विश्व संविधान और संसद संघ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
विश्व संविधान और संसद संघ
स्थापना १९५८
संस्थापक प्रोफेसर फिलिप इस्ली और उनकी पत्नी मार्गरेट इस्ली
स्थापना हुई डेनवर कोलोराडो
उद्देश्य लोकतांत्रिक विश्व सरकार को बढ़ावा
प्रमुख लोग
पी एन मूर्ति और राज कुमार
ध्येय शांति की स्थापना
जालस्थल worldparliament-gov.org

विश्व संविधान और संसद संघ (डब्ल्यूसीपीए) एक लोकतांत्रिक, गैर-सैन्य, संघीय विश्व सरकार है जो शांति की स्थापना और पर्यावरणीय समस्याओं को हल करने पर आधारित है। इसके तीन सदन हैं (पीपल्स-काउंसलर-नेशंस), द वर्ल्ड एग्जीक्यूटिव, द वर्ल्ड ज्यूडिशियरी, द वर्ल्ड एडमिनिस्ट्रेशन और स्पिरिचुअल लाइजनस। इसके अध्यक्ष ग्लेन टी मार्टिन हैं। वह रेडफोर्ड यूनिवर्सिटी, वर्जीनिया में दर्शन और धार्मिक अध्ययन के प्रोफेसर हैं। वह शांति अध्ययन कार्यक्रम के संस्थापक हैं। वह लोकतांत्रिक विश्व कानून, धर्म के दर्शन और शांति अध्ययन के दार्शनिक नींव पर प्रोफेसर और लेखक हैं।[1] डब्ल्यूसीपीए की स्थापना १९५८ में प्रोफेसर फिलिप इस्ली और उनकी पत्नी मार्गरेट इस्ली ऑफ डेनवर कोलोराडो ने की थी, जो कि पृथ्वी के संघ के लिए एक संविधान बनाने और उस संविधान के तहत लोकतांत्रिक विश्व सरकार को बढ़ावा देने के लिए बनाया गया था।[2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "विश्व संविधान और संसद संघ (डब्ल्यूसीपीए)". मूल से 19 दिसंबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 मई 2020.
  2. "विश्व संविधान और संसद संघ के बारे में रेडफोर्ड विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर विवरण". मूल से 13 दिसंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 मई 2020.