"बेगूसराय": अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
3,572 बाइट्स जोड़े गए ,  2 माह पहले
सम्पादन सारांश नहीं है
No edit summary
टैग: Reverted यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
No edit summary
{{Infobox Indian Jurisdiction |
| नगर का नाम = बेगूसराय जिला
| latd = 25.1555
| longd = 8586.4510
| जनगणना का वर्ष = २००१२०११
| जनसंख्या = 23429892,970,541
| घनत्व = 12221,500/km2
| क्षेत्रफल = 1918 sq. kms
| दूरभाष कोड = 91(0)06243
| वाहन रेजिस्ट्रेशन कोड = BR-09
|प्रदेश=बिहार|established_date=1972|leader_title_1=बेगूसराय लोकसभा|leader_name_1=गिरिराज सिंह, भाजपा|leader_title=जिला अधिकारी|leader_name=रोशन कुशवाहा|leader_title_2=एमएलसी, बिहार विधान परिषद|leader_name_2=राजीव कुमार, कांग्रेस|leader_title_3=महापौर|leader_name_3=उपेंद्र प्रसाद सिंह|literacy=64%|altitude=41m|official_languages=हिंदी, मैथिली}}
}}
 
'''बेगूसराय''' [[बिहार]] [[प्रांत|प्रान्त]] का एक जिला है। बेगूसराय मध्य बिहार में स्थित है। १८७० ईस्वी में यह मुंगेर जिले के सब-डिवीजन के रूप में स्थापित हुआ। १९७२ में बेगूसराय स्वतंत्र जिला बना।
 
बेगूसराय जिला भारतीय राज्य बिहार के अड़तीस जिलों में से एक है और यह बिहार की औद्योगिक और वित्तीय राजधानी है। बेगूसराय शहर इसका प्रशासनिक मुख्यालय है और मुंगेर डिवीजन का हिस्सा है।
 
== भौगोलिक संरचना ==
== साहित्य और संस्कृति ==
बेगूसराय हमारे राष्ट्रकवि [[रामधारी सिंह 'दिनकर'|रामधारी सिंह दिनकर]] की जन्मभूमि है।<ref>{{cite news|title=आज भी उपेक्षित है राष्ट्रकवि दिनकर की पैतृक गांव सिमरिया|url=http://www.livehindustan.com/news/begusarai/article1-National-poet-dinkar-native-village-simriya-ignored-today-in-begusarai-564460.html|publisher=हिंदुस्तान|access-date=17 अप्रैल 2017|archive-url=https://web.archive.org/web/20170418081538/http://www.livehindustan.com/news/begusarai/article1-National-poet-dinkar-native-village-simriya-ignored-today-in-begusarai-564460.html|archive-date=18 अप्रैल 2017|url-status=dead}}</ref> उन्हीं के नाम पर नगर का टाउन हॉल दिनकर कला भवन के नाम से जाना जाता है। यहां आकाश गंगा रंग चौपाल बरौनी ,द फैक्ट रंगमंडल. आशीर्वाद रंगमंडल जैसी कई प्रमुख नाट्यमंडलियां हैं जिन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त की हैं। राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय से पास आउट गणेश गौरव और प्रवीण गुंजन लगातार कला और साहित्य के लिए प्रतिबद्ध हैं। रंग कार्यशाला लगाकर रंगकर्म और कला साहित्य की नई पीढ़ी तैयार करने में लगे हैं । जिले के दिनकर भवन में लगातार नाटकों और कला से जुड़े विभिन्न सांस्कृतिक गतिविधियों का प्रदर्शन किया जाता रहा है। प्रतिवर्ष राष्ट्रीय नाट्य महोत्सव रंग संगम, रंग माहौल, आशीर्वाद नाट्य महोत्सव आदि का आयोजन किया जाता है। जिसमें अंतरराष्ट्रीय स्तर के कलाकारों ने अपनी बेहतरीन प्रस्तुति देते हैं। यहां की संस्कृति , साहित्य को बढ़ावा देने में लब्धप्रतिष्ठ कवि अशांत भोला,जनकवि दीनानाथ सुमित्र,चर्चित कवि प्रफुल्ल मिश्र,गीतकार रामा मौसम, प्रसिद्ध गीतकार अखिल सिंह,वरिष्ठ रंगकर्मी अनिल पतंग, कार्टूनिस्ट सीताराम, युवा कवि व पत्रकार नवीन कुमार, युवा कवि डॉ अभिषेक कुमार. युवा कवयित्री सीमा संगसार ,समाँ प्रवीण, का नाम उल्लेखनीय है। सिमरिया धाम एक आदि कुंभ स्थली हैं जहां स्वामी चिदात्मन द्वारा आदि कुंभ स्थली सिमरिया धाम का पुनर्जागरण किया गया। आदि कुंभा स्थली की खोज संंत शिरोमणि करपात्री अग्निहोत् परमहंस स्वामी चिदात्मन जी महाराज नेे किया और 2017 में यहां महाकुंभ भी लगा था फिर 2023 में यहां अर्ध कुंभ लगेगा. यहां वेद पढ़ने वााले विद्यार्थियों और शिक्षकों के नाम आचार्य रामनरेश झा.आचार्य वरुण पाठक विद्यार्थी पद्मनाभ झा, राम झा, लक्ष्मण झा, श्याम झा अन्य हैं।
[[चित्र:Ramdhari Singh Dinkar 1999 stamp of India.jpg|अंगूठाकार|रामधारी सिंह दिनकर]]
 
बेगूसराय जिले के सभी महाविद्यालय ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय दरभंगा से संबद्ध हैं। यहां के महत्वपूर्ण महाविद्यालयों में गणेश दत्त महाविद्यालय, एसबीएसएस कॉलेज, श्री कृष्ण महिला कॉलेज. चंद्रमा असरफी भागीरथ सिंघ कॉलेज खमहार .एपीएसएम कॉलेज बरौनी. आरसीएस कॉलेज मन्झौल. आदि हैं। अहम विद्यालयों में जे.के. इंटर विधालय. बीएसएस इंटर कॉलेजिएट हाईस्कूल, आर. के. सी. +२ विद्यालय फुलवरिया बरौनी, बीपी हाईस्कूल,श्री सरयू प्रसाद सिंह विद्यालय विनोदपुर , सेंट पाउल्स स्कूल, डीएवी बरौनी, बीआर डीएवी (आईओसी), केवी आईओसी, डीएवी इटवानगर,सुह्रद बाल शिक्षा मंदिर, साइबर स्कूल, जवाहर नवोदय विद्यालय, हमारे यहां बेगूसराय में सिमरिया धाम जो कि आदि कुंभ स्थलीन्यू गोल्डेन इंग्लिश स्कूल,विकास विद्यालय आदि।
 
 
== मुख्य त्यौहार ==
*[[छठ पूजा|छ‌ठ]]
*छ‌इठ
*[[सामा-चकेवा|सामा-चकेबा]]
* [[जन्माष्टमी|कृष्ण जन्माष्टमी ]]
*[[महाशिवरात्रि ]]
*चोरचन
*जितिया
*बैसक्खा छ‌इठ (छोटका पबनी)
*काली पूजा
*लक्ष्मी पूजा (कोजागरी)
*पाता पूजा
*मोहालया
*दुर्गा पूजा
*सरशत्तीसरस्वती पूजा
*विश्वकर्मा पूजा
*गंगा दशहरा
*बरसाइत
*होली
*दिवाली
 
== कृषिभूमि ==
 
== यातायात ==
 
बेगूसराय बिहार और देश के दूसरे भागों से सड़क और रेलमार्ग से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। नई दिल्ली-गुवाहाटी रेललाइन बेगूसराय से गुजरती है। उलाव में एक छोटा सा हवाई अड्डा है, जो बेगूसराय जिला मुख्यालय से पांच किलोमीटर दूर है। इस हवाई अड्डे का इस्तेमाल महत्वपूर्ण व्यक्तियों के शहर आगमन के लिए होता है। बेगूसराय में रेलवे की बड़ी लाइन की लंबाई 119 किलोमीटर और छोटी लाइन की लंबाई 67 किलोमीटर है। बरौनी रेलवे जंक्शन का पूर्व-मध्य बिहार में अहम स्थान है। यहां से दिल्ली, गुवाहाटी, अमृतसर, वाराणसी, लखनऊ, मुंबई, चेन्नई, बैंगलोर आदि जगहों के लिए ट्रेने खुलती है। गंगा नदी पर राजेंद्र पुल उत्तर बिहार और दक्षिण बिहार को जोड़ता है। बेगूसराय जिले में कुल अठारह रेलवे स्टेशन है। जिले का आंतरिक भाग मुख्य सड़कों से जुड़ा हुआ है। राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 28 और 31 इस जिले को देश के दूसरे भागों से जोड़ता है। जिले में राजमार्ग की लंबाई 95 किलोमीटर है, जबकि राजकीय पथ की लंबाई 262 किलोमीटर है। जिले के 95 प्रतिशत गांव सड़क से जुड़े हुए हैं। शहर में कई अच्छे अच्छे होटल भी हैं।
=== रेलवे ===
बेगूसराय जिले में एक सुव्यवस्थित रेलवे संचार प्रणाली है। यह पूर्व मध्य रेलवे द्वारा परोसा जाता है। बरौनी जंक्शन का रेलवे स्टेशन पूर्वी मध्य रेलवे का मुख्य जंक्शन है। देश में सबसे बड़े में से एक माने जाने वाले गरहरा यार्ड की स्थापना ने व्यापारिक गतिविधियों में काफी वृद्धि की है और विभिन्न वस्तुओं की आवाजाही में देश के कई हिस्सों से जुड़ा हुआ है। एक रेलवे लाइन क्रमशः पूर्व और पश्चिम में खगड़िया और समस्तीपुर जिलों को जोड़ने वाले क्षेत्र की उत्तर-पूर्वी सीमा के साथ गुजरती है। बेगूसराय रेलवे स्टेशन बेगूसराय शहर में स्थित है।
 
=== सड़क ===
एनएच-31 बेगूसराय जिले से होकर गुजर रहा है।
 
बेगूसराय जिला सड़कों के एक नेटवर्क द्वारा अच्छी तरह से सेवा प्रदान करता है। सड़कों को राष्ट्रीय राजमार्ग, राज्य राजमार्ग, प्रमुख जिला सड़कों और अन्य जिला सड़कों के रूप में वर्गीकृत किया गया है। उनका रखरखाव लोक निर्माण विभाग, ग्रामीण इंजीनियरिंग संगठन, जिला परिषद, नगर पालिकाओं द्वारा किया जाता है। यह पक्की सड़क द्वारा जिले के अंदरूनी हिस्सों से भी जुड़ा हुआ है। दो राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच) और एक राज्य राजमार्ग (एसएच) जिले को पार करते हैं। NH-28 जो जिले को उत्तर प्रदेश और बिहार के अन्य हिस्सों से जोड़ता है और NH-31 जिले को पार करता है और जिले को बिहार के अन्य हिस्सों से जोड़ता है। एक राष्ट्रीय राजमार्ग भी बनाया गया है जिसे असम एक्सेस रोड (एनएच 27) के रूप में जाना जाता है। यह बरौनी से शुरू होकर असम के गुवाहाटी तक जाती है। जिले में रेलवे की अच्छी सेवा है। एसएच-55 जिले से होकर गुजरता है। हाथीदह (पटना जिले में) में गंगा पर राजेंद्र पुल के निर्माण से जिले को बहुत फायदा हुआ है, खासकर बरौनी के औद्योगिक टाउनशिप के विकास में। बेगूसराय जिले में सिमरिया के पास गंगा पर राजेंद्र सेतु भी है, जो गंगा नदी पर स्वतंत्र भारत का पहला रेलमार्ग पुल था। सिमरिया में गंगा पर बेगूसराय में पहला छह लेन का पुल निर्माणाधीन है। यह अक्टूबर 2023 तक पूरा हो जाएगा।
 
=== वायुपथ ===
जिला मुख्यालय बेगूसराय के अलावा गांव उलाओ (बेगूसराय हवाई अड्डा) में एक हवाई अड्डा है।
 
==इन्हें भी देखें==
27

सम्पादन

नेविगेशन मेन्यू