"भगवान": अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
48 बाइट्स हटाए गए ,  9 माह पहले
सम्पादन सारांश नहीं है
छो (2402:3A80:11E3:B0F1:A045:123A:51FB:BD99 (Talk) के संपादनों को हटाकर ग्रामीण के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: वापस लिया
No edit summary
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
४-यश
५-ज्ञान और
जिसके पास ये ६ गुण है वह भगवान है।
६-सौम्यता
जिसके पास ये ६ गुण है वह भगवान है।
 
संस्कृत भाषा में भगवान "भंज" धातु से बना है जिसका अर्थ हैं:- सेवायाम् । जो सभी की सेवा में लगा रहे कल्याण और दया करके सभी मनुष्य जीव ,भूमि गगन वायु अग्नि नीर को दूषित ना होने दे सदैव स्वच्छ रखे वो भगवान का भक्त होता है
गुमनाम सदस्य

नेविगेशन मेन्यू