"कमलेश्वर": अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
463 बाइट्स हटाए गए ,  3 वर्ष पहले
No edit summary
कमलेश्वर ने अपने ७५ साल के जीवन में १२ उपन्यास, १७ कहानी संग्रह और क़रीब १०० फ़िल्मों की पटकथाएँ लिखीं।
 
कमलेश्वर की अंतिम अधूरी रचना अंतिम सफर उपन्यास है, जिसे कमलेश्वर की पत्नी गायत्री कमलेश्वर के अनुरोध पर तेजपाल सिंह धामा ने पूरा किया और हिन्द पाकेट बुक्स ने उसे प्रकाशित किया और बेस्ट सेलर रहा।<ref name="sahitya">{{cite web | url=https://jivani.org/Biography/595/%E0%A4%95%E0%A4%AE%E0%A4%B2%E0%A5%87%E0%A4%B6%E0%A5%8D%E0%A4%B5%E0%A4%B0-%E0%A4%9C%E0%A5%80%E0%A4%B5%E0%A4%A8%E0%A5%80---biography-of-kamleshwar | title=अधूरी रचना पूरी की | publisher=जीवनी आर्गेनाइजेशन | accessdate=20 दिसंबर 2018}}</ref>
२७ जनवरी २००७ को उनका निधन हो गया।
 
* [[एक और चंद्रकांता]]
* [[कितने पाकिस्तान]]
*  अंतिम सफर
 
'''पटकथा एवं संवाद'''
:[[आधुनिक हिंदी गद्य का इतिहास]]
 
== बाहरी कड़ियाँ ==
==सन्दर्भ==
{{टिप्पणीसूची}}
 
== बाहरी कड़ियाँ ==
* [http://www.loc.gov/acq/ovop/delhi/salrp/kamleshwar.html कमलेश्वर (लाईब्रेरी ऑफ कामर्स, नई दिल्ली)]
* [http://www.abhivyakti-hindi.org/lekhak/k/kamleshwar.htm अभिव्यक्ति में कमलेश्वर]
गुमनाम सदस्य

नेविगेशन मेन्यू