"पिङ्गल" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
291 बैट्स् जोड़े गए ,  10 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
'''पिङ्गल''' [[भारत]] के प्रचीन [[भारतीय गणितज्ञ सूची|गणितज्ञ]] और [[छन्द सूत्र:शास्त्र]] के रचयिता।रचयिता । इनका काल ४०० ईपू से २०० ईपू अनुमानित है। इनकेजनश्रुति के अनुसार यह [[पाणिनि]] के अनुज थे। ग्रन्थछन्द:शास्त्र में [[मेरु प्रस्तार]] (पास्कल त्रिभुज), द्विआधारी संख्या (binary numbers), और [[द्विपद प्रमेय]] (binomial theorem) मिलते हैं।
 
==छन्द:शास्त्र के भाष्य==
* '''[[वृत्तरनाकर]] ''' - [[केदारभट्ट]] द्वारा ८वीं शती में रचित
 
* '''[[तात्पर्यटीका]]''' - [[त्रिविक्रम]] द्वारा १२वीं शती में रचित
 
* '''[[मृतसंजीवनी]]''' - [[हलायुध]] द्वारा १३वीं शती में विरचित
 
जनश्रुति के अनुसार यह [[पाणिनि]] के अनुज थे। [[हलायुध]] ने दसवीं शताब्दी के आसपास इनके छन्दशास्त्र पर 'मृतसंजीवनी' नामक भाष्य लिखा।
 
==इन्हें भी देखें==

दिक्चालन सूची