"नरसिंहपुर ज़िला": अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
537 बाइट्स जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
छो
भौतिक स्थिति जिले के उपलब्ध विवरण अनुसार
(Rescuing 1 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.5)
छो (भौतिक स्थिति जिले के उपलब्ध विवरण अनुसार)
}}
[[File:Narsinghpur railway station- - 1.jpeg|thumb|270px| नरसिंहपुर रेलवे स्टेशन]]
'''नरसिंहपुर ''' भारतीय राज्य [[मध्य प्रदेश]] का एक [[ज़िला|जिला]] है। जिले का मुख्यालय [[नरसिंहपुर]] है। मध्य प्रदेश के मध्य में स्थित नरसिंहपुर 5000 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला राज्य का प्रमुख जिला है। उत्तर में [[विन्ध्याचल]] और दक्षिण में [[सतपुड़ा]] की पहाड़ियों से घिरे नरसिंहपुर पर प्रकृति खूब मेहरबान हुई है। पवित्र [[नर्मदा नदी|नर्मदा]] नदी जिले की खूबसूरती में वृद्धि करती है। प्राचीन काल में यहां अनेक वंशों ने शासन किया था। महान वीरांगना रानी दुर्गावती के काल में यह स्‍थान काफी चर्चित रहा था। यहां अनेक ऐतिहासिक दर्शनीय स्थल हैं।मृृगन्नाथ धाम राजमार्ग, नरसिंह मंदिर, ब्राह्मण घाट, जोटेश्‍वरझोतेश्वर मंदिर आश्रम और दमारूडमरू घाटी यहां के लोकप्रिय पर्यटन स्थल हैं।
 
== '''ऐतिहासिक पृष्ठभूमि''' ==
 
== भूगोल ==
नरसिंहपुर की स्थति है अक्षांस 22º.45 उत्तर 23º.15 उत्तर, देशांतर 78º.38 पूर्व 79º.38 पूर्व। 359.8 मीटर समुद्र तल से ऊपर।
नरसिंहपुर की स्थति है {{coord|22.95|N|79.2|E|}}<ref>{{Cite web |url=http://www.fallingrain.com/world/IN/35/Narsimhapur.html |title=Falling Rain Genomics, Inc - Narsimhapur |access-date=6 फ़रवरी 2018 |archive-url=https://web.archive.org/web/20080211203143/http://www.fallingrain.com/world/IN/35/Narsimhapur.html |archive-date=11 फ़रवरी 2008 |url-status=dead }}</ref> पर। यहां कीऔसट ऊम्चाई है 347&nbsp;मीटर (1138&nbsp;फीट)।
 
=== जलवायु ===
 
गाडरवारा से 15 किमी कि दुरी पर स्थित ग्राम मोहपानी के पास स्थित बहुत खोबसूरत जगह जिसे छोटे जबलपुर नाम से जाना जाता है लोगो का कहना है कि अंग्रेजो के ज़माने का स्थित एक पुल और गुफाय है यहाँ एक नदी है जो गर्मी के दिनों में भी नहीं सूखती है उसके आगे '''रानी दहार''' नाम कि जगह है यहाँ पर राजा रानी का निबास था इस लिए रानी दहार नाम से जाना जाता है
 
शक्कर नदी के तट पर डमरू के आकार की एक घाटी में एक भव्य शिव मंदिर बनाया गया था।इस मंदिर में शिवलिंग स्थापित किया गया है और पवनपुत्र हनुमान जी की महान प्रतिमा के बगल में प्रतिष्ठित किया गया है। उक्त मंदिर में 15 फीट की नींव दी गई है।शिव की प्रतिमा के 10 फीट नीचे, 7 फीट ऊंची शिव की नंदी 7550 फीट के अर्ध-चक्र में बनी है।
 
=== चौरागढ़ (चौगान) किला ===
6

सम्पादन

नेविगेशन मेन्यू