"चुटकुला": अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
2,596 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
छो
छो (Akshaykondal7 (Talk) के संपादनों को हटाकर रोहित साव27 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
:पुलीसवाले ने कहा - "अरे! तू तो बिलकुल पागल नहीं लगता। हम पागलख़ाने से बात कर के तुझे रिहा करवा लेंगे। अच्छा, तो बता वो गया कहाँ? निकलते ही भाग गया क्या?"
:पागल ने कहा - "नहीं, नदी में गीला हो गया था न, इसलिए मैंने उसे सूखने के लिए लटका दिया।"
:भाटिया जी एक कड़क अफसर हैं! स्टाफ अगर देरी से आए तो उनको बिलकुल बर्दाश्त नहीं होता ! नियम यह था कि जो भी देरी से आएगा वह रजिस्टर पर देरी से आने का कारण भी लिखेगा! उस दिन दफतर आने पर जब भाटिया जी ने रजिस्टर देखा तो उनका दिमाग ही ख़राब हो गया! तुरंत दस स्टाफ मेंबर्स को अपने दफतर में बुलाया! दस स्टाफ मेंबर्स दफतर में लाइन से गर्दन झुका कर खड़े थे…! भाटिया जी की आंखों से अंगारे बरस रहे थे और गुस्से से लाल पीले हो रहे थे! इतने में चपरासी मिठाई का डब्बा लेकर आया… और भाटिया जी को दिया ! भाटिया जी उठे आंखें तरेरते हुए सारे स्टाफ को मिठाई हाथ में दी और कहा:- खाओ! किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा था, पर डर के मारे सभी ने खा ली…! “बधाई हो,  भाटिया जी चिल्लाए…और कहा:- मुझे बहुत ख़ुशी है कि आज दफतर में एक साथ दस स्टाफ मेंबर्स की बीबियां प्रेग्नेंट हैं! और इससे भी बड़े आश्चर्य की बात यह है कि सबकी सोनोग्राफी भी आज ही हुई है! बेवकूफो , रजिस्टर पे लिखते समय यह तो देखो कि ऊपर वाले ने क्या लिखा है? बिना देखे ‘सेम ऐज़ अबव’ लिख देते हो! और तो और इससे भी बड़ा आश्चर्य यह है कि इन दस जनों में दो औंरतें भी हैं, जिनकी पत्नि प्रेग्नेंट है !
:'''पप्पू''': ''आई लव यू''.,'''पप्पू''': तुम मुझसे कितना प्यार करती हो? '''पिंकी''': जितना तुम करते हो.'''पप्पू''': अच्छा बेटी, मतलब तू भी बस टाइम पास कर रही थी.
:डॉक्टर - रात में टेंशन लेकर नहीं सोना चाहिए! मरीज - तो क्या मायके भेज दें...
3

सम्पादन

नेविगेशन मेन्यू