"जौनपुर": अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
6 बैट्स् नीकाले गए ,  2 वर्ष पहले
छो
2405:204:A71C:2957:0:0:1150:30B0 (वार्ता) द्वारा किए बदलाव को 2405:204:A792:5B37:ACA3:97CA:9993:95AC के बदलाव से पूर्ववत किया
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (2405:204:A71C:2957:0:0:1150:30B0 (वार्ता) द्वारा किए बदलाव को 2405:204:A792:5B37:ACA3:97CA:9993:95AC के बदलाव से पूर्ववत किया)
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना SWViewer [1.3]
यह भगवान शिव का मंदिर राजेपुर त्रीमुहानी जो सई और गोमती के संगम पर बसा है। इसी संगम की वजह से इसका नाम
त्रीमुहानी पड़ा है यह जौनपुर से 12 किलोमीटर दूर पूर्व की दिशा में सरकोनी बाजार से ३ किलोमीटर पर हैं और इस स्थान के विषय में यह भी कहा जाता है कि लंका विजय करने के बाद जब राम अयोध्या लौट रहे थे तब उस दौरान सई-गोमती संगम पे कार्तिक पुर्णिमा के दिन स्नान किया जिसका साक्ष्य वाल्मीकि रामायण में मिलता है "सई उतर गोमती नहाये , चौथे दिवस अवधपुर आये ॥ तब से कार्तिक पुर्णिमा के दिन प्रत्येक वर्ष मेला लगता है। त्रिमुहानी मेला संगम के तीनों छोर विजईपुर, उदपुर, राजेपुर पे लगता है दूर सुदूर से श्रद्धालु यहाँ स्नान ध्यान करने आते हैं। विजईपुर गाँव में अष्टावक्र मुनि की तपोस्थली भी है और इसी विजईपुर गाँव में ही 'नदिया के पार' फिल्म की शूटिंग हुई।
Alok
 
== अन्य दर्शनीय स्थल ==
85

सम्पादन

नेविगेशन मेन्यू