा का भुगतान करने और इब्न ज़ियाद की उमाय्याद सेना में शामिल होने से पहले खारीज नेता था। वह उस व्यक्ति के रूप में जाना जाता है जिसने कर्बला की लड़ाई में इस्लामी पैगंबर हज़रत मुहम्मद सहाब के नवासे हज़रत हुसैन इब्न अली की हत्या कर दी थी।[1][2][3]

मौत[संपादित करें]

शिया परम्पराओं से संबंधित है कि शिमर को अंततः हज़रत अल-मुख्तार ताकाफी के सैनिकों ने मार डाला था, जिन्होंने हज़रत हुसैन और उनके परिवार के हत्यारों पर बदला लेने की कामना की थी।[4] शिमर शरीर के टुकड़े टुकड़े कर दिया थे और जंगली कुत्तों द्वारा नुचबाया गया था।[5]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Daniel Politi (20 January 2013). "Why is President Obama Depicted on a Huge Billboard in Tehran?". Slate magazine. मूल से 24 फ़रवरी 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 16 February 2013.
  2. "Iran's Obama billboard: what it really means". The Guardian. 20 January 2013. मूल से 24 अक्तूबर 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 16 February 2013.
  3. "تسليط الأضواء على هوية الجيش الذي قاتل الحسين؟". alshirazi.com. मूल से 4 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 October 2015.
  4. "الكتب - البداية والنهاية - ثم دخلت سنة ست وستين - ذكر مقتل شمر بن ذي الجوشن ، أمير السرية التي قتلت حسينا- الجزء رقم12". islamweb.net. मूल से 12 जुलाई 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 October 2015.
  5. Burke, Edmund; Yaghoubian, Nejde (2006). Struggle and Survival in the Modern Middle East. University of California Press. पृ॰ 243. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780520246614.