"ईश्वर गुप्ता सेतु": अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
596 बाइट्स जोड़े गए ,  2 वर्ष पहले
Rescuing 2 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.1
छो (बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है)
(Rescuing 2 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.1)
 
 
==आघात==
इस सेतु के निर्माण के २६ साल बाद, वर्ष २०१६ के दिसम्बर महीने की १७ तारीख को इस सेतु के एक गर्डर के धँस जाने के कारण इस सेतु पर वाहनों की आवजाही पर रोक लगा दी गयी थी।<ref>[{{Cite web |url=https://bengali.oneindia.com/news/west-bengal/iswar-gupta-bridge-kalyani-repairs-from-today-012835.html |title=oneindia-bangla] |access-date=30 अप्रैल 2018 |archive-url=https://web.archive.org/web/20190210035651/https://bengali.oneindia.com/news/west-bengal/iswar-gupta-bridge-kalyani-repairs-from-today-012835.html |archive-date=10 फ़रवरी 2019 |url-status=live }}</ref> पुल एक एक हिस्से को मरम्मत के लिए बंद कर दिया गया था, और दोनों तरफ की ट्रैफिक एक ही हिस्से से गुज़रती थी। मरम्मत के बाद, छोटे और हल्के वाहनों के आवाजाही को अनुमति दे दी गयी, मगर भारी गाड़ियों की आवाजाही अभी भी नियन्त्रित है। तथा इस पुल की लगातार मरम्मत की जाती है।<ref name="nfn" />
 
===दूसरी कल्याणी सेतु===
ईश्वर गुप्ता सेतु की "उत्तर बंग की सञ्जीवनी" होने की हैसियत और इसकी खराब हालत के मद्देनज़र, पश्चिम बंगाल राजमार्ग निर्माणी प्राधिकरण ने इसके बगल में एक नई सेतु निर्मित करने की योजना तैयार की है। नवीन ससेतु का निर्माणकार्य, २०१८, में शुरू हो गया, और योजनानुसार, इस निर्माण को वर्ष २०२१ तक पूर्ण होने की बात है। यह पुल भारत का पहला तिरछे-स्तम्भ युक्त एनक्लोसेड केबल-स्टेड पुल होगा।<ref>{{Cite web |url=http://www.millenniumpost.in/kolkata/construction-of-iswar-gupta-setu-to-commence-soon-289166 |title=संग्रहीत प्रति |access-date=30 अप्रैल 2018 |archive-url=https://web.archive.org/web/20180906191856/http://www.millenniumpost.in/kolkata/construction-of-iswar-gupta-setu-to-commence-soon-289166 |archive-date=6 सितंबर 2018 |url-status=live }}</ref>
 
==इन्हें भी देखें==
1,17,608

सम्पादन

नेविगेशन मेन्यू