"मापिकी" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
29 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
'''मापिकी''', '''मापविद्या''' या '''मापविज्ञान''' (Metrology) में [[मापन]] के सभी सैद्धांतिक और व्यावहारिक पहलुओं का अध्ययन किया जाता है। यह [[मापन]] एवं उसके अनुप्रयोगों का [[विज्ञान]] है।
 
मापविज्ञानमापिकी (Metrology) [[भौतिकी]] की वह शाखा है जिसमें शुद्ध माप के बारे में हमें ज्ञान होता है। मापविज्ञान में मूल रूप से हम तीन रशियों, अर्थात्‌ [[द्रव्यमान]], लंबाईलम्बाई एवं [[समय]] के बारे में चर्चा करते हैं और इन्हीं तीन राशियों के ज्ञान से हम अन्य राशियों, जैसे [[घनत्व]], आयतन, [[बल]] तथा [[शक्ति]] आदि को मापते हैं।
 
मापविज्ञान द्वारा अपरिवर्तनीय मानकों (standards) का निर्देश ही नहीं मिलता, वरन्‌ इन्हें कायम भी रखा जाता है। इन्हीं मानकों द्वारा हम वस्तुओं के गुणों की माप तथा तुलना भी करते हैं। दूसरा पक्ष यह है कि किसी कार्यविशेष को दृष्टि में रखकर मापविज्ञान से ऐसे तरीके प्राप्त होते हैं जिनसे तुलनाएँ काफी उच्च स्तर की शुद्धता तक की जा सकें। आधुनिक विज्ञान तथा उद्योगों में उपर्युक्त मौलिक तुलनाओं (fundamental comparisons) का अत्यंत शुद्ध होना आवश्यक है। माप पूर्णतया ठीक नहीं होती और निश्चित रूप से उसमें कुछ न कुछ प्रायोगिक गलती सदा ही रहती है। आजकल मापविज्ञान की अधिक मौलिक क्रियाओं में यथार्थता की निम्नलिखित सन्निकटताएँ (approximations) प्राप्त है:

दिक्चालन सूची