शर्मीन ओबैद-चिनॉय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
शर्मीन ओबैद-चिनॉय
شرمین عبید چنائے
Sharmeen Obaid Chinoy World Economic Forum 2013.jpg
2013 में विश्व आर्थिक मंच की वार्षिक बैठक में ओबैद-चिनॉय
जन्म शर्मीन ओबैद
12 नवम्बर 1978 (1978-11-12) (आयु 40)
कराची, सिंध, पाकिस्तान
राष्ट्रीयता पाकिस्तानी
व्यवसाय फ़िल्म निर्माता, पत्रकार
वेबसाइट
आधिकारिक जालस्थल

शर्मीन ओबैद-चिनॉय (उर्दू:شرمین عبید چنائے; जन्म: 12 नवंबर 1978), एक पाकिस्तानी पत्रकार, समाजसेवी और फ़िल्म निर्माता है। वे अकादमी पुरस्कार जीतने वाली पहली और दो बार जीतने वाली पहली पाकिस्तानी हैं। 28 फरवरी, 2016 को लास एंजेल्स (यू.एस.ए.) में संपन्न 88वें अकादमी पुरस्कार समारोह में उन्होने सर्वश्रेष्ठ डॉक्यूमेंट्री, शॉर्ट सब्जेक्ट का अकादमी पुरस्कार पुरस्कार जीता। चिनॉय की डाक्यूमेंट्री फिल्म ‘ए गर्ल इन द रिवरः द प्राइस ऑफ फॉरगिवनेस ’ है। इसमें पाकिस्तान में ऑनर किलिंग का मुद्दा उठाया गया है। वर्ष 2012 में अपने लघु वृत्त चित्र सेविंग फेस के लिए भी उन्होने अकादमी पुरस्कार जीता था। इसके अलावा चिनॉय वर्ष 2010 तथा वर्ष 2014 में अपनी दो डॉक्यूमेंट्री के लिए एमी पुरस्कार भी जीत चुकी हैं।[1][2]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Sharmeen Obaid wins second Oscar award" [शरमीन ओबैद ने दूसरा ऑस्कर पुरस्कार जीता]. द एक्सप्रेस ट्रिब्यून (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 5 मार्च 2016.
  2. "Pakistan's Oscar triumph for acid attack film Saving Face" [एसिड हमले पर आधारित पाकिस्तानी फिल्म सेविंग फेस को ऑस्कर मिला]. बीबीसी न्यूज (अंग्रेज़ी में). नोशीन अब्बास. अभिगमन तिथि 28 December 2014.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]