पृष्ठ से जुड़े बदलाव

Jump to navigation Jump to search

किसी पन्ने के हवाले कई पन्नों में मौजूद हो सकते हैं, यह सूची उन पन्नों (या किसी श्रेणी के सदस्यों) में हुए हाल के बदलाव दिखाती है। आपकी ध्यानसूची में मौजूद पन्ने मोटे अक्षरों में दिखेंगे।

हाल के परिवर्तन संबंधी विकल्प पिछले 1 | 3 | 7 | 14 | 30 दिनों में हुए 50 | 100 | 250 | 500 बदलाव दिखाएँ
लॉग्ड इन सदस्यों के परिवर्तन छुपाएँ | अनामक सदस्यों के परिवर्तन छुपाएँ | मेरे परिवर्तन छुपाएँ | बॉट दिखाएँ | छोटे परिवर्तन छुपाएँ | दिखाएँ पृष्ठ श्रेणीकरण | विकिडेटा दिखाएँ
14:04, 20 सितंबर 2019 से नए परिवर्तन दिखाएँ।
   
पृष्ठ नाम:
संकेतों की सूची:
इस संपादन से नया पृष्ठ बना (नए पन्नों की सूची को भी देखें)
छो
यह एक छोटा सम्पादन है
बॉ
यह संपादन एक बॉट द्वारा किया गया था
डा
Wikidata परिवर्तन
(±123)
पृष्ठ आकार इस बाइट संख्या से बदला

18 सितंबर 2019

  • तबला‎;04:55 -18Harshil169 चर्चा योगदान106.76.96.180 (वार्ता) द्वारा किये गए 1 सम्पादन पूर्ववत किये। (ट्विंकल) टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
  • तबला‎;02:59 +18106.76.96.180 चर्चा→‎इन्हें भी देखें: डा. राजेश औदीच्य फर्रुखाबाद : 'दिन गिनत गिनत नन तकत तकत तन कत्त कत्त' यह कुछ शब्द आपको पढ़ने में भले ही अटपटे लग रहे हों, लेकिन यही वह शब्द हैं जिन्होंने फर्रुखाबाद को शास्त्रीय संगीत की दुनिया में एक पहचान दी। अफसोस इस बात का है कि इन शब्दों को गठने वाले को ही उसकी जन्म भूमि के लोगों ने भुला दिया है। हम यहां बात कर रहे हैं तबला के उस्ताद हाजी बिलायत अली की। तबला वादन में उन्होंने ऐसी शैली दी जिसके मुरीद दुनिया भर के लोग हुए। इसके बाद ही फर्रुखाबाद तबला घराने की मजबूत नीं... टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन

17 सितंबर 2019