वैद्युत अभिरूपण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

वैद्युत अभिरूपण (Electroforming) विद्युतधातुकर्म की एक प्रक्रिया है जिसके द्वारा धातु के पतली-पतली वस्तुएँ बनायी जाती हैं। इस विधि में किसी आधार (जिसको मैंड्रिल कहते हैं) के ऊपर धातु की एक पतली तह जमा की जाती है और बाद में मैंड्रिल के उससे अलग कर लिया जाता है। यह विद्युत्लेपन से इस मामले में अलग है कि विद्युतलेपन में जिस धातु का लेपन किया जाता है वह आधार से मजबूती से चिपकी रहती है। इसके अलावा वैद्युत अभिरूपण में जो तह जमा की जाती है वह विद्युत्लेपन में जमा की गयी तह की अपेक्षा बहुत मोटी होती है और आधार को हटा लेने पर भी वह अपने स्वरूप में बनी रह सकती है।

हाल के वर्षों में वैद्युत अभिरूपण का उपयोग माइक्रो तथा नैनो-स्केल की धातु की वस्तुएँ बनाने में होने लगा है। यह इसलिए सम्भव हुआ है कि मैंड्रिल के तह को परमाणु-दर-परमाणु पुनर्रचित किया जा सकता है।