"राम नवमी" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
26 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
छो
rearrange
(उपशीर्षक को सही किया)
छो (rearrange)
==राम जन्म कथा==
हिन्दु धर्म शास्त्रों के अनुसार [[त्रेतायुग]] में [[रावण]] के अत्याचारों को समाप्त करने तथा धर्म की पुन: स्थापना के लिये [[विष्णु|भगवान विष्णु]] ने मृत्यु लोक में श्री राम के रूप में [[अवतार]] लिया था। श्रीराम चन्द्र जी का जन्म [[चैत्र]] शुक्ल की नवमी <ref>{{Cite web |url=http://hindi.webdunia.com/religion-sanatandharma-history/%E0%A4%AA%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%AD%E0%A5%81-%E0%A4%B6%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%80%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%AE-%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%85%E0%A4%B8%E0%A4%B2%E0%A5%80-%E0%A4%9C%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E0%A4%AE-%E0%A4%A6%E0%A4%BF%E0%A4%A8%E0%A4%BE%E0%A4%82%E0%A4%95-1140408047_1.htm |title=जन्म समय एवं दिन |access-date=3 अप्रैल 2017 |archive-url=https://web.archive.org/web/20140901073257/http://hindi.webdunia.com/religion-sanatandharma-history/%E0%A4%AA%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%AD%E0%A5%81-%E0%A4%B6%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%80%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%AE-%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%85%E0%A4%B8%E0%A4%B2%E0%A5%80-%E0%A4%9C%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E0%A4%AE-%E0%A4%A6%E0%A4%BF%E0%A4%A8%E0%A4%BE%E0%A4%82%E0%A4%95-1140408047_1.htm |archive-date=1 सितंबर 2014 |url-status=live }}</ref> के दिन पुनर्वसु नक्षत्र तथा कर्क लग्न में रानी [[कौशल्या]] की कोख से, राजा [[दशरथ]] के घर में हुआ था।
 
== आदि राम ==
[[कबीर|कबीर साहेब]] जी '''आदि राम''' की परिभाषा बताते है की आदि राम वह अविनाशी परमात्मा है जो सब का सृजनहार व पालनहार है। जिसके एक इशारे पर‌ धरती और आकश काम करते हैं जिसकी स्तुति में तैंतीस करोड़ देवी-देवता नतमस्तक रहते हैं। जो पूर्ण मोक्षदायक व स्वयंभू है।<ref>{{Cite web|url=https://news.jagatgururampalji.org/ram-navami-2020-hindi/|title=आदि राम की जानकारी|last=|first=|date=|website=SA NEWS Channel|archive-url=https://web.archive.org/web/20200329060407/https://news.jagatgururampalji.org/ram-navami-2020-hindi/|archive-date=29 मार्च 2020|dead-url=|access-date=|url-status=live}}</ref><blockquote>''"एक राम दशरथ का बेटा, एक राम घट घट में बैठा, एक राम का सकल उजियारा, एक राम जगत से न्यारा"।।''</blockquote>
 
==रामनवमी पूजन==
 
 
<blockquote></blockquote>
 
== आदि राम ==
[[कबीर|कबीर साहेब]] जी '''आदि राम''' की परिभाषा बताते है की आदि राम वह अविनाशी परमात्मा है जो सब का सृजनहार व पालनहार है। जिसके एक इशारे पर‌ धरती और आकश काम करते हैं जिसकी स्तुति में तैंतीस करोड़ देवी-देवता नतमस्तक रहते हैं। जो पूर्ण मोक्षदायक व स्वयंभू है।<ref>{{Cite web|url=https://news.jagatgururampalji.org/ram-navami-2020-hindi/|title=आदि राम की जानकारी|last=|first=|date=|website=SA NEWS Channel|archive-url=https://web.archive.org/web/20200329060407/https://news.jagatgururampalji.org/ram-navami-2020-hindi/|archive-date=29 मार्च 2020|dead-url=|access-date=|url-status=live}}</ref><blockquote>''"एक राम दशरथ का बेटा, एक राम घट घट में बैठा, एक राम का सकल उजियारा, एक राम जगत से न्यारा"।।''</blockquote>
 
==रामनवमी का महत्व==

दिक्चालन सूची