शातोब्रिआँ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
शातोब्रिआँ

शातोब्रिआँ (François-René, vicomte de Chateaubriand ; फ्रेंच उच्चारण : ​[fʁɑ̃swa ʁəne də ʃatobʁijɑ̃] ; 1768-1848) फ्रांस के लेखक, राजनेता, इतिहासकार तथा राजनयिक थे। वे फ्रांसीसी साहित्य में रोमांटिसिज्म (Romanticism) के संस्थापक माने जाते हैं।

परिचय[संपादित करें]

शातोब्रिआँ का जन्म 'से मालों' (Saint-Malo) में एक प्राचीन कुलीन परिवार में हुआ था। आप अपने सरल किंतु उदास पिता, खिन्न अस्वस्थ माता, लुसिल नामक धार्मिक किंतु स्नायुदुर्बल बहन, ब्रेतान के वन्य दृश्य तथा समुद्र से प्रभावित हुए। संतप्त युवावस्था; निर्वासन एवं निर्धनता में इंग्लैंड में प्रवास; अमरीका, जेरूसलम, मिस्र तथा स्पेन की यात्राएँ, फ्रांस में साहित्यिक एवं राजनीतिक जीवन तथा अवकाशग्रहण आपके जीवन के प्रमुख पक्ष हैं। आपकी मित्रता फॉनतान तथा जुबेर नामक लेखकों और मादाम रेकामियर तथा मादाम द बोमा नामक सामाजिक महिलाओं से थी। आपकी पुस्तक 'ल जेनि दु क्रिस्तियानिस्म' संधि-दिवस १८०२ के सुअवसर पर प्रकाशित होकर फ्रांस में कैथोलिक मत की पुन:स्थापना में सहायक हुई। आपकी पुस्तिका 'द बुनापार्त ए दे बुरबाँ' फ्रांस में मित्रराष्ट्रों के प्रवेश के दिन (३१-३-१८१४) प्रकाशित हुई। आपने नैपोलियन की अधीनता में तथा बुरबाँ परिवार में कई पदों पर कार्य किया; किंतु अपनी दर्पपूर्ण स्वतंत्र प्रकृति के कारण आपको इन्हें त्यागना पड़ा। सन् १८११ में आप अकादेमि के सदस्य चुने गए। सन् १८३० में आपने राजनीति से अवकाश ग्रहण किया।

आपकी पुस्तकें आपके व्यक्तित्व का प्रतिबिंब हैं। 'एसाइ सुरले रेव्होलुशिआँ' तरुण-पांडित्य-पूर्ण ग्रंथ है। 'ल जेनिदु क्रिस्तियानिस्म' नामक पुस्तक में आपकी आरंभिक नास्तिकता के प्रायश्चित्त, ईसाई मत के समर्थन, सौंदर्य सिद्धांत एवं नवीन समलोचना का मिश्रण है। 'अतिला' और 'रने' नए युग के दो उपन्यास हैं। 'अतिला' रोमैंटिक पद्धति का एक विदेशी उपन्यास है। आपकी सर्वोत्कृष्ट कृति 'रने' में एक खिन्न, परिश्रांत एवं विप्लवकारी रोमैंटिक वीर का चित्रण है। यह शिलर और वायरन के 'चाइल्ड हैरोल्ड' के बीच की कड़ी है। 'ले मारतिर' में प्रकृतिपूजक आदर्शों की उच्चता दिखाई गई है। यह एक गद्यात्मक महाकाव्य है; किंतु आपकी प्रतिभा अधिकतर इतिहासोन्मुखी है। आपने अग्रेंजी साहित्य पर एक निबंध, यात्रावर्णन, 'ला व्हि द राँसे' तथा ऐतिहासिक ग्रंथ लिखे; और 'पैराडाइज लॉस्ट' का अनुवाद किया। भव्य चित्रण एवं उपकथाओं से परिपूर्ण आपका सर्वश्रेष्ठ ग्रंथ 'मेमवार दुत्र तॉम्ब' का एक प्रयत्न था।

शातोब्रिआँ विचारक नहीं थे, वरन् भव्य वर्णनों के लिए प्रसिद्ध एक कलाकार थे। आपकी अहंमन्यता सभी रचनाओं में परिलक्षित होती है। आपने बुद्धिवादी युग में अंत तथा रोमैंटिक युग के आंरभ की घोषणा की। इनके रोमैंटिसिज्म के मुख्य तत्व है :- प्रकृति एवं आत्मा की पूजा, प्रगीतात्मकता, भावुकता इत्यादि। इन्होंने ऐसे गद्य की रचना की जिसमें केवल स्पष्टता एवं यथार्थता के स्थान पर कोमलता एवं लचीलापन है। शातोब्रिआँ का दृष्टिकोण सौंदर्य प्रधान था। आपने कविता, उपन्यास, इतिहास तथा समालोचना के क्षेत्रों में फ्रेंच साहित्य को प्रभावित किया।