"एम बी एम अभियान्त्रिकी महाविद्यालय" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
छो
आवश्यक सुधार के बाद टैग हटाया जा रहा है
छो (Small readjustments)
छो (आवश्यक सुधार के बाद टैग हटाया जा रहा है)
{{विकिफ़ाइ|date=मई 2018}}
'''एम॰बी॰एम॰ अभियांत्रिकी महाविद्यालय''' ('''MBM Engineering College'''; मगनीराम बांगड़ मैमोरियल इंजीनियरिंग कॉलेज; '''एमबीएम'''), [[जोधपुर]] भारत के सबसे पुराने और प्रतिष्ठित [[अभियान्त्रिकी]] महाविद्यालयों में से एक है। इस कॉलेज की स्थापना [[राजस्थान सरकार]] द्वारा 15 अगस्त 1951 को की गई थी।<ref> <https://web.archive.org/web/20180411203538/http://www.mbmalumni.org/brief_history.php></ref><ref>एम.बी.एम. इंजीनियरिंग कॉलेज की आधिकारिक वेबसाइट <https://web.archive.org/web/20180507221659/http://www.mbm.ac.in/></ref> यह महाविद्यालय अभियांत्रिकी के क्षेत्र में अपने उच्च शैक्षिक स्तर के कारण न केवल [[राजस्थान|राजस्थान राज्य]] में ही, बल्कि पूरे देश में अग्रणी तकनीकी संस्थान के रूप में प्रतिष्ठित है। इस महाविद्यालय में अनेक तकनीकी विषयों में [[स्नातक]] और [[स्नातकोत्तर]] स्तर की शिक्षा प्रदान की जाती है। शोधार्थी यहाँ स्नातकोत्तर शिक्षा के बाद [[पीएचडी|पी.एचडी.]] डिग्री तथा स्नातकोत्तर डिप्लोमा के लिए भी अध्ययन करते हैं। सम्प्रति यह महाविद्यालय जुलाई 1962 से जोधपुर, राजस्थान के [[जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय]] के अंतर्गत अभियांत्रिकी तथा [[वास्तुकला|स्थापत्यकला]] संकाय के रूप में मान्यता प्राप्त है।<ref><https://web.archive.org/web/20180226121920/http://www.emmrcjodhpur.edu.in/node/2></ref><ref><https://web.archive.org/web/20180506101857/http://www.jnvu.edu.in/></ref>
167

सम्पादन

दिक्चालन सूची