"वाक्य और वाक्य के भेद" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
2405:204:A38B:8CE8:0:0:251:70AD के अवतरण 5078275पर वापस ले जाया गया : . (ट्विंकल)
छो (2409:4063:4112:F8A1:8B8C:3830:29A1:F659 (Talk) के संपादनों को हटाकर 2405:204:A38B:8CE8:0:0:251:70AD के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न Reverted
(2405:204:A38B:8CE8:0:0:251:70AD के अवतरण 5078275पर वापस ले जाया गया : . (ट्विंकल))
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
 
===अर्थ के आधार पर वाक्य के भेद ===
अर्थ के आधार पर आठ प्रकार के वाक्य होते हैं –1-[[विधान वाचक वाक्य]], 2- [[निषेधवाचक वाक्य]], 3- [[प्रश्नवाचक वाक्य]], 4- [[विस्मयादिवाचक वाक्य|विस्म्यादिवाचक वाक्य]], 5- [[आज्ञावाचक वाक्य]], 6- [[इच्छावाचक वाक्य]], 7-संकेतवाचक वाक्य, 8-[[संदेहवाचक वाक्य]]।
 
* '''[[विधान वाचक वाक्य|विधानवाचक वाक्य]]''' - वह वाक्य जिससे किसी प्रकार की जानकारी प्राप्त होती है, वह विधानवाचक वाक्य कहलाता है। उदाहरण -

दिक्चालन सूची