"युवराज सिंह": अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
6,514 बाइट्स हटाए गए ,  3 वर्ष पहले
छो
Booksummary12 (Talk) के संपादनों को हटाकर AshokChakra के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
(इसे पृष्ठ को ध्यानसूची में डाले)
छो (Booksummary12 (Talk) के संपादनों को हटाकर AshokChakra के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: वापस लिया
12 नवंबर 2015 को, युवराज का [[हेज़ल कीच]] से सगाई हुआ था और 30 नवंबर 2016 को उससे शादी कर ली थी।<ref>{{cite news|url=http://www.thehindu.com/news/Yuvraj-Singh-and-Hazel-Keech-exchange-wedding-vows/article16732191.ece|work=The Hindu|title=Yuvraj Singh and Hazel Keech exchange wedding vows|date=30 November 2016|accessdate=1 December 2016}}</ref><ref>{{cite web|url=https://www.bbc.com/hindi/entertainment-38150810|title=युवी को क्लीन बोल्ड करने वाली हेज़ल}}</ref>
 
== युवराज सिंह का कैरियर ==
युवराज सिंह ने अपने कैरियर कि शुरवात 11 साल की उम्र में पंजाब अंडर 12 से खेलना शुरू कर दिया था !
1995 – 1996 में जम्मू और कश्मीर अंडर 16 के खिलाफ मैच खेला
1996 – 1997 में पंजाब और हिमाचलप्रदेश अंडर 19 के खिलाफ मैच खेला
2000 तक वह भारत के राष्ट्रीय लेवल में मैच खेले
सन 2000 में ही अंडर -19 क्रिकेट वर्ल्ड कप जिसमें मोहम्मद कैफ़ की कप्तानी में भारत ने जीत हासिल की थी ! में अपने आल राउंडर प्रदर्शन से प्लेयर ऑफ़ द टूर्नमेंट अवार्ड हासिल किया।
युवराज के अंडर -19 वर्ल्ड कप में बेहतरीन प्रदर्शन के चलते उन्हें ICC नॉकआउट ट्राफी के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया।
== युवराज सिंह का ओने डे मैच कैरियर ==
यहाँ से उन्होंने अपना पहला ओने डे इंटरनेशनल मैच केन्या के खिलाफ खेला.लेकिन यह टूर्नमें में भारत की जीत नहीं हुई। लेकिन युवराज का इस टूर्नामेंट में बहुत ही अच्छा प्रदर्शन रहा.
इसी टूर्नामेंट में युवराज ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 82 बॉल्स में 84 रन बनाये. इसके अलावा इसी टूर्नमेंट में श्री लांक के खिलाफ भी इनका बहुत अच्छा प्रदर्शन रहा.
युवराज के लाइफ की सबसे बड़ी इनिंग जोकि वे कभी नहीं भूल सकते, जब वे जुलाई सन 2002 में इंग्लैंड के खिलाफ नेटवेस्ट सीरीज में खेले थे. इंग्लैंड ने भारत के खिलाफ फाइनल्स में 324 रन्स का लक्ष्य बनाया।
उस समय भारत ने बहुत अच्छी शुरुआत की किन्तु एक के बाद एक विकेट गिराने के कारण भारत का स्कोर बहुत कम हुआ, भारत का स्कोर 135/5 था ! जब सचिन तेंदुलकर आउट हो गए.
तब युवराज ने इस मैच में कप्तान मोहम्मद कैफ़ के साथ साझेदारी कर बहुत ही अच्छा प्रदर्शन दिया. और इंडिया की जीत हुई।
2003 में बांग्लादेश के खिलाफ अपना पहला शतक बनाया.
साल 2005 – 2006 में दक्षिण अफ्रीका, पाकिस्तान एवं इंग्लैंड के खिलाफ हुई लगातार 3 सीरीज में [https://biographyarts.com/yuvraj-singh-biography-recordsachievements-in-hindi/ युवराज] को “मैन ऑफ़ दा सीरीज” का ख़िताब दिया गया।
साल 2007 में युवराज ने पाकिस्तान के खिलाफ बेहतरीन प्रदर्शन दिया.पाकिस्तान के खिलाफ़ हुई सीरीज में युवराज ने 5 मैच में 4 अर्द्धशतक लगाकर “ मैन ऑफ़ द सीरीज " की ट्रॉफी हासिल की.
 
== युवराज सिंह का वर्ल्डकप और T20 वर्ल्डकप मैच कैरियर ==
राहुल द्रविण के इस्तीफे के बाद युवराज का नाम भारतीय क्रिकेट टीम के Vice Captain के रूप में सामने आया. T20 वर्ल्ड कप 2007 में इन्हें एक हार्ड हिट्टर बल्लेबाज के रूप में टीम में शामिल किया गया. इस वर्ल्ड कप के शुरू होने से पहले भारत की इंग्लैंड के साथ 7 मैच सीरीज हुई।
जिसमें इंग्लैंड के मस्कारंयूस ने युवराज के एक ओवर पर 5 सिक्स लगाये थे. यह युवराज से सहन नहीं हुआ. 12 सितम्बर सन 2007 को T20 वर्ल्ड कप की शुरुआत हुई। 19 सितम्बर को भारत का इंग्लैंड के खिलाफ मैच था,
जिसमें भारत की करो या मरो जैसी स्थिति हो गई थी एवं मैच सिर्फ 17 ओवर का था, तब युवराज युवराज सिंह स्ट्राइक पर थे और गेंदबाजी स्टुअर्ट ब्रॉड कर रहे थे।
युवराज ने 6 बॉल्स में 6 छक्के लगाये एवं मात्र 12 बॉल्स में अपना अर्द्धशतक पूरा किया. उस वक्त का T20 वर्ल्ड कप इंडिया के नाम हुआ।
==इन्हें भी देखें==
==सन्दर्भ==

नेविगेशन मेन्यू