शिकार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

शिकार जानवरों को मारने या फँसाने का अभ्यास है, या ऐसा करने के इरादे से उनका पीछा करना है। जंगली जीवों या घरेलू जानवरों का शिकार आम तौर पर मनुष्यों द्वारा भोजन, मनोविनोद, उन शिकारी जानवरों को हटाने के लिए जो मनुष्यों या घरेलू जानवरों के लिए खतरनाक हैं, या व्यापार के लिए किया जाता है। वैध शिकार अवैध शिकार से अलग है, जो प्रजातियों की अवैध हत्या, फँसाना या कब्जा करना है। शिकार की जाने वाली प्रजातियों को भी शिकार ही के रूप में जाना जाता है और वह आम तौर पर स्तनधारी और पक्षी होते हैं।

शिकार लंबे समय से मानव उपभोग के लिए मांस आपूर्ति में प्रयुक्त एक अभ्यास रहा है। शिकार भी कीट नियंत्रण का साधन हो सकता है। शिकार समर्थकों का कहना है कि शिकार आधुनिक वन्यजीव प्रबंधन का एक आवश्यक घटक हो सकता है। उदाहरण के लिए, पर्यावरण की पारिस्थितिकीय वहन क्षमता के भीतर स्वस्थ जानवरों की आबादी को बनाए रखने में मदद के लिए जब प्राकृतिक शिकारी अनुपस्थित हो या बहुत दुर्लभ हो। हालांकि, अत्यधिक शिकार ने कई जानवरों को विलुप्त होने में भी भारी योगदान दिया है।[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "इंसानों की वजह से लुप्त हुई कई दुर्लभ प्रजातियाँ". बीबीसी हिंदी. 12 अगस्त 2008. अभिगमन तिथि 6 नवम्बर 2018.