"वशिष्ठ" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
559 बैट्स् नीकाले गए ,  1 वर्ष पहले
इसमे छेड़छाड़ किया गया था राजपूतो पर गलत टिप्पणी की गई थी किर्पया इसे देखे
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(इसमे छेड़छाड़ किया गया था राजपूतो पर गलत टिप्पणी की गई थी किर्पया इसे देखे)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
 
[{ राजपूतों की उत्पत्ति सातवीं सदी में जाट गुर्जर यादव इन सब के जो सबसे तगड़े युवा थे उनको हवन कराकर ब्राह्मणों के द्वारा राजपूत बनाया गया जो बाद में की जाती बनी सातवीं सदी में राजपूतों की उत्पत्ति माउंट आबू में हुई}]
 
'''वशिष्ठ''' वैदिक काल के विख्यात [[ऋषि]] थे। वशिष्ठ एक [[सप्तर्षि]] हैं - यानि के उन सात ऋषियों में से एक जिन्हें ईश्वर द्वारा सत्य का ज्ञान एक साथ हुआ था और जिन्होंने मिलकर वेदों का दर्शन किया (वेदों की रचना की ऐसा कहना अनुचित होगा क्योंकि वेद तो अनादि है)। उनकी पत्नी [[अरुन्धती]] है। वह [[योग-वासिष्ठ]] में [[राम]] के गुरु हैं। वशिष्ठ राजा दशरथ के राजकुल गुरु भी थे।
बेनामी उपयोगकर्ता

दिक्चालन सूची