शक्ति - अस्तित्व के एहसास की

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
शक्ति - अस्तित्व के एहसास की
सर्जक रश्मी शर्मा
लेखक रश्मी शर्मा
निर्माण का देश भारत
भाषा(एं) हिन्दी
सत्र संख्या 1
प्रकरणों की संख्या 792 (7 जून 2019 तक)
निर्माण
प्रसारण अवधि 20 मिनट
कालक्रम
इसके पहले बालिका वधू

शक्ति - अस्तित्व के एहसास की एक भारतीय हिन्दी धारावाहिक है, जिसका निर्माण और लेखन का कार्य रश्मी शर्मा ने किया है। यह शो 30 मई 2016 से कलर्स पर हर सोमवार से शुक्रवार रात 8:00 बजे से रात 8:30 बजे तक प्रसारित होता है। 2018 से यह शो अब शनिवार को भी रात 8:00 बजे से रात 8:30 बजे तक प्रसारित किया जाने लगा है।

कहानी[संपादित करें]

ये कहानी दो बहनों, सौम्या और सुरभि की है। सौम्या से उसके पिता और दादी नफरत करते हैं, पर उसकी माँ निम्मी काफी प्यार करती है। इस कारण सुरभि को उसके पिता और दादी का सारा प्यार मिल जाता है। सौम्या एक शांत और चुपचाप रहने वाली लड़की है, वहीं सुरभि बहुत बात करती है और मजे में रहना पसंद करती है।

दस साल बाद

सौम्या और सुरभि बड़े हो जाते हैं। हरमन (विवियन डिसेना) का कुछ गुंडे पीछा करते रहते हैं, उसने बचने के लिए वो सौम्या के घर छुप जाता है। वहाँ वो सौम्या को पसंद करने लगता है। वहीं उसे पता चलता है कि इन गुंडों को सुरभि ने भेजा था, इस कारण वो उसका अपहरण करने का फैसला करता है, लेकिन गलती से सौम्या का अपहरण कर लेता है। उसके अगले ही दिन वो सौम्या को छोड़ देता है, लेकिन परिवार की इज्जत खराब न हो, इस कारण हरमन के पिता उसे सौम्या से शादी करने का आदेश देते हैं। सौम्या की माँ, निम्मी ये देख कर हैरान हो जाती है कि सौम्या की शादी हरमन होने वाली है, उसे ये डर लगा रहता है कि सौम्या का सच सामने आने के बाद हरमन उसे छोड़ कर चला जाएगा। कई लोगों के विरोध के बावजूद उन दोनों की शादी हो जाती है, और जल्द ही हरमन को सौम्या से प्यार हो जाता है। सौम्या को पता चलता है कि वो ट्रांसजेंडर है, और निम्मी के कहने पर वो ये बात हरमन से छुपा लेती है।

कलाकार[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "धारावाहिक 'शक्ति..' में अभिनय करेंगी रोशनी". करंट क्राइम. 5 अप्रैल 2016. अभिगमन तिथि 26 मई 2016.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]