वी. टी. कृष्णमाचारी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

राय बहादुर सर वंगल तिरुवेंकटाचारी कृष्णमाचारी (8 फ़रवरी 1881 – 14 फ़रवरी 1964) भारतीय नागरिक सेवक और प्रशासक थे। वो 1927 से 1944 तक बड़ोदा के दीवान और 1946 से 1949 तक जयपुर राज्य के प्रधानमंत्री रहे। इसके अतिरिक्त सन् 1961 से 1964 तक राज्य सभा सदस्य रहे।[1] भारत विभाजन के उपरान्त उन्हें हरेन्द्र कुमार मुखोपाध्याय के साथ भारतीय संविधान सभा का उपाध्यक्ष चुना गया था।ये भारत की संविधान सभा की प्रारूप समीति के अध्यक्ष थे।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "History of the service" [सेवा का इतिहास] (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि १ सितम्बर २०१६.