"जय भीम": अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  1 वर्ष पहले
Rescuing 1 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.5
छो ("जय भीम" सुरक्षित किया गया।: अत्यधिक बर्बरता एवं उत्पात ([संपादन=केवल स्वतः स्थापित सदस्यों को अनुमति दें] (समाप्ति 17:07, 2 नवम्बर 2020 (UTC)) [स्थानांतरण=केवल स्वतः स्थापित सदस्यों को अनुमति दें] (समाप्ति 17:07, 2 नवम्बर 2020 (UTC))))
(Rescuing 1 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.5)
कवि [[बिहारी लाल हरित]] ने जय भीम का प्रयोग पहली बार कविता के माध्यम से दिल्ली में किया ।<ref>{{Cite web |url=https://timesofindia.indiatimes.com/city/lucknow/Chronologically-Jai-Bhim-is-older-than-Jai-Hind-Experts/articleshow/51876821.cms |title=संग्रहीत प्रति |access-date=11 जून 2020 |archive-url=https://web.archive.org/web/20200128151449/https://timesofindia.indiatimes.com/city/lucknow/Chronologically-Jai-Bhim-is-older-than-Jai-Hind-Experts/articleshow/51876821.cms |archive-date=28 जनवरी 2020 |url-status=live }}</ref><ref>https://shodhganga.inflibnet.ac.in/bitstream/10603/212615/6/chapter-2.pdf</ref><ref>https://shodhganga.inflibnet.ac.in/bitstream/10603/123911/8/08_chapter%203.pdf</ref>
 
जर कोई व्यक्ती दुसरे व्यक्ती को 'जयभीम' बोलता हैं, तो सामने वाला व्यक्ती भी 'जयभीम' या 'सप्रेम जयभीम' (प्यार भरा जयभीम) कहकर उसके संबोधन का जवाब देता है। जयभीम का उपयोग आमतौर पर प्रत्यक्ष व्यक्ती या समुदाय के सामने, फोन पर, टेक्ट्स आदी के जरीये किया जाता है। जय भीम वाक्यांश अम्बेडकर के एक अनुयायी बाबू एल एन हरदास द्वारा गढ़ा गया था।<ref>{{Cite book|last=Ramteke|first=P. T.|title=Jai Bhim che Janak Babu Hardas L. N.|language = mr}}</ref> बाबू हरदास ने भीम विजय संघ के श्रमिकों की मदद से अभिवादन के इस तरीके को बढ़ावा दिया।<ref>{{Cite web|last=Jamnadas|first=K.|title=Jai Bhim and Jai Hind|url=http://www.ambedkar.org/jamanadas/JaiBhim.htm|access-date=16 अप्रैल 2017|archive-url=https://web.archive.org/web/20180325082336/http://www.ambedkar.org/jamanadas/JaiBhim.htm|archive-date=25 मार्च 2018|url-status=livedead}}</ref>
 
== संदर्भ ==
1,16,418

सम्पादन

नेविगेशन मेन्यू